scriptसावधान … SBI में मिलता है मुर्दों के नाम पर लोन, बैंककर्मियों की मिलीभगत से कैंटीन बॉय बन गया करोड़पति | Patrika News
गोरखपुर

सावधान … SBI में मिलता है मुर्दों के नाम पर लोन, बैंककर्मियों की मिलीभगत से कैंटीन बॉय बन गया करोड़पति

स्टेट बैंक आफ इंडिया की जंगल कौडिया ब्रांच से करोड़ों के फ्रॉड मामले में नई बात उजागिर हुई है। यहां कैंटीन चलाने वाले युवक ने बैंककर्मियों की मिलीभगत से मुर्दों को भी लोन फाइनेंस करने लगा। कुछ ही साल में इस कैंटीन बॉय ने करोड़ों कमा लिए, कई लग्जरी गाडियां ले ली। एक लक्जरी गाड़ी तो बैंक प्रबंधक को गिफ्ट कर दिया।

गोरखपुरJun 15, 2024 / 10:09 am

anoop shukla

दजंगल कौड़िया स्टेट बैंक से मुर्दोँ के नाम पर लोन जालसाजी में शामिल कैंटीन व्याय आठ साल में करोड़पति बन गया। इलाके के रिटायर्ड लोगों के बारे में पंकज को पूरी जानकारी थी वह उन पर नजर रखता था मौत के बाद लोन कराकर रुपये हड़प लेता था।
पुलिस की जांच में अब यह मामला लाखों से करोड़ों तक पहुंच सकता है। बताया जा रहा है कि उसने दो दर्जन से ज्यादा लोगों का लोन कराया है। खबर सामने आने के बाद अब अन्य लोग भी पड़ताल करने बैंक पर पहुंच रहे हैं।
जंगल कौड़िया क्षेत्र के बलुवा गाँव निवासी 20 वर्षीय पंकज मणि त्रिपाठी के पिता एलआईसी एजेंट हैं। पंकज 2015 में सिहोरवा बैंक शाखा प्रबंधक के नजर में आया बैंक में छोटे-मोटे काम करने लगा बैंक कर्मी के सहयोग से सिहोरवा बाजार एसबीआई बैंक के कुछ दूरी पर एसबीआई का जन सेवा केंद्र ले लिया। 2016 में वह कौड़िया भारतीय स्टेट बैंक शाखा प्रबंधक के नजर में आया और उसने बैंक मैनेजर से तालमेल बैठा लिया। प्रबंधक ने उसे कैंटीन व्याय बना दिया। जबकि पंकज ने लोगों से बताया कि उसकी बैंक में नैकरी लग गई है। जंगल कौड़िया क्षेत्र के लोगों को बैंक में कोई काम करवाना होता तो पंकज ही करवाता था। पंकज की बैंक के अंदर काफी अच्छी पकड़ बन गई थी। शाखा प्रबंधक ने कैंटीन व्याय पंकज की लग्जरी गाड़ी फाइनेंस कर दी।
पंकज ने उस गाड़ी को शाखा प्रबंधक को चलने के लिए दे दिया। पंकज इससे बैंक मैनेजर के और करीब हो गया। अपने इलाके के सेवानिवृत्ति लोगों को निशाना बना कर पंकज ने शाखा प्रबंधक के साथ मिली भगत करते हुए दो दर्जन से अधिक मरे हुए व्यक्तियों का लोन करवा दिया और उनका पैसा परिवार के अकाउंट में क्रेडिट करवा दिया। पंकज के परिवार में ग्राहक सेवा केंद्र एसबीआई के तीन ग्राहक सेवा केंद्र रजिस्टर्ड थे उनके खाते में पैसा भेजवाता था फिर पैसा निकाल कर शाखा प्रबंधक व अन्य के लोगों के बीच बंटवारा होता था। अहिरौली गाँव निवासी श्रीराम निषाद जिनको मारे 9 साल हो चुके हैं उनके नाम से 3 लाख रुपये का लोन कराया था वहीं जिंदपुर गांव निवासी बंसी सिंह जिनकी मौत काफी पहले हो चुकी है उनके नाम पर 10 लाख से अधिक का लोन कराया था। 
अब तक की जांच में ऐसे दो दर्जन से अधिक मामले सामने आए हैं जिसमें उन लोगों के नाम लोन हुआ जो कि अब इस दुनिया में है नहीं हैं। मुर्दोँ का लोन कराकर पंकज त्रिपाठी ने करोड़ों की संपत्ति अर्जित कर ली। 3 लग्जरी गाड़ी के साथ-साथ सरहरी महाराजगंज चौराहे पर लाखों की जमीन, रसूलपुर चकिया चौराहे पर बॉबीज के नाम से रेस्टोरेंट,शेरपुर चमराह टोल प्लाजा पर न्यू होटल बॉबीज 2 के नाम होटल खोलने की तैयारी कर रहा है। यही नहीं बताया जा रहा है कि उसने कई जगह जमीन खरीदी है।

Hindi News/ Gorakhpur / सावधान … SBI में मिलता है मुर्दों के नाम पर लोन, बैंककर्मियों की मिलीभगत से कैंटीन बॉय बन गया करोड़पति

ट्रेंडिंग वीडियो