अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप के दूसरे कार्यकाल पर छा सकता है संकट, दुनिया का सबसे बड़ा अरबपति ऐसे खड़ी कर रहा मुसीबत

अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप के दूसरे कार्यकाल पर छा सकता है संकट, दुनिया का सबसे बड़ा अरबपति ऐसे खड़ी कर रहा मुसीबत

Ashutosh Kumar Verma | Publish: May, 15 2019 07:10:00 AM (IST) | Updated: May, 15 2019 08:34:46 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • नवंबर 2016 के बाद ट्रंप प्रशासन ने 40 लाख नए रोजागार के अवसर पैदा किए।
  • अमेजन कंपनी के कई फैसलों से अमरीका में छा सकता है नौकरियों का संकट।
  • अमरीका के अगले राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप के एजेंडे में प्रमुख मुद्दा होगा रोजगार।

नई दिल्ली। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump ) ने हाल ही में चीन के खिलाफ एक बयान में इस बात की तरफ इशारा किया था कि एक बार फिर वो सरकार बनाने में कामयाब रहेंगे। राष्ट्रपति ट्रंप ने चीन के साथ ट्रेड डील को लेकर एक ट्वीट में कहा था कि चीन बड़ी चालाकी से मौजूदा ट्रेड डील का टालने का प्रयास कर रहा है, लेकिन मेरे दूसरे कार्यकाल में उनके लिए परिस्थितियां और भी बुरी होने वाली हैं। ऐसे में बेहतर होगा कि चीन जल्द से जल्द इस मामले को सुलझा ले। आपको बता दें कि अमरीका में अगला राष्ट्रपति चुनाव होने में अब करीब डेढ़ साल बचा है।

यह भी पढ़ें - इस मामले में TikTok ने फेसबुक को छोड़ा पीछे, पहले पायदान पर हुआ काबिज

राष्ट्रपति के तौर पर क्या रही है ट्रंप की उपलब्धि

नवंबर 2016 में राष्ट्रपति बनने के बाद डोनाल्ड ट्रंप की सबसे बड़ी उपलब्धियों की बात करें तो इसमें अमरीकी इक्विटी बाजार में तेजी और रोजगार के बढ़ते मौके रहे हैं। हालांकि, इक्विटी बाजार में इस तेजी के लिए अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें, वैश्विक अर्थव्यवस्था जैसे कई अन्य साकारात्मक कारण भी रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ रोजगार के मोर्चे पर ट्रंप प्रशासन के कार्यकाल को देखें तो नवंबर 2016 से लेकर अब तक करीब 40 लाख लोगों के लिए रोजगार का सृजन हुआ है। व्हाइट हाउस की आधिकारिक वेबसाइट से प्राप्त जानकारी के मुताबिक इतिहास में पहली बार सबसे अधिक रोजगार के अवसर मिले हैं। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 4 लाख नौकरियों के अवसर के साथ बीते तीन दशक में इस सेक्टर में सबसे अधिक ग्रोथ रेट दर्ज की जा रही है। अमरीका की आर्थिक ग्रोथ की बात करें तो पिछली तिमाही में यह 4.2 फीसदी रही है।


यह भी पढ़ें - अमरीका ने भारतीय फार्मा कंपनियों के खिलाफ दर्ज किया केस, दवाइयों की कीमतें प्रभावित करने का लगाया आरोप

कैसे बेजोस डोनाल्ड ट्रंप के लिए खड़ी कर सकते हैं मुसीबतें

अगले साल नवंबर माह में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले राष्ट्रपति ट्रंप के लिए दुनिया के सबसे बड़े अरबपति और अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस ( Jeff Bezos ) मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। दरअसल, जेफ बेजोस की कंपनी अमेजन अब ऑटोमेटिक मशीन की मदद से डिलिवर किए जाने वाले सामानों की पैकिंग करेगी। पहले इस काम के लिए हजारों लोग काम करते थे। हालिया समय में अमेजन ने अपने कई कामों के लिए मशीन का उपयोग करना शुरू कर दिया है। अमेजन के इस कदम से इन नौकरियों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। अमेजन अपने दर्जनों वेयरहाउसेज में ऐसी मशीन इंस्टॉल कर रहा है, जिसके बाद करीब 24 तरह के काम करने वाले कर्मचारियों की छुट्टी हो सकती है। कंपनी ने कहा है की ऐसी एक मशीन को लगाने के लिए 10 लाख डॉलर खर्च आ रहा है जिसे वो आने वाले दो सालों में रिकवर कर लेगी।

यह भी पढ़ें - जेट एयरवेज संकट: कंपनी के CEO विनय दुबे ने भी अपने पद से दिया इस्तीफा, व्यक्तिगत कारणों को बताया वजह

रोजगार का मुद्दा बन सकता है परेशानियों का सबब

हाल ही में कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया था कि अमेजन अपने कर्मचारियों से कह रहा कि आप अपनी जॉब छोड़ दें और हम आपको खुद का डिलिवरी बिजनेस शुरू करने में मदद करेंगे। कंपनी ने यह बात इसलिए कही है क्योंकि वह अमरीका में ऑर्डर किए गए सामानों की डिलिवरी सिस्टम को पहले से और भी तेज करना चाहता है। दूसरी तरफ, दुनियाभर के अर्थशास्त्रियों ने वैश्विक अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी होने की तरफ इशारा किया है। आर्थिक मंदी के दौर रोजगार की समस्या ट्रंप के लिए परेशानियों का सबब बन सकता है, क्योंकि अमरीकी राष्ट्रपति के चुनाव में ट्रंप के लिए एजेंडे में रोजगार का मुद्दा प्रमुख होगा। ऐसे में यह भी देखना दिलचस्प होगा कि अमेजन के इन दो बड़े कदमों से राष्ट्रपति ट्रंप के अगले कार्यकाल के सपने को झटका तो नहीं लग रहा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned