scriptतेलंगाना में मुस्लिम राजनीति को झटका, ओवैसी के गढ़ में बीजेपी ने लगाई सेंध! | Muslim votes shift to Congress in Telangana, BJP strong in Owaisi's stronghold | Patrika News

तेलंगाना में मुस्लिम राजनीति को झटका, ओवैसी के गढ़ में बीजेपी ने लगाई सेंध!

locationनई दिल्लीPublished: Dec 03, 2023 05:35:14 pm

Submitted by:

Shaitan Prajapat

तेलंगाना में 2018 विधानसभा चुनाव में ओवैसी की AIMIM को 7 सीटों पर जीत मिली थी। इस चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी ने ओवैसी का किला ध्वस्त कर दिया है।

owaisi6667.jpg

Telangana Asembly Election Results : तेलंगाना व‍िधानसभा चुनाव परिणाम में मुस्लिम राजनीतिक को बड़ा झटका लगता हुआ नजर आ रहा है। असदुद्दीन ओवैसी की ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) को पिछड़ी रही। कांग्रेस और बीजेपी को इस बार चुनाव में फायदा मिलता दिख रहा है। हैदराबाद और उसके आसपास की सीटों पर एकतरफा जीत दर्ज करने वाली ओवैसी की पार्टी इस बार अपनी सीट बचाने के लिए भी संघर्ष करती दिख रही है। आपको बता दें कि तेलंगाना में 2018 में ओवैसी की AIMIM को 7 सीटों पर जीत मिली थी। ये सभी सीटें हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र में आती हैं।


ढह रहा हैं ओवैसी का किला

हैदराबाद में ओवैसी का किला ढहता हुआ दिख रहा हैं। इस बार चुनाव में ओवैसी को बड़ा झटका लगा हुआ नजर आ रहा है। AIMIM की 7 सीटों में से 4 पर उम्मीदवार लगातार पिछड़ रहे हैं। पार्टी सिर्फ 3 सीटों पर ही बढ़त बनाए हुए है। नामपल्ली और कारवान सीट पर एआईएमआईएम पिछड़ी नजर आ रही है। कारवान सीट पर बीजेपी लीड कर रहीं हैं तो नामपल्ली पर कांग्रेस ने बढ़त बना रखी है। गोशामहल विधानसभा सीट पर बीजेपी के राजा सिंह ने बीआरएस उम्मीदवार नंद किशोर व्यास को हराकर दिया है।

यह भी पढ़ेें- राजस्थान में बीजेपी जीती तो कौन बनेगा CM: वसुंधरा राजे या बालकनाथ, पार्टी किसी नए चेहरे पर लगाएंगी दांव?

जानिए नुकसान की कारण

ओवैसी मुस्लिम राजनीति का बड़ा चेहरा है। बीते कुछ सालों में हुई चुनावों हर राज्य में मुस्लिम वोट बैंक में पकड़ बनाई। राजनीतिक जानकार इसको ओवैसी की गलत मानते है। वह अपने गृह प्रदेश में मात्र 9 सीटों पर चुनाव लड़ते हैं। पर अन्य राज्यों में 20-30 या इससे भी अधिक सीटों पर उम्मीदवार उतारते हैं। कांग्रेस ओवैसी की पार्टी को बीजेपी की बी टीम बताती रही है। ऐसे में मुस्लिम वोट बंट रहे है।

यह भी पढ़ें

राजस्थान में नहीं चला गहलोत का जादू, जानिए कांग्रेस की हार के 10 मुख्य कारण



loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो