July से सिर्फ SMS के माध्यम से भरा जा सकेगा GST, जानिए Anurag Thakur ने क्या दी जानकारी

  • GST Taxpayers के लिए GSTR-1 Form में Nill GST को SMS से दाखिल किए जाने की सुविधा होगी शुरू
  • वित्त राज्यमंत्री Anurag Thakur ने कहा, आने वाले समय में साल 2020 को सुधारों के वर्ष के तौर पर याद रखा जायेगा

By: Saurabh Sharma

Updated: 28 Jun 2020, 05:27 PM IST

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ( Union Minister of State for Finance Anurag Thakur ) ने आर्थिक सुधार की दिशा में केंद्र सरकार ( Government of India ) द्वारा एक बड़ा कदम उठाए जाने के अंतर्गत जुलाई के पहले सप्ताह से जीएसटी करदाताओं ( GST Taspayers ) के लिए जीएसटीआर-1 फॉर्म ( GSTR 1 Form ) में निल जीएसटी को एसएमएस से दाखिल किए जाने की सुविधा शुरू करने की जानकारी दी है व इससे लाखों करदाताओं को बड़ी राहत मिलने की बात कही है।

July में SBI से लेकर UBI और PNB तक इतने दिन बंद रहेंगे सभी Bank, लिस्ट देखकर निपटाएं अपने काम

अनुराग ठाकुर ने कहा, कोरोना आपदा से देशवासियों को जितनी ज्यादा से ज्यादा राहत मिल सके केंद्र की मोदी सरकार उस दिशा में हर जरूरी कदम उठा रही है। आने वाले समय में साल 2020 को सुधारों के वर्ष के तौर पर याद रखा जायेगा। देश के लाखों रजिस्टर्ड जीएसटी करदाताओं के लिए मोदी सरकार जुलाई के पहले सप्ताह से जीएसटीआर-1 फॉर्म में निल जीएसटी को एसएमएस दाखिल करने की सुविधा की शुरूआत करने जा रही है।

Share Market पर बना रह सकता है India-China Tension का असर, आर्थिक आंकड़ों पर रहेगी नजर

केंद्र सरकार के इस फैसले से जीएसटी करदाताओं को बहुत बड़ी राहत मिलने जा रही है। इस से पूर्व 8 जून 2020 से जीएसटीआर-3बी निल रिटर्न को एसएमएस के माध्यम से दाखिल करने की सेवा केंद्र सरकार पहले ही शुरू कर चुकी है। कुल मिलाकर हमने इस संकट के समय में करदाताओं की सुविधा के लिए प्रभावी और निर्णायक कदम उठाए हैं और आगे भी हम इस सिलसिले को जारी रखेंगे।

IRDA की ओर से जारी हुई Guidelines, 10 जुलाई तक Corona Kavach Policy लांच करने के निर्दश

उन्होंने कहा, अभी तक करदाताओं को अपना रिटर्न भरने के लिए पोर्टल पर अपने खाते में लॉग इन करना व हर महीने या प्रत्येक तिमाही में फॉर्म जीएसटीआर-1 में आपूर्ति का विवरण देना होता था मगर एसएमएस का माध्यम उनकी इस प्रक्रिया को सुगम बनाएगा। एसएमएस के माध्यम से फॉर्म जीएसटीआर-1 दाखिल करने के इस कदम से 12 लाख से अधिक पंजीकृत करदाताओं के लिए जीएसटी अनुपालन में सुधार होगा और वे अब अपने व्यवसाय पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं और रिटर्न और बयान दर्ज करने की चिंता नहीं कर सकते हैं।

GST
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned