Yes Bank Crisis दूर करने को SBI का Plan, 2450 करोड़ रुपए का हो सकता है निवेश

  • Yes Bank Crisis पर SBI के एमडी ने की प्रेस कांफ्रेंस, दी पूरी जानकारी
  • कहा, एसबीआई की लीगल टीम निवेश की योजना पर कर रही है काम
  • स्टॉक एक्सचेंज को दे दी जानकारी, 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने पर विचार

By: Saurabh Sharma

Updated: 10 Mar 2020, 09:26 AM IST

नई दिल्ली। Yes Bank Crisis पर आखिरकार भारतीय स्टेट बैंक को सामने आना ही पड़ा। एसबीआई की ओर से आए बयान में कहा गया है कि वो यस बैंक के 49 फीसदी शेयर खरीद सकती है। प्रेस क्रांफ्रेंस के दौरान एसबीआई ने एमडी रजनीश कुमार ने बताया कि वो यस बैंक में 2450 करोड़ रुपए का निवेश कर सकते हैं। उन्होंने स्टॉक एक्सचेंज को भी इस बात की जानकारी दे दी है। उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि एसबीआई की लीगल टीम सभी बिंदुओं पर बारीकी से काम कर रही है, लेकिन अंतिम फैसला आरबीआई बोर्ड का ही होगा।

यह भी पढ़ेंः- Yes Bank Crisis : अब यूपीआई पेमेंट्स में आई दिक्कत, स्विगी, फ्लिपकार्ट और फोनपे प्लेटफॉर्म परेशान

खाताधारकों को घबराने की जरुरत नहीं
प्रेस कांफ्रेंस में रजनीश कुमार ने कहा कि यस बैंक के सभी खाताधारकों को घबराने या डरने की जरूरत नहीं है। उनका रुपया पूरी तरह से सेफ है। जल्द यह संकट दूर हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जो जो लोग एसबीआई में निवेश करना चाहते हैं उनके पास सुनहरा मौका है। वो जल्द ही आरबीआई की समयसीमा से पहले अपनी इंवेस्टमेंट प्लान को पास कराने की कोशिश करेंगे।

यह भी पढ़ेंः- Yes Bank Crisis : सिर्फ इंसान ही नहीं बल्कि अब 'भगवान' भी महीने में निकाल सकेंगे 50,000 रुपए

कुछ ऐसा एसबीआई का प्लान
रजनीश कुमार ने अपने प्लान के बारे में बात करते हुए कहा कि 9 मार्च को आरबीआई के साथ बात करेंगे। बांबे स्टॉक एसचेंज को एसबीआई बोर्ड की मंजूरी के बारे में जानकारी दे दी गई है। उन्होंने बताया कि कि 26 फीसदी शेयर को एक बार खरीदने के बाद 3 सालों तक नहीं बेचा जा सकेगा। उनके अनुसार अगर एसबीआई को निवेश करना पड़ा तो 2450 करोड़ रुपए खर्च करने पड़ सकते हैं। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि यस बैंक में कुछ प्राइवेट इंवेस्टर्स भी रुपया लगाना चाहते हैं, जिनमें से कुछ अच्छे नाम भी है। एसबीआई भी अच्छे भागीदारों की तलाश कर रही है। अगर कोई 5 फीसदी से ज्यादा शेयर खरीदता है तो उन्हें कुछ नियमों से होकर गुजरना होगा। वहीं उन्होंने फाउंडर इंवेस्टर्स को भी भरोसा दिलाया। वहीं एसबीआई के निवेशकों को को भी कहा कि इस निवेश से उन्हें भी घबराने की जरुरत नही है। उन्हें अच्छे रिटर्न की उम्मीद है।

यह भी पढ़ेंः- तीन दिन में पेट्रोल 45 पैसे, डीजल 36 पैसे सस्ता, महाराष्ट्र में लगेगा ग्रीन सेस

करीब 7 फीसदी तक टूटे थे शेयर्स
यस बैंक पर लगे प्रतिबंधों और एसबीआई के निवेश की खबर के बाद शुक्रवार को यस बैंक के अलावा एसबीआई के शेयरों में भारी गिरावट देखने को मिली थी। शुक्रवार को बाजार बंद होने तक एसबीआई के शेयर में 6.24 फीसदी तक गिर गए थे। जिसके बाद बाद बैंक का शेयर 270.50 रुपए प्रति शेयर पर आ गया है। वहीं दूसरी ओर यस बैंक के शेयरों में 56 फीसदी की गिरावट के साथ बैंक का शेयर 16 रुपए पर आ गया है। वहीं शुक्रवार को इस गंभीर संकट के बीच 5 हजार करोड़ रुपए मार्केट कैप साफ हो गया था।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned