इस दीपावली सरकार ने गरीबों के लिए खोला खजाना, 10 हजार करोड़ रुपए का ऐलान

  • पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना के लिए 10 हजार करोड़ अतिरिक्त आवंटित करेगी सरकार
  • 116 जिलों में एमजीएनआरईजीएस, पीएमजीएसवाई सहित विभिन्न रोजगार सृजन योजनाएं शामिल

By: Saurabh Sharma

Updated: 13 Nov 2020, 11:23 AM IST

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से महामारी के बीच ग्रामीण रोजगार को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के लिए 10,000 करोड़ रुपए की अतिरिक्त राशि आवंटित की जाएगी। केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को यह जानकारी दी। यह योजना, जिसमें एमजीएनआरईजीएस, पीएमजीएसवाई सहित विभिन्न रोजगार सृजन योजनाएं शामिल हैं, 116 जिलों में प्रगति पर है और सरकारी आंकड़ों के अनुसार, अब तक 37,543 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं।

यह भी पढ़ेंः- केंद्र सरकार का इंडियन इकोनाॅमी को 2.65 लाख करोड़ रुपए का बूस्टर डोज

अब तक दिया जा चुका है इतना बजट
केंद्र ने 2020-21 के बजट में एमजीएनआरईजीएस के लिए 61,500 करोड़ रुपए प्रदान किए थे। 40,000 करोड़ रुपए की राशि अतिरिक्त रूप से 'आत्मनिर्भर भारत 1.0' में प्रदान की गई। वित्त मंत्रालय के अनुसार, अभी तक एमजीएनआरईजीएस के तहत 73,504 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं।

यह भी पढ़ेंः- धनतेरस के दिन बाजार में मुनाफावसूली हावी, सेंसेक्स 250 अंक टूटा, निफ्टी में 71 अंक की गिरावट

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का भी ऐलान
सीतारमण ने औपचारिक क्षेत्र में नए रोजगार सृजित करने की एक और बड़ी योजना की घोषणा करते हुए कहा कि सरकार कोविड-रिकवरी चरण के दौरान नए रोजगार के अवसरों को प्रोत्साहित करने के लिए 'आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना' के साथ आएगी।

यह भी पढ़ेंः- पिछली दिवाली को खरीदे गए सोने ने कराई एक साल में कितनी कमाई, जानिए कितना हो गया महंगा

शहरी आवास योजना के लिए 18,000 करोड़ रुपए का ऐलान
बता दें कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को शहरी आवास योजना के लिए 18,000 करोड़ रुपए के अतिरिक्त प्रावधान की भी घोषणा की है। इस घोषणा से रियल एस्टेट परियोजनाओं को पूरा करने में मदद मिलेगी, जिससे अनेक क्षेत्रों में रोगजार मिलेगा और अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी।

Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned