Taxpayers को FORM -16 के लिए करना होगा इंतजार, 7 जुलाई तक जमा होंगे Form-15H

  • सीबीडीटी ( CBDT ) की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक, अब फॉर्म-16 ( Form-16 ) को 15 अगस्‍त तक जारी किया जाएगा
  • कंपनियों की तरफ से कर्मचारियों के लिए जारी होता है form-16
  • 30 नवंबर तक भरा जाएगा 2019-20 के लिए टैक्स ( itr )

By: Pragati Bajpai

Published: 29 Jun 2020, 03:37 PM IST

नई दिल्ली : नौकरीपेशा लोगों को इनकम टैक्स ( income tax ) के FORM-16 के लिए इंतजार करना होगा । कंपनी की तरफ कर्मचारियों ( Employee ) के लिए जारी होने वाले ये फार्म अब मिड अगस्त तक जारी किये जाएंगे। खुद CBDT द्वारा इस बात की जानकारी दी गई । सीबीडीटी ( CBDT ) की ओर से जारी नोटिफिकेशन जारी कर ये बात बताई गई । नोटिफिकेशन के मुताबिक, अब फॉर्म-16 ( Form-16 ) को 15 अगस्‍त तक जारी किया जाएगा।

2 महीने बढ़ी लाड़ली स्कीम की तारीख, मिलते हैं 36000 रूपए

अब जबकि ये फार्म देर से इश्यू होंगे ऐसे में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न ( Income Tax Return ) भरने की तारीख भी 30 नवंबर 2020 कर दी गई है।

टैक्स भरने में छूट के चलते हो रही है देरी- form-16 कंपनियों द्वारा टीडीएस रिटर्न (TDS Return) फाइल करने के 15 दिन बाद जारी किया जाता है । सामान्य तौर पर टीडीएस रिटर्न (TDS Return) फाइल करने की आखिरी तारीख 31 मई होती है लेकिन इस बार कोरोना के चलते 31 जुलाई 2020 तक टीडीएस रिटर्न फाइल करने की छूट दे दी गई है। इसके 15 दिन बाद फॉर्म-16 जारी किया जाता है इस लिहाज से इस बार फार्म 16 आने में देरी हो रही है।

अंबानी स्टाइल में Jio Mart की मार्केट में छाने की तैयारी, MRP से 15 फीसदी कम पर मिल रहा है सामान

क्या होता है Form-16 ( What is Form-16 ) -

Form 16 एक तरह का सर्टिफिकेट होता है जिसे कंपनियां अपने कर्मचारियों को जारी करती हैं। यह सैलरी से काटे गए TDS (स्रोत पर कर कटौती) को सर्टिफाई करता है। इसके अलावा ये सुबूत होता है कि संस्थान ने आपके हिस्से का टैक्स (TDS) काटकर आयकर विभाग ( IT Dept ) के खाते में जमा कर दिया है।

2 हिस्सों में होता है form 16- form 16 के 2 भाग होते हैं पहले भाग में आपके ऑफिस का TAN, आपका पैन (PAN of Employee), पता, एसेसमेंट ईयर (AE), रोजगार की अवधि ( Duration of Employment ) और सरकार को जमा किए गए टीडीएस ( TDS ) के बारे में विवरण दिया होता है।

जबकि दूसरे हिस्से में सैलरी का ब्रेक-अप, क्लेम किए गए डिडक्शन ( Deduction claimed ), कुल टैक्स योग्य इनकम ( Taxable Income ) और सैलरी से काटे गए टैक्स का ब्योरा शामिल होता है।

15 H के लिए भी मिलेगा वक्त- जमाकर्ताओं को फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) में देय ब्याज पर टीडीएस से राहत पाने के लिए फार्म-15H जमा करना होता है. आयकर विभाग ने इस फॉर्म को भरने की अवधि 7 जुलाई तक बढ़ा दी है

Show More
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned