निकाय चुनाव में GST और नोटबंदी का जवाब देगी जनता: अखिलेश यादव

निकाय चुनाव में GST और नोटबंदी का जवाब देगी जनता: अखिलेश यादव

Amit Sharma | Publish: Nov, 15 2017 09:38:08 AM (IST) Firozabad, Uttar Pradesh, India

अखिलेश यादव ने राम मंदिर के लिए श्रीश्री रवि शंकर की पहल पर कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सबको स्वीकार होगा।

फिरोजाबाद। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मंगलवार को फिरोजाबाद की तहसील जसराना के गांव फरीदा में पहुंचे। जहां उन्होंने पूर्व विधायक बलवीर सिंह यादव की प्रतिमा का अनावरण किया। अखिलेश यादव के आने की सूचना पर बड़ी तादात में पूरे जिले के सपाई कार्यक्रम स्थल पर जमा हो गए । उनकी एक झलक देखने वालों की भीड़ देखकर अखिलेश यादव भी गदगद दिखाई दिए। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला बोला।

प्रत्याशियों के साथ ली बैठक

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव फिरोजाबाद की तहसील जसराना के गांव फरीदा पहुंचे। पूर्व विधायक स्व. बलवीर सिंह यादव की प्रतिमा का अनावरण किया। अनावरण के बाद उन्होंने निकाय चुनाव के प्रत्याशियों के साथ बैठक ली। अखिलेश यादव ने कहा कि नगर निकाय चुनाव के बाद वह गुजरात और दिल्ली जाएंगे। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि गुजरात और दिल्ली में फैले प्रदूषण के लिए भाजपा दोषी है। उन्होंने कहा स्वचछता के लिए समाजवादियों की नीति अपनानी होगी। वृक्षारोपण व साइकिल को अपनाना होगा।


निकाय चुनाव में खुलेगी भाजपा की पोल

अखिलेश यादव ने कहा कि निकाय चुनाव में भाजपा की पोल खुल जाएगी। नाराज जनता नगर निकाय चुनाव में दिखाएगी गुस्सा। बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि लेनदेन काला सफेद होता है रुपए नहीं लेकिन बीजेपी ने गरीबों को ***** बना दिया। अखिलेश यादव ने कहा कि निकाय चुनाव में जनता जीएसटी और नोटबंदी का जवाब देगी। डायल 100 योजना हमने चलाई और आज सफल है। सपा सरकार के कार्यों को भाजपा भुनाने का काम कर रही है। समाजवादी पेंशन योजना को बंद करके भाजपा ने गरीबों के हक पर डाका डालने का काम किया है। एंबुलेंस 108 सपा ने शुरू की। दुर्घटना होने पर एंबुलेंस तत्काल मौके पर पहुंच जाती है।


भाजपा ने जनता को दिया धोखा

भाजपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनाव से पूर्व अपने घोषणा पत्र में जितने वादे किए थे। वह जनता को बेवखूफ बनाने के लिए थे। किसानों के ऋण माफी में किसी को 50 पैसे माफ किए गए तो किसी के पांच रूपए माफ पर वाहवाही लूटने का काम किया है। जनता सब जानती है अब वह भाजपा के बहकावे में आने वाली नहीं है। नोटबंदी के बाद से व्यापार आज तक उबर नहीं पाया है।

Ad Block is Banned