तालाबंदी कर विरोध-प्रदर्शन, शिक्षक लगाने के बाद माने

www.patrika.com/rajasthan-news

By: gaurav khandelwal

Published: 20 Jul 2018, 08:52 AM IST

मेहंदीपुर बालाजी. सिकराय के समीपवर्ती मोरेड़ गांव स्थित राजकीय माध्यमिक विद्यालय में अध्यापकों की कमी व पेयजल व्यवस्था कराने की मांग को लेकर गुरुवार को छात्र-छात्राओं ने तालाबंदी कर विरोध प्रदर्शन किया। जहां दिनभर अध्ययन कार्य बाधित रहा। बाद में नोडल प्रभारी ने समझाइश कर मामला शांत कराया। जानकारी के अनुसार मोरेड़ विद्यालय को इसी सत्र में माध्यमिक में क्र्रमोन्नत किया गया था। ऐसे में यहां माध्यमिक स्तर के अध्यापक नहीं लगाने से कई विषयों की पढ़ाई शुरू नहीं हो सकी।

 


विद्यालय में पेयजल की भी कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में छात्र-छात्राओं को अपने घरों से पानी लेकर आना पड़ता है। इसके विरोध में गुरुवार को छात्र-छात्राओं ने ग्रामीणों के साथ स्कूल के मुख्य द्वार के ताला जड़ दिया तथा नारे लगाकर प्रदर्शन किया।
सूचना पर पहुंचे नोडल प्रभारी घनश्याम मीणा ने ग्रामीणों की शिकायत सुनकर उ"ााधिकारियों को अवगत कराया। जहां जनसहयोग से पेयजल की व्यवस्था की गई तथा तीन शिक्षकों को स्कूल में लगाया गया। तब जाकर ग्रामीणों व छात्र-छात्राओं ने स्कूल के मुख्य द्वार का ताला खोला। इस दौरान बड़ी तादात में ग्रामीण भी मौजूद थे।

 

 

महुवा . उपखण्ड क्षेत्र के रामगढ़ गांव स्थित राजकीय उ'च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य का तबादला किए जाने से गुस्साए छात्र छात्राओं सहित ग्रामीणों ने गुरुवार को भी विद्यालय के मुख्य गेट के ताला लगाकर विरोध प्रदर्शन कर प्रधानाचार्य का तबादला निरस्त कराने की मांग की है।

 


जानकारी के अनुसार रामगढ़ स्थित राजकीय उ'च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य राधेश्याम मीणा का अन्य स्थान पर तबादला कर दिए जाने के बाद सोमवार से छात्र-छात्राओं ने विद्यालय पहुंच कर स्कूल का मुख्य गेट का ताला जड़ दिया एवं प्रधानाचार्य के तबादले को निरस्त करने की मांग की।

 

तहसीलदार बीआर बैरवा, विकास अधिकारी विनय मित्र, अतिरिक्त ब्लॉक शिक्षा अधिकारी हरिप्रसाद मीना व नोडल अधिकारी लोकेश अवस्थी सहित शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारियों द्वारा रोज ब'चों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन वे अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। बालकों ने बताया कि विद्यालय में पहुंचने वाले अधिकारियों द्वारा टीसी काटने व अन्य अध्यापकों का तबादला करने का दबाब बनाया जा रहा है।

 

शिक्षा विभाग व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसे लेकर विकास अधिकारी विनय मित्र ने बताया कि जिला परिषद सीओ के निर्देशन पर रामगढ विद्यालय जाकर ग्रामीणों व छात्र छात्राओं से समझाइश की लेकिन वे नहीं माने। मामले की रिपोर्ट उ"ा अधिकारियों को अवगत करा दी है।

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned