Goddess Lakshmi Puja path: शुक्रवार की शाम को अवश्य करें ये काम, मिलेगा देवी मां लक्ष्मी का पूरा आशीर्वाद

Friday Puja path: देवी मां लक्ष्मी को ऐसे करें प्रसन्न...

By: दीपेश तिवारी

Published: 22 Jul 2021, 07:09 PM IST

Goddess Lakshmi puja Vidhi: सप्ताह के दिनों में हर दिन का अपना एक विशेष महत्व होता है। जिस प्रकार हिंदू कैलेंडर में तिथियों के हिसाब से देवी देवताओं के दिन निर्धारित किए गए हैं। उसी प्रकार सप्ताह के दिनों को भी देवी देवताओं के आधार पर ग्रहों के हिसाब से बांटा गया है। ऐसे में जहां सोमवार चंद्र का दिन होने के साथ ही इसके कारक देव भगवान शिव हैं। वहीं मंगल से लेकर रविवार तक हर दिन के लिए किसी न किसी देवी देवता उस दिन का कारक देवता माना जाता है।

ऐसे में शुक्रवार के दिन की कारक देवी धन धान्य की देवी माता लक्ष्मी को माना जाता है। चूकिं ज्योतिष में शुक्र भाग्य का कारक माना जाता है, ऐसे में इस दिन का सारा भार देवी मां लक्ष्मी के पास होता है।

जानकारों के अनुसार चूकिं लक्ष्मी जी को धन, संपदा, शांति और समृद्धि की देवी माना गया हैं ऐसे में मान्यता है कि शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी की पूजा करने से धन संबंधी परेशानियां दूर हो जाती हैं। वहीं शुक्रवार को मां लक्ष्मी की पूजा शाम के समय करना सर्वोत्तम माना गया है। माना जाता है कि ऐसा करने से घर में सुख समृद्धि का वास होता है।

Must Read- Friday Puja Path: इन त्रिदेवियों की पूजा से चमकता है भाग्य!

friday puja

शुक्रवार को देवी लक्ष्मी की पूजा के संबंध में ये भी माना जाता है कि इस दिन देवी मां की पूजा से घर में कलह क्लेश दूर हो जाता हैं और नकारात्मक शक्ति भी नहीं आती हैं।

वहीं कुछ जानकारों के अनुसार यदि आप भी धन से जुड़ी परेशनियों का सामना कर रहे हैं तो शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी की पूजा साथ ही घर के अंदर भी कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए, जो इस प्रकार हैं...

सुबह ऐसे करें देवी मां लक्ष्मी की पूजा...
माना जाता है कि केवल स्वच्छ घरों में ही देवी लक्ष्मी का वास होता है इसलिए पूजा से पहले घर की सफाई करना न भूलें। अपने पूजा स्थल के पास अच्छी तरह से झाडू लगाकर एक साधारण रंगोली बनाएं। स्नान करने और नए कपड़े पहनने के बाद पूजा के लिए आवश्यक सभी चीजें इकट्ठा करें। सभी फलों और बर्तनों को उपयोग में लाने से पहले धो लें।

Must Read- देवी लक्ष्मी का दिन है शुक्रवार, जानेंं माता लक्ष्मी से जुड़े अद्भुत रहस्य

laxmi temple

: पूजा के लिए ऊंचे चबूतरे पर देवी लक्ष्मी की मूर्ति स्थापित करें।
: देवी की मूर्ति को सुंदर वस्त्रों और गहनों से सजाना न भूलें।
: मूर्ति के साथ ही चबूतरे पर जल से भरा शंख रखें।
: एक बार जब आप पूजा की तैयारी कर लेते हैं, तो अपनी आंखें बंद कर देवी माता की शरण में जाने की इच्छा से उनके मंत्रों का जाप अवश्य करें।
: मंत्र जाप के बाद देवी को प्रसाद अर्पित करें।
: आरती के साथ पूजा समाप्त करें। पूजा समाप्त होने के बाद दोस्तों और रिश्तेदारों के बीच प्रसाद बांटें।


देवी मां लक्ष्मी की शाम को ऐसे करें पूजा...
पंडित सुनील शर्मा के अनुसार हर रोज शाम को घर के मंदिर में दीया बाती दिखाकर पूजा जरूर करें, लेकिन शुक्रवार शाम को लक्ष्मी जी की पूजा और आरती करने के बाद अपने घर के मुख्य द्वार पर घी का एक दीपक जलाना विशेष रूप से फलदायी माना जाता हैं।

यहां घी के इस दीपक में बत्ती के रूप में लाल रंग के कलावा या लाल धागे से बनी बत्ती का प्रयोग किया जाए, तो यह और भी शुभ माना जाता हैं इसका कारण ये है कि देवी मां लक्ष्मी को लाल रंग प्रिय होती हैं। लेकिन ध्यान रहे कि ये दीपक आपको सूर्यास्त के बाद ही जलाना हैं। माना जाता है कि शुक्रवार शाम को घर के मुख्य द्वार पर घी का दीपक जलाने से माता लक्ष्मी प्रसन्न हो जाती हैं घर में सकारात्मक शंक्ति का भी संचार होता हैं और सुख शांति का माहौल बना रहता हैं।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned