scriptUttarakhand: Harak Singh Rawat Not in Contest for 1st Time in 2 Decade | Uttarakhand Assembly Elections 2022: दो दशक में पहली बार हरक सिंह रावत को नहीं मिला टिकट, जानें क्यों | Patrika News

Uttarakhand Assembly Elections 2022: दो दशक में पहली बार हरक सिंह रावत को नहीं मिला टिकट, जानें क्यों

उत्तराखंड विधानसभा चुनावों के लिए हरक सिंह रावत को टिकट न देना उसकी रणनीति का हिस्सा है। इस पार्टी ने एक तीर से दो निशाने से साधे हैं।

देहरादून

Updated: January 29, 2022 01:41:02 pm

उत्तराखंड के अनुभवी राजनेता और मौसम विज्ञानी कहे जाने वाले पूर्व केन्द्रीय मंत्री हरक सिंह को दो दशक में पहली बार चुनावी दंगल से बाहर नजर या रहे हैं। कांग्रेस ने उन्हें अपनी आखिरी लिस्ट में भी शामिल नहीं किया है। हरक सिंह रावत जिस टिकट के कारण भाजपा से नाराज थे वो कांग्रेस में भी पूरी नहीं हो सकी है। हालांकि, उनकी बहु को कांग्रेस से टिकट मिल गया। इस पर हरक सिंह रावत ने कहा है कि वो इस बार चुनाव लड़ने के मूड में थे। परंतु क्या यही सच्चाई है? हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस की क्या योजना है? इसे समझने से पहले हरक सिंह रावत के बयान को भी देख लेते हैं।
Uttarakhand Assembly Elections: Harak Singh Rawat Not in Contest for First Time in Two Decades
Harak Singh Rawat Not in Contest for First Time in Two Decades

क्या कहा हरक सिंह ने?


कांग्रेस में वापसी के बाद भी टिकट न मिलने पर अनुभवी राजनेता हरक सिंह रावत ने कहा, "मुझे इस बार चुनाव लड़ने की इच्छा नहीं थी, पार्टी कहती तो मैं विचार करता। मैंने कई चुनाव लड़े हैं और एक राजनेता के रूप में, अभी हासिल करने के लिए बहुत कुछ नहीं बचा है। मैं विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में प्रचार करूंगा और लोगों को भाजपा सरकार के फ्लॉप शो के बारे में बताऊंगा।"

आगे अपने बयान में हरक सिंह ने कहा, "लोगों ने मेरा काम देखा है और इस राज्य के विकास के प्रति मेरे समर्पण से अच्छी तरह वाकिफ हैं। मैं विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में जाऊंगा और पार्टी के लिए प्रचार करूंगा। पहले मैं सिर्फ अपने लिए प्रचार कर रहा था। इस बार मेरी भूमिका बढ़ गई है।"

यह भी पढ़ें

हरीश रावत की सीट बदली, देखिए Congress की नई लिस्ट


बहु को टिकट दिलवाने में हुए सफल


भले ही हरक सिंह ये दावा कर रहे हैं कि इस बार चुनाव लड़ने की उनकी इच्छा नहीं है परंतु वो अपनी बहु अनुकृति गुसाईं को लैंसडौन से टिकट दिलवाने में अवश्य कामयाब हो गए। अपनी बहु के लिए वो प्रचार भी करेंगे।

यह भी पढ़ें

पंजाब के बाद अब उत्तराखंड में भी बदलेगी चुनाव तारीख! जानिए क्या है बड़ी वजह

कांग्रेस के एक तीर से दो निशाने


दरअसल, कांग्रेस ने यहाँ एक तीर से दो निशाने साधे हैं।

पहला, कांग्रेस ने टिकट न देकर हरक सिंह रावत को उनकी बगावत का सबक दिया है। ये तभी देखने को मिला था जब कांग्रेस ने हरक सिंह रावत से वापसी के लिए मौखिक और लिखित माफी मांगने की शर्त रखी जिसे उन्होंने माना भी।

दूसरा, कांग्रेस ने हरक सिंह की लोकप्रियता और उनके चुनावी अनुभव का इस्तेमाल अपने चुनावी प्रचार में जमकर करने वाली है। कांग्रेस गढ़वाल क्षेत्र में प्रचार के लिए रावत का व्यापक रूप से इस्तेमाल करने वाली है। हरक सिंह रावत चुनावों में जीत सुनिश्चित करने में माहिर मानें जाते हैं।


हरक सिंह के चुनावी रिकार्ड पर नजर


पूर्व केंद्रीय मंत्री हरक सिंह रावत के जीत के रिकार्ड को देखें तो 2002 और 2007 में लैंसडौन से, 2012 में रुद्रप्रयाग से और 2017 में कोटद्वार से जीत हासिल कर चुके हैं।

इन सीटों के अलावा उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, टिहरी, पौड़ी और देहरादून जिलों के निर्वाचन क्षेत्रों में भी हरक सिंह रावत का समर्थन आधार मजबूत माना जाता है।

पार्टी के उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित कर सकते हैं हरक सिंह रावत


कांग्रेस हरक सिंह रावत का इस्तेमाल पार्टी उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए कर सकती है।

बता दें कि भाजपा ने दूसरी संभावनाएं टटोलने के कारण उन्हें पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया था जिसके बाद वो फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

31 साल बाद जेल से छूटेगा राजीव गांधी का हत्यारा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशकान्स फिल्म फेस्टिवल में राजस्थान का जलवा, सीएम गहलोत ने जताई खुशीगुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तारआज चंडीगढ़ की ओर कूच करेंगे किसान, बॉर्डर पर ही बिताई रात, CM भगवंत बोले- 'खोखले नारे' नहीं तोड़ सकते संकल्पवाराणसी कोर्ट में आज ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम बहस, जानें किन मुद्दों पर हो सकता है फैसलादिल्ली में आज एक बार फिर चलेगा बुलडोजर! सुरक्षा के लिए 400 पुलिसकर्मियों की मांगकांग्रेस नेता कार्ति चिंदबरम के करीबी को CBI ने किया गिरफ्तार, कल कई ठिकानों पर हुई थी छापेमारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.