राष्ट्रपति ने बावर्ची के बेटे को ईदी के रूप में दी रेसिंग साइकिल, अब अपने सपनों को साकार कर सकेगा रियाज

Highlights

- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से साइकिल पाकर बेहद खुश हुआ बर्तन धोने वाल युवक रियाज

- रियाज बोला- यह उसके जीवन की सबसे बड़ी खुशी का दिन

- गाजियाबाद में एक किराए के कमरे में रहता है रियाज

By: lokesh verma

Published: 01 Aug 2020, 10:31 AM IST

गाजियाबाद. आर्थिक तंगी के कारण अपना शौक पूरा नहीं कर पाने वाले एक युवक को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एक ऐसा तोहफा दिया, जिससे वह अपने शौक के साथ अपना करियर भी बना पाएगा। बता दें एक बावर्ची का बेटा रियाज नाम का युवक, जो कि एक ढाबे पर बर्तन साफ करता है। उसे साइक्लिंग का बेहद शौक है। दूसरों की साइकिल लेकर ही वह अपना शौक पूरा करता है। किसी अखबार में छपी रियाज की फ़ोटो देखकर राष्ट्रपति ने रियाज को साइकिल देने का मन बनाया। इसक बाद खुद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ईद पर ईदी के रूप में रियाज को साइकिल भेंट की। जिसे पाकर रियाज ने कहा कि उसे आज जीवन की सबसे बड़ी खुशी मिली है।

यह भी पढ़ें- Raksha Bandhan: मुस्लिम सास-बहू ने पेश की मिसाल, भगवान राम, पीएम मोदी और सीएम योगी को भेजी राखियां

riyaz2.jpg

गाजियाबाद में रहने वाले रियाज के लिए ये दिन कभी नहीं भूलने वाला है। क्योंकि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रियाज को एक रेसिंग साइकिल भेंट की है। राष्ट्रपति ने रियाज को साइकिल दौड़ में अंतरराष्ट्रीय चैंपियन बनने और अपनी कड़ी मेहनत के माध्यम से अपने सपने को साकार करने की कामना की भी है। आपको बताते चलें कि रियाज दिल्ली के आनंद विहार के सर्वोदय बाल विद्यालय में कक्षा 9 का छात्र हैं। वह मूलरूप से बिहार के मधुबनी का रहने वाला है। उसके माता-पिता, दो बहनें और एक भाई वहीं रहते हैं, लेकिन रियाज गाजियाबाद के महाराजपुर में एक किराए के कमरे में रहता है। उसके पिता बावर्ची का काम करते हैं। ऐसे में आर्थिक मदद के लिए रियाज खाली वक्त में गाज़ियाबाद के एक खाने-पीने की दुकान पर बर्तन धोने का काम करता है। रियाज का जुनून साइक्लिंग करना है। वह रोज की पढ़ाई और काम खत्म करने के बाद जमकर प्रैक्टिस करता है। 2017 में उसने दिल्ली स्टेट साइक्लिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था।

गाजियाबाद के जिलाधिकारी ने बताया कि रियाज इसके अलावा गुवाहाटी में स्कूल गेम्स इवेंट में हिस्सा लेने भी गया था। जहां उसने नेशनल लेवल पर चौथा स्थान प्राप्त किया था। अपनी उपलब्धियों से प्रेरणा लेते हुए रियाज़ ने कोच प्रमोद शर्मा से प्रोफेशनल ट्रेनिंग लेनी भी शुरू कर दी है। वह नियमित रूप से इंदिरा गांधी इन्डोर स्टेडियम में प्रैक्टिस करता है। हालांकि इसके लिए उसे उधार की साइकिल का सहारा था और उसे अपनी साइकिल चाहिए थी। ऐसे में ईद के मौके पर राष्ट्रपति ने उसे ईदी के रूप में रेसिंग साइकिल दी है। राष्ट्रपति को रियाज के बारे में मीडिया में छपी खबरों के जरिए ही जानकारी मिली थी। रियाज साइकिल लेने के बाद बेहद खुश है। उसका कहना है कि अभी तक जीवन में उसके लिए यह सबसे बड़ी खुशी का दिन है।

यह भी पढ़ें- 7 साल की उम्र में Dhoni से हुए थे प्रेरित, आज Cricket में कई रिकॉर्ड बना चुके Moksh Murgai

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned