सुलेमानी की मौत अमरीका के लिए कितनी अहम, जानिए ट्रंप ने क्यों दिए उसे मारने के आदेश

  • ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर को मारने के लिए ट्रंप ने दिए थे आदेश
  • सुलेमानी की मौत से ईरान को बड़ा झटका

By: Shweta Singh

Updated: 03 Jan 2020, 12:49 PM IST

बगदाद। अमरीकी एयर स्ट्राइक में ईरान समर्थित कुर्द बल के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी ( Qassem Soleimani ) मारा गया है। इस बारे में जानकारी देते हुए अमरीकी रक्षा मंत्रालय ने बताया कि खुद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) ने कासिम सुलेमानी मारने का आदेश दिया था। बयान के मुताबिक विदेश में अमरीकी कर्मियों की सुरक्षा के लिए स्पष्ट रक्षात्मक कार्रवाई के तहत ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर को मारने का आदेश दिया गया था।

सुलेमानी का मारा जाना अमरीका के लिए कितना अहम?

सुलेमानी की तलाश अमरीका को काफी समय से थी। इस रिपोर्ट में जानते हैं कि सुलेमानी का मारा जाना अमरीका के लिए कितना अहम है। दरअसल, इराक में सुलेमानी की काफी अहम भूमिका रखता था। इस ईरान समर्थित फोर्स का गठन इस्लामिक स्टेट के आतंक से बगदाद को बचाने के लिए हुआ था। फोर्स का नाम 'पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्स' था। सुलेमानी अमरीका का काफी पुराना दुश्मन था। 1980 के दशक में जब ईरान और इराक के बीच खूनी जंग छिड़ी तो उसमें भी सुलेमान मुख्य भूमिका में था।

बगदाद में US दूतावास पर हमले का अमरीका ने लिया बदला, ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी को मार गिराया

ईरान के लिए झटका

युद्ध में अमरीका इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन के साथ था। अब सुलेमानी का मारा जाना ईरान के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है। ऐसा दावा किया जाता है कि सुलेमानी हथियार बंद संगठन हिज्बुल्लाह, फिलीस्तीन में सक्रिय आतंकी संगठन हमास का भी समर्थक था। यही नहीं, सीरिया में बशर अल-असद सरकार को भी कासिम का समर्थन मिला हुआ था।

Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned