scriptManipur Assembly Elections Result 2022 Challenges before BJP | Manipur Assembly Elections Result 2022 : मणिपुर में भाजपा को बहुमत, नई सरकार के सामने होेंगी ये चुनौतियां | Patrika News

Manipur Assembly Elections Result 2022 : मणिपुर में भाजपा को बहुमत, नई सरकार के सामने होेंगी ये चुनौतियां

Manipur Assembly Elections Result 2022: मणिपुर में बीजेपी लगातार दूसरी बार सरकार बनाने जा रही है। बीजेपी की सरकार के सामने अब चुनौतियों का पहाड़ खड़ा है, जिसे उनको पार करना होगा। विधानसभा की महज 60 सीटों वाला ये राज्य लंबे अरसे से कई जटिल समस्याओं से जूझ रहा है।

नई दिल्ली

Updated: March 10, 2022 09:41:43 pm

Manipur Assembly Elections Result 2022: मणिपुर विधानसभा चुनाव का आज परिणाम आ गया है। 60 सीटों पर हुए चुनाव में बीजेपी ने बहुमत का आंकड़ा पार करते हुए 32 सीटे अपने खाते डाल ली है। वहीं, एनपीपी 8 सीट पर, एनपीएफ 5 सीट पर, कांग्रेस 4 सीट और अन्‍य 11 सीट जीतने में सफल रही। मणिपुर में बीजेपी लगातार दूसरी बार सरकार बनाने जा रही है। बीजेपी की सरकार के सामने अब चुनौतियों का पहाड़ खड़ा है, जिसे उनको पार करना होगा। राज्य में महीनों से चल रही आर्थिक नाकेबंदी भाजपा सरकार बनते ही खत्म हो गया। यह मणिपुर का बहुत बड़ा मुद्दा था। आइए जानते हैं बीजेपी की सरकार को कौन कौन सी चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

Manipur Assembly Elections Result 2022
Manipur Assembly Elections Result 2022

पहली चुनौती कर ली है पार
बीरेन सिंह का अब तक का सफर भले आसान रहा हो, उनके लिए आगे की राह में कई प्रकार परेशानियां नजर आ रही है। विधानसभा की महज 60 सीटों वाला ये राज्य लंबे अरसे से कई जटिल समस्याओं से जूझ रहा है। इनमें सबसे प्रमुख रही आर्थिक नाकेबंदी, जिसे बिरेन सिंह की सरकार ने खत्म करने पर जोर दिया है।

पर्वतीय क्षेत्रों में आवाजाही
राज्य को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाली सड़कों, नेशनल हाइवे-2 और 37 पर वाहनों की आवाजाही ठप रही है। यह पर्वतीय राज्य सब्जियों और खाने-पीने की दूसरी चीजों के लिए दूसरे राज्यों पर निर्भर है। लेकिन वाहनों की आवाजाही ठप होने की वजह से आवश्यक वस्तुएं सप्लाई बाधित है।

यह भी पढ़ें

Manipur Assembly Elections Result 2022 : बीजेपी ने किया सरकार बनाने का दावा, सीएम बीनेर और प्रदेशाध्यक्ष ने कही ये बात





नगा उग्रवादी संगठन
मणिपुर राज्य में दूसरी सबसे बड़ी चुनौती नगा उग्रवादी संगठन नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल आफ नगालैंड (एनएससीएन) के इसाक-मुइवा गुट और केंद्र सरकार के बीच हुई शांति समझौते को लेकर भी राज्य के बहुसंख्यक मैतेयी तबके में संशय है। यही वजह है कि कांग्रेस ने अपने चुनाव अभियान के दौरान भाजपा के खिलाफ इस समझौते का इस्तेमाल तुरुप के पत्ते की तरह किया। यहां आए दिन हिंसा के घटनाएं सामने आती रहती है।

यह भी पढ़ें

Manipur Assembly Elections Result 2022 : मणिपुर में भी कांग्रेस पस्त, अब मुख्य विपक्षी दल का भी दर्जा छिना!





विकास की गति देना अहम चुनौती
मणिपुर में विकास की गति ठप होने और व्यापक स्तर पर भ्रष्टाचार के भी आरोप लगते रहे हैं। नई सरकार के सामने अपने कामकाज में पारदर्शिता बरतते हुए राज्य में विकास की गति को तेज करने की अहम चुनौती होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Mumbai News Live Updates: कल देवेंद्र फडणवीस सीएम और एकनाथ शिंदे डिप्टी सीएम पद की लेंगे शपथMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनउदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोलाUdaipur Murder: उदयपुर में हिंदू संगठनों का जोरदार प्रदर्शन, हत्यारों को फांसी दो के लगे नारेजम्मू-कश्मीर: बालटाल से अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना, पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी का करेंगे दर्शनपटना के हथुआ मार्केट में लगी भीषण आग, कई दुकानें जलकर खाक, करोड़ों का नुकसान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.