लॉकडाउन बना मिलन में रूकावट, जुदाई से तंग आकर मंगेतर के घर पहुंची युवती, यूं रचाई शादी

प्यार पर रोक कैसे लग सकती है (Jharkhand News) (Hazaribagh News) (marriage in coronavirus pandemic) (Coronavirus Effect) (Interesting Marriage During Coronavirus Pandemic After Lockdown)...

By: Prateek

Published: 05 Oct 2020, 07:30 PM IST

चतरा,हजारीबाग: कोरोना वायरस ने हर चीज पर लगाम लगा दी है। सामाजिक जीव कहे जाने वाले इंसान का जीवन बिल्कुल भी समाजिक नहीं रह गया है। सुरक्षा कारणों के चलते हर सामाजिक, धार्मिक और मांगलिक कार्याक्रम पर एक तरह से रोक सी लग गई है। लेकिन प्यार पर रोक कैसे लग सकती है। अपने मंगेतर से लंबे समय से दूरी सह रही एक युवती ने यह साबित कर दिया। युवती शादी करने के लिए लड़के के घर ही पहुंच गई। गांव के मंदिर में ही दोनों शादी के बंधन में बंध गए।

यह भी पढ़ें: Jammu Kashmir: पंपोर में बड़ा आतंकी हमला, दो CRPF जवान शहीद


यह प्यार भरी कहानी है झारखंड के चतरा जिले की। हंटरगंज प्रखंड के पंडरी कला गांव में यह अनोखी शादी हुई जिसका गवाह पूरा गांव और समाज बंधू बने। हुआ यूं कि एक साल पहले पंडरी गांव निवासी बिरजू भुइयां ने अपने बेटे राजेश की शादी बाराचट्टी भीतघरवा गांव निवासी युवती से तय की थी। शादी की तारीख मई 2020 में तय की गई थी। कोरोना वायरस के कारण लगा लॉकडाउन मानों दूल्हा—दुल्हन के बीच दीवार बन गया हो। इस बीच दोनों की शादी नहीं हो पाई।

यह भी पढ़ें: IAF Chief की चीन-पाकिस्तान को दो टूक, दो मोर्चों पर भी किसी युद्ध को तैयार है वायु सेना

लड़के और लड़की के बीच फोन पर लगातार बात होती रहती थी। युवती जब जुदाई नहीं सह पाई तो आखिरकार वह 2 अक्टूबर को लड़के के घर ही पहुंच गई। उसने वर पक्ष के समक्ष शादी का प्रस्ताव रखा। इस पर सभी राजी हो गए। गांव के मंदिर में ही दोनों की शादी कराई गई। गांव वालों ने वर वधू को आशीर्वाद दिया। सब कुछ अच्छे से निपट गया बस एक बात की कमी रह गई। इस शादी में लड़की वालों की तरफ से कोई मौजूद नहीं रह पाया। इस पर दुल्हन के मौसेरे भाई ने वहां पहुंचकर भाई के नाते सभी रस्मों को पूरा किया।

ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

coronavirus
Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned