कार में मिला एनजीओ के चीफ रेवेन्यू ऑफिसर का शव, जहर देने की आशंका

कार में मिला एनजीओ के चीफ रेवेन्यू ऑफिसर का शव, जहर देने की आशंका

lokesh verma | Publish: Sep, 10 2018 10:23:33 AM (IST) Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम इलाके के शक्ति खंड-4 में खड़ी एक स्विफ्ट डिजायर कार में मिला एक एनजीओ के चीफ रेवेन्यू ऑफिसर का शव

गाजियाबाद. शहर की पॉश कॉलोनी शक्ति खंड-4 में अचानक उस वक्त अफरा-तफरी मच गई। जब आसपास के लोगों ने एक कार में करीब 50 वर्षीय शख्स का शव देखा। जैसे ही लोगों को इसका पता चला तो मौके पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। वहीं सूचना के बाद आनन-फानन में पहुंची स्थानीय पुलिस ने मौके पर पहुंच मामले की जांच की। पुलिस को मृतक के पास से एक आई कार्ड मिला है, जो नेशनल जस्टिस काउंसिल का है और उस पर 50 वर्षीय अनुपम दत्त चीफ रेवेन्यू ऑफिसर लिखा हुआ है। यह शव स्विफ्ट डिजायर कार के अंदर पड़ा हुआ था। फिलहाल पुलिस मृतक के पास मिले आई कार्ड के आधार पर पहचान के प्रयास में जुटी है। पुलिस के मुताबिक यह शव 16 से 20 घंटे पुराना माना जा रहा है।

जानिए, आज क्‍यों है भारत बंद अौर कितना महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल

जानकारी के अनुसार, गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम इलाके के शक्ति खंड-4 में खड़ी एक स्विफ्ट डिजायर कार में कुछ लोगों ने एक शव पड़े देखा तो उन्होंने स्थानीय पुलिस को सूचित किया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने गाड़ी के अंदर पड़े शव की पहचान करने का प्रयास किया। मृतक की जेब से नेशनल जस्टिस काउंसिल का एक आई कार्ड मिला। आई कार्ड पर अनुपम दत्त, उम्र 50 वर्ष और पद का नाम चीफ रिवेन्यू ऑफिसर लिखा हुआ था। फिलहाल पुलिस गाड़ी के नंबर और मृतक के पास मिले आई कार्ड के आधार पर उसकी पहचान करने में जुटी है।

अब इस जैन मुनि के खिलाफ जैन समाज ने महापंचायत में किया ये बड़ा ऐलान

इस पूरे मामले में इंदिरापुरम क्षेत्र अधिकारी रवि कुमार ने बताया कि कुछ लोगों के द्वारा पुलिस को सूचना मिली थी कि एक स्विफ्ट डिजायर कार में एक शख्स का शव पड़ा है। उनके अनुसार मृतक के पास से मिला कार्ड कोई सरकारी कार्ड नहीं है, बल्कि किसी एनजीओ या सोसाइटी का है। फिलहाल पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। उन्होंने बताया कि कार में मिला शव 16 से 20 घंटे पुराना प्रतीत हो रहा है। अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि आखिर कार में बैठे इस शख्स की मृत्यु किस कारण से हुई है। फिलहाल पुलिस गाड़ी के कागज और मृतक के पास से मिले आई कार्ड के आधार पर पहचान करने के प्रयास में जुटी है।

जहर से मौत की आशंका

मृतक के शरीर पर चोट का निशान नहीं हैं। माना जा रहा है कि उन्हें नशीला पदार्थ या जहर आदि खिलाया गया है। पुलिस हार्ट अटैक से मौत की आशंका से भी इनकार नहीं कर रही है। पीएम रिपोर्ट के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।

पत्रिका लाइव में बढ़ती महंगाई को लेकर कांग्रेस के भारत बंद पर चर्चा, देखें वीडियो-

Ad Block is Banned