scriptIndian GDP growth rate to better in slowly says Fitch Solutions | अर्थव्यवस्था सुधरने का संकेत, फिच सॉल्युशंस ने कहा- धीरे-धीरे सुधरेगी भारत की जीडीपी वृद्धि दर | Patrika News

अर्थव्यवस्था सुधरने का संकेत, फिच सॉल्युशंस ने कहा- धीरे-धीरे सुधरेगी भारत की जीडीपी वृद्धि दर

  • फिच सॉल्यूशंस ने सोमवार को अपनी एक रिपोर्ट में चालू वित्त वर्ष के लिए देश की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटा दिया है। पहले यह 6.8 फीसदी थी जिसे अब 6.4 फीसदी कर दिया गया है।

नई दिल्ली

Updated: September 03, 2019 08:49:14 am

नई दिल्ली। देश की आर्थिक वृद्धि दर जून तिमाही में छह साल के निचले स्तर पर जाने के बाद अब आने वाली तिमाहियों में धीरे-धीरे सुधरेगी। हालांकि यह पहले ही अपेक्षा कमजोर रह सकती है।

fitch.jpg

फिच सॉल्यूशंस ने सोमवार को अपनी एक रिपोर्ट में चालू वित्त वर्ष के लिए देश की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटा दिया है। पहले यह 6.8 फीसदी थी जिसे अब 6.4 फीसदी कर दिया गया है।


खपत और मांग कम हाेने से आर्थिक वृद्धि दर में कमी

देश की वास्तविक आर्थिक वृद्धि दर 2019-20 की पहली तिमाही में पांच फीसदी रही है। वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में यह आंकड़ा 5.8 फीसदी था। इस तेज गिरावट की बड़ी वजह निजी उपभोग की वृद्धि दर गिरना है।

यह भी पढ़ें

सितंबर में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का चौथा चरण होगा लॉन्च, एक बार फिर खरीदें सस्ते में सोना

रेटिंग एजेंसी फिच सॉल्युशंस ने देश की आर्थिक वृद्धि पर अपने बयान में कहा, "फिच सॉल्युशंस में हमारा विश्वास है कि आर्थिक वृद्धि लगभग अपने निचले स्तर को छू चुकी है और आने वाली तिमाहियों में यह सुधरना शुरू होगी। हालांकि बाहरी क्षेत्र और निजी उपभोग पर जारी दबाव बना रह सकता है। अब हमें उम्मीद है कि यह सुधरकर पहले से कमजोर रह सकती है।"


मजबूत है अर्थव्यवस्था का बुनियादी ढांचा

इसमें कहा गया है कि राजकोषीय और मौद्रिक प्रोत्साहन, सुधारों के जारी रहने और अर्थव्यवस्था का बुनियादी ढांचा मजबूत होने से अर्थव्यवस्था में बढ़त को गति मिलेगी। फिच सॉल्युशंस ने कहा कि वह भारत की आर्थिक वृद्धि दर को लेकर अपने अनुमान को संशोधित कर रही है। वित्त वर्ष 2019-20 में यह 6.4 प्रतिशत रहने का अनुमान है जो पहले 6.8 प्रतिशत था।

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर ग्रोथ 15 माह के न्यूनतम स्तर पर

अगस्त माह में डिमांड और आउटपुट कम होने की वजह से मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का ग्रोथ बीते 15 माह के न्यूनतम स्तर पर फिसल चुका है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने एक प्राइवेट सेक्टर सर्वे का हवाला देते हुए सोमवार को अपने एक रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी है।

यह भी पढ़ें

बिन्नी बंसल ने बेचे फ्लिपकार्ट के शेयर्स, टाइगर ग्लोबल के साथ 100 करोड़ रुपये से ज्यादा का हुआ सौदा

जीडीपी दर घटकर 5 फीसदी हो चुकी है

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के लिए में भारत की आर्थिक जीडीपी दर घटकर 5 फीसदी की स्तर आ गई है। इसके पहले कई अर्थशास्त्रियों ने अुनमान लगाया था कि इस तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 5.7 फीसदी के करीब रह सकती है। आईएचएस मार्किट के निक्केई मैन्युफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर इंडेक्स जुलाई माह के 52.5 के तुलना में घटकर 51.4 के स्तर पर आ गया है। मई 2018 के बाद यह सबसे न्यूनतम स्तर पर है।

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की कंपनियों के मार्जिन पर असर

आईएचएस मार्किट के मुताबिक, अगस्त माह में मुद्रास्फिति के दबाव और अर्थव्यवस्था की सुस्ती देखने को मिली। बीते 9 माह के दौरान इनपुट कॉस्ट में लगातार तेजी देखने को मिली। वहीं, जुलाई की तुलना में अगस्त माह के दौरान आउटपुट प्राइस कम रहा है। इस वजह से कंपनियों के मार्जिन पर भी असर पड़ा है।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न होCWG trials में मचा घमासान, पहलवान ने गुस्से में आकर रेफरी को मारा मुक्का, आजीवन प्रतिबंध लगाAmarnath Yatra: सभी यात्रियों का 5 लाख का होगा बीमा, पहली बार मिलेगा RIFD कार्ड, गृहमंत्री ने दिए कई अहम निर्देशभीषण गर्मी के बीच फल-सब्जी हुए महंगे, अप्रैल में इतनी ज्यादा बढ़ी महंगाईIPL 2022 MI vs SRH Live Updates : मुंबई ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला कियाकोरोना के कारण गर्भपात के केस 20% बढ़े, शिशुओं में आ रही विकृतिवाराणसी कोर्ट में का फैसला: अजय मिश्रा कोर्ट कमिश्नर पद से हटे, सर्वे रिपोर्ट पर सुनवाई 19 मई को, SC ने ज्ञानवापी पर हस्तक्षेप से किया इंकारGyanvapi: श्रीलंका जैसे हालात दे रहे दस्तक, इसलिए उठा रहे ज्ञानवापी जैसे मुद्दे-अजय माकन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.