बिजनेस पार्टनर ने कराई थी शिवसेना नेता के भांजे की हत्या, ऐसे खुला ब्लाइंड मर्डर केस का राज

Highlights
- 25 सितंबर को शिवसेना नेता के भांजे व व्यापारी अमित सेठ मर्डर केस का खुलासा
- 96 लाख के कर्ज से बचने के लिए कारोबार में साझेदार ने दी थी हत्या की सुपारी
- पांच लाख रुपये में शाॅर्प शूटर्स ने दिया था वारदात को अंजाम

गाजियाबाद. कविनगर थाना क्षेत्र में बीते 25 सितंबर को शिवसेना नेता के भांजे व व्यापारी अमित सेठ के ब्लाइंड मर्डर केस का गाजियाबाद पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस चर्चित हत्याकांड में पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि व्यापारी अमित सेठ की 96 लाख रुपये रोहित नाम के शख्स पर थे, जिसको लेकर अमित सेठ लगातार रोहित पर रुपये देने का दबाव बना रहे थे। इसी वजह से रोहित ने अमित सेठ की हत्या की साजिश रच डाली।

यह भी पढ़ें- IPS पत्नी से 700 किलाेमीटर दूर है IAS पति की तैनाती, जानिए कैसे मनाया पहला 'करवाचाैथ'

दरअसल, व्यापार में लेन-देन को लेकर व्यापारी अमित सेठ के परिचित रोहित ने ही अमित सेठ की हत्या करवाई थी। जबकि अमित और रोहित की कारोबार में साझेदारी भी थी। अमित सेठ के 96 लाख रुपये मुख्य साजिशकर्ता रोहित पर थे। पुलिस के मुताबिक रोहित ने शूटरों को हायर किया और अमित सेठ की हत्या के लिए 5 लाख रुपये की सुपारी दे दी। रोहित ने 2 लाख रुपये हत्या की पेशगी भी शूटर्स को दी। इसके बाद 25 सितंबर दोपहर करीब 2 बजे जब व्यापारी अमित सेठ अपनी गाड़ी से घर के बाहर निकले तो पहले से ही घात लगाकर बैठे शूटरों ने अमित सेठ पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी।

गाजियाबाद के एसएसपी ने बताया कि रोहित के साथ शूटर पवन कुमार, आकाश को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन एक शूटर सागर अभी फरार है। जो घटना के दिन बाइक चला रहा था। पुलिस ने जिन पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है उनके नाम पवन कुमार, आकाश, रोहित, सुंदर और वीरू हैं।

वहीं दूसरी तरफ अमित सेठ की पत्नी का कहना है कि अमित की एक अन्य आरोपी अंकित पर एक करोड़ से ज्यादा की रकम बकाया थी। अंकित भी इस हत्याकांड में शामिल है। इस मामले में परिजनों ने एसएसपी को एक लिखित शिकायत भी दी है। एसएसपी ने शिकायत लेकर जांच करने के बाद कार्रवाई करने की बात कही है।

25 सितंबर को व्यापारी अमित सेठ की हत्या का खुलासा गाजियाबाद पुलिस ने सर्विलांस, सीसीटीवी और कई जांच से जुड़े पहलुओं के आधार पर किया है। व्यापारी की हत्या के बाद काफी ज्यादा दबाव गाजियाबाद पुलिस पर था। एसएसपी ने वारदात का खुलासा करने वाली टीम को 25 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें- ग्यारहवीं के छात्र ने बीटेक की छात्रा पर ताबड़तोड़ किए चाकू से वार, फिर आठवें फ्लोर कूद कर दे दी जान

Show More
lokesh verma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned