भ्रष्टाचार पर योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, जेल भेजे गए पूर्व चेयरमैन

जिला न्यायालय फिरोजाबाद के एडीजे चतुर्थ ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत सपा के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष को भेजा जेल

By:

Published: 24 May 2018, 10:55 AM IST

फिरोजाबाद। सपा सरकार में पद पर रहते हुए अपने पद का दुरुपयोग करने वाले चेयरमैन को कोर्ट ने जेल भेज दिया। चेयरमैन पर पद पर रहते हुए नौकरी व टेंडरों में करोड़ों का घोटाला करने का आरोप था। जिले में डीएम रहे विजय किरन आनंद ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत पूर्व चेयरमैन पर मुकदमा दर्ज कराया था।

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: पेट्रोल, डीजल की रेट बढ़ोत्तरी पर सपा महिला नेत्री का बड़ा बयान, देखें वीडियो

जांच में पाए गए थे आरोपी
फिरोजाबाद के पूर्व पालिका अध्यक्ष राकेश दिवाकर को अपर जिला न्यायाधीश जय सिंह पुंडीर की कोर्ट नंबर 4 ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत जेल भेज दिया है। 2014-15 में तत्कालीन जिलाधिकारी विजय किरन आनंद ने भ्रष्टाचार की शिकायत पर पालिका अध्यक्ष की कराई थी जांच, जिसकी जांच पूर्व लेखा अधिकारी पुष्पराज से कराई थी। जिसमें वह दोषी पाए गए थे। इसी मामले में धारा 420 409,13 (1)भ्रष्टाचार अधिनियम में इन्हें जेल भेजा गया है। राकेश दिवाकर समाजवादी पार्टी से नगर पालिका परिषद फिरोजाबाद के चेयरमैन थे, जिसमें परसीमन होने के कारण नगर पालिका फिरोजाबाद को नगर निगम का दर्जा प्राप्त हो गया था और वो अपना चेयरमैन का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाए थे।

ये खबर भी पढ़ सकते हैं: व्यापारियों ने लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की व्यापारी कल्याण बोर्ड की मांग

2014 में करोड़ों के गबन के आरोपों को लेकर थे चर्चा में
वर्तमान नगर निगम जो कि 2014 में नगर पालिका थी के उस समय पालिकाध्यक्ष रहे राकेश दिवाकर के खिलाफ उसी समय यहां डीएम रहे विजय किरन आनन्द ने करोड़ों के घपले को लेकर मुकदमा दर्ज कराया था। तभी से उनकी जांच चल रही थी। इस घपले में एक कर्मचारी की नौकरी लगी थी और फाॅरजरी करके सौ कर्मचारियों के रुपये निकाले गये थे। भ्रष्टाचार के मामले में पूर्व चेयरमैन को जेल होने के बाद अन्य भ्रष्टाचारियों के दिलों की धड़कनें तेज हो गई हैं।

BJP
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned