कुछ इस तरह चलती है बैंक की दादागिरी, डेबिट कार्ड पर वसूलते है मनमाना चार्ज

बैंक आए जिन अलग अलग चार्ज के नाम पर अपने ग्राहकों की जेब खाली करते रहते हैं।

By: manish ranjan

Updated: 18 Jul 2018, 09:16 AM IST

नई दिल्ली। बीते कुछ महीनों में बैंकों की लापरवाही को लेकर कई मामले सामने आए हैं। कुछ महीने पहले की ही बात है जब देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने पेनल्टी के नाम पर ग्राहकोंं से करोड़ों रुपए एेठ लिए थे। मीडिया में इस खबर ने जमकर सुर्खियां बटोरी थी। बैंकों की मनमानी कोई आज की बात नहीं है। बैंक आए जिन अलग अलग चार्ज के नाम पर अपने ग्राहकों की जेब खाली करते रहते हैं। आज के दौर में शायद ही कोई ऐसा इंसान होगा जो डेबिट कार्ड का इस्तेमाल न करता हो। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि बैंक आपके डेबिट कार्ड पर भी अलग अलग चार्ज के नाम पर 850 रुपए तक वसूल लेते हैं। आइए जानते हैं कि बैंक डेबिट कार्ड के जरिए कैसे आपकी जेब ढीली कर रहे हैं।

सालाना मेंटनेंस के नाम पर

अलग अलग बैंक ग्राहकों से सालाना मेंटनेंस के नाम पर अलग अलग चार्ज वसूली कर रहे है। देश के सबसे बड़ें बैंक एसबीआई की बात करें तो यह बैंक डेबिट कार्ड की सालाना फीस के रूप में 125 रुपये वसूलता है। वहीं देश का सबसे बड़ा निजी बैंक ग्राहकों के कोरल कार्ड को छोड़कर किसी कार्ड के ऊपर कोई सालाना फीस नहीं लेता है लेकिन कोरल डेबिट कार्ड के लिए जॉइनिंग फीस के रूप में 499 रुपये वसूलता है और इसकी सालाना मेंटेनेंस फीस के रूप में भी इतनी ही रकम बैंक ग्राहक से लेता है। देश का दूसरा सबसे बड़ा निजी बैंक एचडीएफसी भी अपने ग्राहकों के प्लेटिनम डेबिट कार्ड के लिए 750 रुपये सालाना वसूलता है।

यहां से भी होती है वसूली

बैंकों की मनमानी यही खत्म नहीं होती वो आपसे डेबिट कार्ड को दोबारा जारी करवाने/ रिप्लेस कराने पर अच्छी खासी रकम वसूल करता है। एसबीआई की बेवसाइट के मुताबिक यह अपने बैंक के कार्ड को रिप्लेस करने के लिए 300 रुपये हर कार्ड पर वसूलता है। वहीं आईसीआईसीआई बैंक अपने ग्राहक का कार्ड खो जाने, नष्ट होने या चोरी हो जाने की सूरत में नया कार्ड जारी करने के लिए 200 रुपये की फीस लेता है एचडीएफसी बैंक अपने ग्राहक के डेबिट कार्ड को रिप्लेस करने के लिए या दोबारा जारी करने के लिए 200 रुपये की फीस वसूलता है। इसके अलावा डेबिट कार्ड पिन को दोबारा जारी करवाने के लिए अलग अलग बैंक 50 रुपए तक की रकम वसूल कर लेते हैं।

Show More
manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned