CORONA ALERT: कोरोना से ठीक होने के बाद भी छह माह तक रह सकते हैं ये लक्षण

-लैंसेट मैगजीन में हाल ही प्रकाशित शोध में दावा (Recently published research in Lancet magazine claims)
-76 फीसदी लोगों में ठीक होने के बाद भी पाए गए कोरोना के लक्षण

By: pushpesh

Updated: 20 Jan 2021, 07:48 PM IST

भारत सहित कई देशों में शुरू हुए टीकाकरण के बाद कोरोना के प्रकोप पर नियंत्रण की उम्मीद तो बढ़ गई, लेकिन आशंकाएं अब भी बरकरार हैं। अब लैंसेट मैगजीन में प्रकाशित नया अध्ययन डराने वाला है। शोध में दावा किया गया है कि कोरोना से ठीक होने के बाद भी कई रोगियों में छह माह तक इसके लक्षण नजर आ रहे हैं। दावा यहां तक किया गया है कि ठीक होने के बाद 76 फीसदी लोगों में कोरोना का कोई न कोई लक्षण रह जाता है। यह तब था, जब सभी की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी थी।

रूसी वैक्सीन ‘स्पूतनिक-वी’ के लिए भ्रम फैला रहे हैं यूरोपीय देश ?

63 फीसदी में थकान, अनिद्रा और अवसाद
शोध मे पाया गया कि बीमारी से ठीक होने के बाद भी पीडि़तों में थकान, सुस्ती और मांसपेशियों की कमजोरी जैसी शिकायतें आम हैं। लैंसेट की रिपोर्ट में बताया गया है कि शोध में शामिल 63 फीसदी लोगों में मांसपेशियों में दर्द-जकडऩ, थकान, अनिद्रा और अवसाद जैसे लक्षण दिखे।

कोरोना का सच बताने पर चीन ने कैसे इस सिटीजन जर्नलिस्ट पर जुल्म किए

किस उम्र के लोगों को ज्यादा खतरा
इस तरह के लक्षण सभी आयु वर्ग के लोगों में दिखे हैं। लेकिन बुजुर्गों को सबसे ज्यादा सावधानी की आवश्यकता है। कोरोना का तनाव या कम आराम से इसका असर भी लंबे समय तक रह सकता है।

कोरोना वैक्सीन को लेकर आप भी आशंकित हैं, तो इन बातों को जान लीजिए

लापरवाही पड़ सकती है भारी
देखा जा रहा है कि वैक्सीन बनने के बाद लोग लापरवाही बरतने लगे हैं, जो खतरनाक हो सकता है। अभी मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग, फिजिकल डिस्टेंसिंग को बनाए रखना जरूरी है।

Corona virus
Show More
pushpesh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned