मांग शीघ्र नहीं मानी तो करेंगे रोडवेज का चक्काजाम

- रोडवेज कर्मचारियों ने दिया धरना

By: Rajendra Jain

Published: 24 Jul 2018, 09:54 AM IST

दौसा.

राजस्थान रोडवेज के संयुक्त मोर्चे के तत्वावधान में सोमवार को रोडवेज बचाओ रोजगार बचाओ आंदोलन के अन्तर्गत दौसा आगार के एटक यूनियन के अध्यक्ष हितेश जोशी के नेतृत्व में कर्मचारी धरने पर बैठ गए। धरना 24 जुलाई रात 12 बजे तक चलेगा। रोडवेजकर्मी 13 सूत्रीय मांगों को लेकर दे रहे धरने में बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। अध्यक्ष ने बताया कि यदि सरकार रोडवेज कर्मचारियों की वाजिब मांगों को शीघ्र ही पूरा नहीं करेगी तो 24 जुलाई रात 12 बजे से 26 जुलाई रात 12 बजे तक प्रदेश में ***** जाम किया जाएगा। यदि आवश्कता हुई तो इस प्रदेश व्यापी हड़ताल को आगे भी बढ़़़ाया जा सकता है।

धरने में रोडवेजकर्मियों ने मुख्यमंत्री एवं परिवहन मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। धरने में एटक यूनियन उपाध्यक्ष दिनेश नावरिया, संयुक्त सचिव अजय जैमन, भानू शर्मा, शिम्भूदयाल शर्मा, रूप नारायण मीना, घासीलाल शर्मा, गिर्राज शर्मा, लोकेन्द्र सिंह, जगदीश शर्मा, कमला प्रसाद, सीताराम मीना, मनोज मीना, रामहंस मीना, रामेश्वर मीणा सहित दर्जनों कर्मचारी मौजूद थे।

 

30 में से 23 श्रमिक मिले सिलिकोसिस से पीडि़़़त
दौसा . जिले में पत्थर तोडऩे, तराशने व पीसने वाले श्रमिकों को होने वाली सिलिकोसिस बीमारी का पता लगाने के लिए सीएचसी सिकंदरा में शिविर लगा। इसमें 30 श्रमिकों की जांच की तो 23 को सिलिकोसिस की बीमारी ने घेर रखा है।
श्रम कल्याण अधिकारी विक्रम सिंह ने बताया कि जिले में सिलिकोसिस बीमारी से पीडि़तों के चिह्निकरण के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सिकन्दरा में शिविर का आयोजित किया गया। जिले में 30 श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया जिसमें से 23 श्रमिक सिलिकोसिस बीमारी से पीडि़त पाए गए। श्रम कल्याण अधिकारी ने बताया कि श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण व्यवसायिक सलाहकार, मण्डल पी.के. सिसोदिया के द्वारा किया गया।

शिविर में सिलिकोसिस बीमारी से पीडि़त पाए गए श्रमिकों का सिलिकोसिस प्रमाण-पत्र न्यूमोकोनोसिस मेडिकल बोर्ड दौसा द्वारा जारी किया जाएगा। सिलिकोसिस हितलाभ दिया जाएगा। श्रम कल्याण अधिकारी ने बताया कि सिकन्दरा क्षेत्र में काम लिए जाने वाले पत्थर में सिलिका की मात्रा 40-50 प्रतिशत तक मौजूद है। डॉ. पी.के. सिसोदिया ने भी बीमारी के बारे में जानकारी दी। डॉ.पी.के.सिसोदिया, फैक्ट्री एवं बॉयलर्स विभाग के उपमुख्य निरीक्षक हरिशंकर, वरिष्ठ निरीक्षक आर.के.सोनी, सी.एच.सी. प्रभारी डॉ. एस.एन.शर्मा, मण्डल जिला प्रबन्धक प्रभूसिंह, सूचना सहायक प्रदीप गुर्जर, जिला प्रबन्धक बच्चू ंिसंह, लेखाधिकारी सुरेन्द्र भारती, महेन्द्र कुमार व महेश डोरिया उपस्थित थे।


गाय के गर्भपात पर जांच शुरू
मंडावर. यहां राजकीय पशु चिकित्सालय मंडावर में एक गाय के गर्भपात के मामले की जांच शुरू हो गई है। पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक के निर्देश पर पशु चिकित्सालय महुवा के डॉ. मुकेशचंद मीणा, खेड़ला के डॉ. सुरेशचंद मीणा एवं पावटा के पशु चिकित्सक डॉ. सुभाष पोद्दार के बोर्ड ने मण्डावर के ईमली मोहल्ले में पशुपालक दीपचंद शर्मा के घर पहुंचकर गाय के मृत बच्चे का पोस्टमार्टम कर विसरा का सैंपल लिया। इसके बाद मृत बच्चे के शव को दफना दिया गया। बोर्ड ने घायल गाय की भी जांच की। पशुपालक ने आरोप लगाया है कि पशु चिकित्साकर्मियों ने गर्भवती गाय का गलत उपचार किया। थानाधिकारी अशोककुमार झाझडिय़ा ने बताया कि पशुपालक दीपचंद शर्मा ने दो पशु चिकित्साकर्मी के खिलाफ रिपोर्ट दी गई है।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned