लगातार 5वें हफ्ते हुआ India Forex Reserve में इजाफा, जानिए कितनी बढ़ी दौलत

  • भारत के Forex Reserve में 5 बिलियन डॉलर का इजाफा, 522 अरब डॉलर के पार पहुंचा
  • Foreign Currency Asset और Gold Reserve में बड़ी वृद्धि के कारण बढ़ा विदेशी मुद्रा भंडार

By: Saurabh Sharma

Updated: 02 Aug 2020, 06:00 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस काल ( Coronavirus Era ) में क्रूड ऑयल सस्ता और विदेशों से इंपोर्ट होने वाले समान में गिरावट और भारत का इंपोर्ट बिल कम होने और भारतीय कंपनियों के विदेशी कंपनियों के साथ डील होने के कारण लगातार 5वें सप्ताह विदेशी मुद्रा भंडार ( Forex Reserve ) में इजाफा देखने को मिला है। भारत का पहली बार विदेशी मुद्रा भंडार 520 अरब डॉलर के पार पहुंच गया है। जानकारी के अनुसार विदेशी मुद्रा भंडार में इजाफा विदेशी परिसंपत्ति ( Foreign Currency Asset ) और सोने के भंडार ( Gold Reserve ) में इजाफे की वजह से हुआ है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर भारत का विदेशी मुद्रा भंडार कितना बढ़ गया है।

यह भी पढ़ेंः- Mark Zuckerberg Jiomart-WhatsApp को Global Model बनाने की कर रहे हैं तैयारी

रिकॉर्ड लेवल पर भारत का विदेशी मुद्रा भंडार
भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में लगातार पांचवें हफ्ते इजाफा देखने को मिला है। 24 जुलाई को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा का देश का भंडार में 5 अरब डॉलर का इजाफा देखने को मिला। जिसके बाद भारत का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़कर 522.63 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। विदेशी मुद्रा भंडार अब रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। पहली बार हुआ है जब विदेशी मुद्रा भंडार 522 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंचा है। इससे पहले 17 जुलाई को समाप्त सप्ताह में यह 1.28 अरब डॉलर बढ़कर 517.64 अरब डॉलर पर रहा था।

यह भी पढ़ेंः- आंकड़ों में समझें Petrol और Diesel का खेल, कैसे हो जाता है Base Price से तीन गुना महंगा

परिसंपत्ति और सोना के भंडार में बढ़ोतरी
रिजर्व बैंक के अनुसार विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति और स्वर्ण भंडार में बड़ी वृद्धि के कारण विदेशी मुद्रा भंडार में करीब 5 अरब डॉलर की बढ़ोतरी देखने को मिली है। पहले विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति की करें तो 24 जुलाई को समाप्त सप्ताह के दौरान 3.60 अरब डॉलर बढ़कर 480.48 अरब डॉलर हो गई। वहीं इसी अवधि में स्वर्ण भंडार 1.36 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ 36.10 अरब डॉलर पर पहुंच गया। आलोच्य सप्ताह में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के पास आरक्षित निधि 2.5 करोड़ डॉलर बढ़कर 4.59 अरब डॉलर पर और विशेष आहरण अधिकार 90 लाख डॉलर बढ़कर 1.46 अरब डॉलर पर रहा।

यह भी पढ़ेंः- RBI MPC और Economic Data से तय होगी Share Market की चाल

कोरोना वायरस
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned