scriptजेठ की भीषण गर्मी को तर की बारिश की बूंदे, आज भी मौसम रहेगा खुशनुमा | Patrika News
गोरखपुर

जेठ की भीषण गर्मी को तर की बारिश की बूंदे, आज भी मौसम रहेगा खुशनुमा

गोरखपुर सहित पूरे प्रदेश में भीषण गर्मी से आम जन जीवन त्रस्त हो गया था, लेकिन बुधवार को रात में मौसम अचानक करवट किया और तेज हवाओं के साथ बारिश भी शुरू हो गई। बारिश शुरू होते ही गर्मियों से जूझ रहे लोग इत्मीनान से चैन की सांस लिए।

गोरखपुरJun 20, 2024 / 09:46 am

anoop shukla

जेठ माह में बीते कई दिनों से भीषण गर्मी के प्रकोप के बाद बुधवार रात मौसम ने करवट बदल ली। तेज हवा के साथ बारिश हुई तो कई दिनों से भीषण गर्मी झेल रहे लोगों ने राहत की सांस ली। मौसम में आए इस बदलाव को विशेषज्ञ प्री-मानसून की दस्तक मान रहे हैं।
मौसम विभाग का अनुमान है कि नए पश्चिमी विक्षोभ का असर बृहस्पतिवार को भी रहेगा। दिन में बादल छाने के साथ हवाएं चलेंगी। कुछ स्थानों पर बारिश भी हो सकती है।

मौसम विभाग ने बुधवार को दिन में अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, जो सामान्य से 5.5 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। यह मंगलवार की अपेक्षा 1.9 डिग्री सेल्सियस कम है। वहीं न्यूनतम तापमान भी 28.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। यह सामान्य से 1.7 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। सुबह से ही तीखी धूप लोगों को परेशान करने लगी। दोपहर में सूरज की किरणें लोगों के शरीर को झुलसाने लगी।
भीषण गर्मी के चलते सड़क पर आवागमन कम दिखा। दिन में उमस भरी गर्मी से परेशान लोग राहत के लिए छांव तलाशते नजर आए। घर में भी पंखा और कूलर का हवा बेअसर साबित हो रहा। रात में भी उमस भरी गर्मी बेचैन करती रही। रात दस बजे के बाद मौसम ने करवट बदली। पहले तेज हवा के साथ हल्की फिर तेज बारिश शुरू हो गई।
मौसम वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह ने बताया कि अरब सागर से आ रही नमी के प्रभाव से प्रदेश के दक्षिणी हिस्सों में बादलों की आवाजाही से कुछ स्थानों पर आंधी के साथ छिटपुट बारिश हुई। वर्तमान मौसमी परिदृश्य में पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव तथा पुरवा के साथ प्रतिक्रिया के परिणामस्वरूप तड़ित झंझावात के साथ 19 जून से प्रदेश में कहीं-कहीं हो रही छिटपुट बारिश का दौर आगे भी जारी रहेगा। 23 जून से पूर्वी उत्तर प्रदेश में इसकी तीव्रता एवं क्षेत्रीय वितरण में बढ़ोतरी होने की संभावना है। पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों और बिहार के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। मानसून की पूर्वी शाखा के बिहार एवं झारखंड में आगे बढ़ने के बाद ही मानसून के यूपी में आगे बढ़ने के संबंध में स्थिति स्पष्ट होगी।

Hindi News/ Gorakhpur / जेठ की भीषण गर्मी को तर की बारिश की बूंदे, आज भी मौसम रहेगा खुशनुमा

ट्रेंडिंग वीडियो