scriptAlcohol and Cancer Risk : क्या शराब पीने से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है? जानिए विशेषज्ञों की राय | Does drinking alcohol increase the risk of cancer? Know the opinion of experts | Patrika News
स्वास्थ्य

Alcohol and Cancer Risk : क्या शराब पीने से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है? जानिए विशेषज्ञों की राय

Alcohol and Cancer Risk : हाल के अध्ययनों ने पुष्टि की है कि शराब का सेवन विभिन्न प्रकार के कैंसर के जोखिम को काफी बढ़ा सकता है, जिसमें मुंह, गला, लीवर, स्तन और कोलोरेक्टल कैंसर शामिल हैं। यहां तक कि मध्यम मात्रा में पीने से भी कैंसर का जोखिम बढ़ सकता है।

जयपुरJul 05, 2024 / 04:49 pm

Manoj Kumar

Alcohol and Cancer Risk

Alcohol and Cancer Risk

Alcohol and Cancer Risk : शराब के सेवन से उत्पन्न होने वाले एसीटाल्डिहाइड, ऑक्सीडेटिव तनाव और हार्मोनल बदलाव जैसे तंत्रों के माध्यम से यह जोखिम बढ़ता है। इसलिए, इस जोखिम को कम करने के लिए शराब के सेवन को कम करना और स्वस्थ जीवनशैली अपनाना आवश्यक है। विशेषज्ञ की राय जानने के लिए आगे पढ़ें।

शराब का सेवन कैंसर का जोखिम कैसे बढ़ाता है?

शराब कई अंगों के कार्यों को नुकसान पहुंचाती है और कैंसर के जोखिम को बढ़ाती है।

डीएनए को नुकसान: शराब और इसका मेटाबोलाइट, एसीटाल्डिहाइड, कोशिकाओं में डीएनए को सीधे नुकसान पहुंचा सकता है। यह नुकसान म्यूटेशन का कारण बन सकता है जो कैंसर के विकास को बढ़ावा देता है।
हार्मोनल असंतुलन: शराब कुछ हार्मोनों, जैसे एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ा सकता है। बढ़े हुए एस्ट्रोजन स्तर को स्तन कैंसर के बढ़ते जोखिम से जोड़ा गया है।

लीवर को नुकसान: लंबे समय तक शराब का सेवन लीवर सिरोसिस का कारण बन सकता है, जो लीवर कैंसर के लिए एक जोखिम कारक है। सिरोसिस लंबे समय तक लीवर को नुकसान पहुंचाता है, जिससे कैंसर के परिवर्तनों की संभावना बढ़ जाती है।
पोषक तत्वों की कमी: शराब आवश्यक पोषक तत्वों के अवशोषण में बाधा डाल सकती है, जिससे कमियां हो सकती हैं जो शरीर की कोशिकीय क्षति को रोकने और मरम्मत करने की क्षमता को कमजोर कर सकती हैं।
कार्सिनोजेन के अवशोषण में वृद्धि: शराब एक सॉल्वेंट के रूप में कार्य कर सकता है, जिससे तंबाकू जैसे अन्य स्रोतों से कार्सिनोजेन का अवशोषण बढ़ सकता है।

Experts Explain the Link Between Alcohol and Cancer Risk


शराब सेवन से जुड़े कैंसर के प्रकार

मध्यम मात्रा में भी शराब का सेवन कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकता है।

मुंह और गले का कैंसर: शराब मुंह, गला (फैरिंक्स) और वॉयस बॉक्स (लैरिंक्स) के कैंसर के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक है। शराब की मात्रा बढ़ने के साथ जोखिम भी बढ़ता है और तंबाकू का उपयोग करने वाले व्यक्तियों के लिए यह जोखिम और भी अधिक होता है।
अन्नप्रणाली का कैंसर: अन्नप्रणाली के दो मुख्य प्रकार हैं: स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा और एडेनोकार्सिनोमा। विशेष रूप से भारी शराब का सेवन, अन्नप्रणाली के स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है।

स्तन कैंसर: महिलाओं में मध्यम मात्रा में भी शराब का सेवन स्तन कैंसर के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है। शराब एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ा सकता है, जो स्तन में कैंसर कोशिकाओं के विकास को बढ़ावा दे सकता है।
कोलोरेक्टल कैंसर: शराब का सेवन कोलन और रेक्टम के कैंसर के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है। यह जोखिम पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए मौजूद है, और उच्च सेवन स्तरों के साथ जोखिम बढ़ता है।
पेट का कैंसर: कुछ अध्ययन बताते हैं कि शराब का सेवन पेट के कैंसर, विशेष रूप से अन्नप्रणाली के पास के ऊपरी पेट के कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकता है।

शराब सेवन कम करने के लिए क्या करें

शराब के सेवन को कम करना शराब से जुड़े कैंसर के विकास के जोखिम को काफी हद तक कम कर सकता है। यहां कुछ रणनीतियाँ दी गई हैं:
सेवन को सीमित करें: मध्यम पीने के लिए दिशानिर्देशों का पालन करें। महिलाओं के लिए इसका मतलब प्रति दिन एक पेय तक और पुरुषों के लिए प्रति दिन दो पेय तक है।

नियमित स्वास्थ्य जांच: नियमित चिकित्सा जांच और कैंसर की स्क्रीनिंग शुरुआती संकेतों का पता लगाने में मदद कर सकती है, जिससे सफल उपचार की संभावना बढ़ जाती है।
स्वस्थ जीवनशैली: एक स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं जिसमें संतुलित आहार, नियमित व्यायाम और तंबाकू का परहेज शामिल हो, जो शराब के साथ कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकता है।

Hindi News/ Health / Alcohol and Cancer Risk : क्या शराब पीने से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है? जानिए विशेषज्ञों की राय

ट्रेंडिंग वीडियो