आर्थक मंदी के बीच भारत के लिए आई खुशखबरी, 6 फीसदी की दर से ग्रोथ होने का अनुमान

  • अमरीका इक्विटी फर्म ब्लैकस्टोन की ओर से लगाया गया है अनुमान
  • दूसरी तिमाही में देश की इकोनॉमी 26 तिमाहियों के निचले स्तर रही थी
  • आरबीआई का मौजूदा वित्त वर्ष के लिए ग्रोथ रेट का अनुमान है 5 फीसदी

नई दिल्ली। जहां एक ओर देश आर्थिक मंदी ( economic slowdown ) के दौर से गुजर रहा है। साथ ही देश और विदेशों की तमाम आर्थिक एजेंसियों की ओर भारत की जीडीपी ग्रोथ ( Gdp growth ) को 5 फीसदी के अनुमानित स्तर पर लेकर आ गए हैं। वहीं दूसरी ओर देश की मोदी सरकार ( Modi govt ) के लिए एक अच्छी खबर भी आई है। अमरीका की एक इक्विटी फर्म ने भारत में आर्थिक संकट की आशंका में कमी की संभावना जताते हुए देश के मंदी से उबरने की भी संभावना जताई है। वहीं फर्म ने भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट के 6 फीसदी से बढऩे का भी अनुमान लगाया है। आइए आपको भी बताते हैं कि देश की इकोनॉमी के बारे में और क्या कहा है...

6 फीसदी तक बढऩे की संभावना
भारत में आर्थिक संकट की आशंका में कमी की संभावना है और देश इस साल मंदी से उबर सकता है। अमेरिका स्थित निजी इक्विटी फर्म ब्लैकस्टोन के अनुसार, इस साल मोदी सरकार द्वारा व्यापार के अनुकूल विकास सुधारों को जारी रखने की संभावना है और भारतीय अर्थव्यवस्था के 6 फीसदी की विकास दर से बढऩे की संभावना है, जबकि बाजार 20 फीसदी तक बढ़ सकते हैं।

ब्लैकस्टोन ने जारी की है सूची
ब्लैकस्टोन के वाइस चेयरमैन बायरन विएन ने इस साल के मुख्य निवेश रणनीतिकार जो जिडले के साथ मिलकर 'टेन सरप्राइज्स फॉर 2020' की अपनी सूची दी है, यह 35वां साल है जब विएन ने आने वाले सालों के लिए आर्थिक, वित्तीय बाजार और राजनीतिक परिदृश्य के लिए अपने विचार रखे हैं।

अमरीकी राष्ट्रपति के लिए 2020 सुरक्षित
विएन 'सरप्राइज' को एक घटना के रूप में परिभाषित करते हैं और कहते है कि औसत निवेशक तीन अवसरों में से सिर्फ एक को एसाइन करेगा। विएन का पूर्वानुमान है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को 2020 में न तो दोषी करार दिया जा सकता है और न कार्यालय से हटाया जा सकता है।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned