scriptBlood Donation से बढ़ती है इयूनिटी, हार्ट अटैक का खतरा भी कम | Blood donation benefits immunity and heart health raktdan ke fayde | Patrika News
स्वास्थ्य

Blood Donation से बढ़ती है इयूनिटी, हार्ट अटैक का खतरा भी कम

Blood donation : सवाई मानसिंह अस्पताल स्थित ब्लड बैंक में केक काटकर विश्व रक्तदाता दिवस (Blood Donor Day) मनाया गया। साथ ही रक्तदाताओं को केक खिलाया गया।

जयपुरJun 15, 2024 / 11:40 am

Manoj Kumar

Blood donation

Regular blood donation reduces iron levels and heart attack risk

जयपुर। सवाई मानसिंह अस्पताल स्थित ब्लड बैंक में केक काटकर विश्व रक्तदाता दिवस (Blood Donor Day) मनाया गया। साथ ही रक्तदाताओं को केक खिलाया गया। आईएचटीएम विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. बीएस मीणा ने बताया कि जनवरी माह से अब तक 80 से ज्यादा शिविर आयोजित किए जा चुके हैं। इनमें 25 हजार यूनिट से ज्यादा रक्त का संकलन किया जा चुका है।
चौड़ा रास्ता स्थित ताड़केश्वर मंदिर में आयोजित शिविर में भक्तों ने रक्तदान (Blood donation) किया। शिविर में 52 यूनिट रक्त एकत्र हुआ। बाद में रक्तदाताओं को हेलमेट देकर समानित किया गया।

विश्व रक्तदाता दिवस (World Blood Donor Day) पर शुक्रवार को थैलेसीमिया सहित रक्त संबंधी अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों की मदद के लिए सेवाभावी संगठनों की ओर से रक्तदान शिविर लगाए गए। इनमें 616 यूनिट रक्त एकत्र हुआ। अतिथियों ने कहा कि नियमित रक्तदान से व्यक्ति की इयूनिटी में सुधार के साथ ही हार्ट अटैक का खतरा भी कम होता है।

रक्तदान केवल दूसरों के लिए ही नहीं, बल्कि खुद आपके स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी

रक्तदान (Blood donation) एक ऐसा महान कार्य है जो किसी की जान बचा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि रक्तदान (Blood donation) केवल दूसरों के लिए ही नहीं, बल्कि खुद आपके स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी हो सकता है? जी हां, रक्तदान से न केवल आपकी इम्यूनिटी (प्रतिरक्षा प्रणाली) में सुधार होता है, बल्कि हार्ट अटैक का खतरा भी कम होता है।

इम्यूनिटी में सुधार

रक्तदान (Blood donation) करने से आपके शरीर में नई और ताज़ी रक्त कोशिकाएं बनती हैं। इससे आपकी इम्यूनिटी यानी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली आपको कई बीमारियों से बचाती है और आपकी सेहत को बनाए रखती है।

हार्ट अटैक का खतरा कम

रक्तदान (Blood donation) से शरीर में आयरन (लोहा) की मात्रा नियंत्रित रहती है। अत्यधिक आयरन हार्ट की धमनियों में जमाव पैदा कर सकता है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। नियमित रक्तदान (Blood donation) से आयरन की मात्रा नियंत्रित रहती है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम होता है।

मानसिक संतुष्टि

रक्तदान (Blood donation) करने से मानसिक संतुष्टि भी मिलती है। जब आप जानते हैं कि आपका रक्त किसी की जान बचा सकता है, तो यह सोच आपको मानसिक शांति और खुशी देती है। इससे तनाव कम होता है और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है।
अन्य लाभ
कैलोरी बर्न:
रक्तदान (Blood donation) से आपकी कुछ कैलोरी भी बर्न होती हैं, जो वजन नियंत्रण में सहायक होती हैं।
स्वास्थ्य जांच: रक्तदान (Blood donation) से पहले आपकी स्वास्थ्य जांच भी की जाती है, जिससे आपको अपने स्वास्थ्य की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी मिलती है।

रक्तदान के लिए आवश्यक शर्तें

रक्तदान (Blood donation) करने से पहले कुछ शर्तें होती हैं जिनका पालन करना आवश्यक है:

  • आपकी आयु 18 से 65 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आपका वजन कम से कम 50 किलो होना चाहिए।
  • रक्तदान से पहले और बाद में आपको स्वस्थ महसूस करना चाहिए।
रक्तदान (Blood donation) एक ऐसा कार्य है जो समाज के साथ-साथ आपके खुद के स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी है। यह न केवल आपके इम्यूनिटी में सुधार करता है बल्कि हार्ट अटैक के खतरे को भी कम करता है। इसलिए, जब भी संभव हो, रक्तदान (Blood donation) करें और दूसरों की मदद करें।
रक्तदान कीजिए, स्वस्थ रहिए, और दूसरों को भी स्वस्थ जीवन जीने में मदद कीजिए।

Hindi News/ Health / Blood Donation से बढ़ती है इयूनिटी, हार्ट अटैक का खतरा भी कम

ट्रेंडिंग वीडियो