Corona Curfew in Gorakhpur : 35 घंटे के कोरोना कर्फ्यू ने दिला दी लॉकडाउन की याद, सड़कों पर पसरा सन्नाटा

Gorakhpur Corona Curfew के दौरान सड़कों पर पुलिस की गाड़ियां और एम्बुलेंस के अलावा सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ही नजर आये

By: Hariom Dwivedi

Published: 19 Apr 2021, 12:55 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
गोरखपुर. Corona Curfew in Gorakhpur Recalls Lockdown days. कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गोरखपुर सहित पूरे उत्तर प्रदेश में 35 घंटे का कोरोना कर्फ्यू सफल रहा। लोगों ने घर पर रहकर ही कोरोना पर वार किया। पुलिस की गाड़ियां, एम्बुलेंस के अलावा सड़कों पर सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ही नजर आये। आम आदमी की बात करें तो सड़कों पर सिर्फ वही निकले जिन्हें बेहद जरूरी काम था। जगह-जगह पुलिस की बैरिकेडिंग लगी थी। पुलिस गश्त कर रही थी, बावजूद पुलिस को भी कहीं सख्ती से पेश आने की नौबत नहीं आई। शहर में पूरे दिन अभियान चलाकर सेनेटाइजेशन का काम किया गया। रविवार को सड़कों पर पसरे सन्नाटे ने एक बार फिर पिछले साल के लॉकडाउन की यादें ताजा कर दी।

गोरखपुर शहर के प्रमुख बाजार बंद रहे। गोलघर, सिनेमा रोड, बैंक रोड, अलीनगर, बेनीगंज, जाफरा बाजार, तिवारीपुर, सूरजकुंड, गोरखनाथ, माया बाजार, पांडेयहाता, शाहमारुफ, रेती, नखास, घासी कटरा, बक्शीपुर, घोष कंपनी चौराहा, बेतियाहाता, रुस्ममपुर, तारामंडल, देवरिया बाईपास, पार्क रोड, मोहद्दीपुर, कूड़ाघाट, असुरन, शाहपुर, पादरी बाजार, बिछिया, घंटाघर समेत तमाम इलाकों में कोराना कर्फ्यू पूरी तरह सफल नजर आया। यहां न तो दुकानें खुली थीं और न ही लोग हुजूम बनाकर खड़े नजर आए।

यह भी पढ़ें : लखनऊ सहित पूरे यूपी में दिखा लॉकडाउन का जबरदस्त असर

लोगों को नहीं हुई कोई दिक्कत
शहर की महेवा मंडी, साहबगंज मंडी समेत सभी बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। शहर में लोगों को किसी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा। सब्जी और दूध उन्हें रोजाना की तरह खबर पर भी मिल गई। सब्जी के ठेलों वालों ने कुछ मोहल्लों में घर-घर दस्तक दी, हालांकि कई मोहल्लों में एक भी सब्जी का ठेला नजर नहीं आया।

यह भी पढ़ें : घरों से नहीं निकले लोग, सड़कों पर पसरा सन्नाटा

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned