Puducherry Election Results 2021: बीजेपी के टिकट पर पिता-बेटे की शानदार जीत

भाजपा के उम्मीदवार ए. जॉन कुमार और उनके बेटे रिचर्ड जॉन कुमार ने रविवार को केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में अपनी-अपनी विधानसभा सीटों से जीत दर्ज की।

By: Shaitan Prajapat

Published: 02 May 2021, 11:05 PM IST

नई दिल्ली। रविवार को केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी सहित देश के पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित किए गए है। पुडुचेरी में 30 सदस्यीय विधानसभा के लिए 6 अप्रैल को एक ही चरण में मतदान हुआ था। पुडुचेरी में विधानसभा बहुमत प्राप्त करने के लिए 16 सीटों की जरूरत होती है। चुनावी परिणाम में भारतीय जनता पार्टी गठबंधन को जीत हासिल करता नजर आ रहा है। भाजपा के उम्मीदवार ए. जॉन कुमार और उनके बेटे रिचर्ड जॉन कुमार ने रविवार को केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में अपनी-अपनी विधानसभा सीटों से जीत दर्ज की। ए. जॉन कुमार पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले भाजपा का दामन थामने से पहले कांग्रेस के साथ थे।

यह भी पढ़ें :— Puducherry Election Results 2021: पुडुचेरी की सियासत में दलबदलू बने गेम चेंजर

पिता और बेटे की शानदार जीत
जॉन कुमार ने कामराज नगर सीट से बीजेपी की ओर मैदान में उतारे थे, जहां से वह दो बार कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में जीत हासिल कर चुके है। जॉन कुमार ने कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व मंत्री एमओएचएफ शाहजान को 7,229 वोटों के अंतर से पराजित किया है। वहीं, उनके बेटे रिचर्ड जॉन कुमार की बात करे तो उन्होंने नेलिथोप विधानसभा क्षेत्र से 496 वोटों के मामूली अंतर से जीत हासिल की। रिचर्ड जॉन ने नेलिथोप विधानसभा से द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) उम्मीदवार वी. कार्तिकेयन को कड़े मुकाबले जीत दर्ज की है।

राजग सबसे आगे
अखिल भारतीय एनआर कांग्रेस (एआईएनआरसी) के नेतृत्व वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) 30 सीटों वाली पुडुचेरी विधानसभा में 12 सीटों के साथ आगे चल रहा है। वहीं एआईएनआरसी ने 8 सीटें, जबकि उसकी सहयोगी भाजपा ने 4 सीटें जीती हैं। कांग्रेस के नेतृत्व में सेक्युलर प्रोग्रेसिव अलायंस ने 3 सीटों पर अपना कब्जा कर चुकी है। यहां अभी भी मतगणना जारी है और अंतिम नतीजे आने बाकी हैं।


आपको बता दें कि मुख्यमंत्री वी नारायणसामी के इस्तीफे के साथ ही पुदुचेरी में कांग्रेस-डीएमके की सरकार गिर गई थी।
33 सीटों वाली पुदुचेरी विधान सभा में बहुमत के लिए 17 सीटें चाहिए होती हैं। कुछ विधायकों के इस्तीफे के बाद आंकड़ा भी 14 पर आ गया था।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned