scriptCoffee is served vomiting in the cafe, then the guests drink with a straw in indonesia | अनोखा कैफे जहां उल्टी परोसी जाती है कॉफी, उल्टे गिलास से इस तरह पीते हैं गेस्ट | Patrika News

अनोखा कैफे जहां उल्टी परोसी जाती है कॉफी, उल्टे गिलास से इस तरह पीते हैं गेस्ट

locationनई दिल्लीPublished: Sep 19, 2022 02:39:03 pm

Submitted by:

Shaitan Prajapat

आपने फेंटी कॉफी, ब्लैक कॉफी और इंस्टैंट कॉफी के बारे में सुना होगा। आमतौर पर ग्लास में स्ट्रॉ डालकर कॉफी पी जाती है। लेकिन एक ऐसी जगह है, जहां कॉफी को परोसते तो ग्लास में ही हैं, लेकिन सीधा नहीं बल्कि पलटकर रखकर।

Kupi Khop
Kupi Khop

कॉफी दुनिया में सबसे पसंदीदा पेय पदार्थों में से एक है। सिरदर्द, लो ब्लड प्रेशर और फिर वजन कम करने के लिए भी लोग कॉफी का प्रयोग अलग-अलग तरह से करते हैं। आज दुनिया के सभी देशों में कॉफी काफी पसंद किया जाता है। आपने फेंटी कॉफी, ब्लैक कॉफी, इंस्टेंट कॉफी के बारे में तो सुना ही होगा। आज आपको एक अनोखी कॉफी के बारे में बता रहे है। यहां पर गिलास को सीधा नहीं बल्कि उल्टा करके काफी पीते है। इसको एक प्लेट में परोसा जाता है और स्ट्रॉ के जरिए पीते है। आइए जानते है इसके बारे में।

कुपी खोप के नाम है मशहूर


यह अनोखी कॉफी आपको इंडोनेशियाई कैफे के मिलेगी। इस विशेष प्रकार की काफी को कुपी खोप कहा जाता है। जिसको एक गिलास के साथ नहीं पिया जाता है, एक प्लेट में गिलास को उल्टा करके स्ट्रॉ की मदद से धीरे-धीरे पीते है। इसको अपसाइड-डाउन कॉफी के नाम से भी जाना जाता है।

गिलास को प्लेट में पलट सर्व करते है कॉफी


कुपी खोप कॉफी को इंडोनेशिया के आचेह के पश्चिमी तट में परोसा जाता है। इस कॉफी की एक ही खासियत है इसे परोसने का अनोखा अंदाज। कॉफी आमतौर पर गिलास में स्ट्रॉ डालकर पी जाती है। लेकिन कुपी खॉप कॉफी एक कोर्सली ग्राउंड कॉफी है। इसको ग्लास सॉसर के अंदर रखकर इसे प्लेट में उल्टा परोस दिया जाता है। इसके बाद प्लास्टिक के स्ट्रॉ की मदद से धीरे-धीरे पीते है। यहां पर सभी काफी ऐसे ही सर्व की जाती है।

यह भी पढ़ें

यहां खुले में चड्डी सुखाने पर हो सकती है जेल, जानिए अंडरगारमेंट्स से जुड़े 7 अजीबोगरीब कानून



कॉफी परोसने की यह शैली ऐतिहासिक


आपको बता दें कि यह काफी परोसने का नया मार्केटिंग फंडा नहीं है। इस अनोखी कॉफी को सर्व करने का तरीका सदियों पुराना है। इसे वेस्ट आचे रीजेंसी की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत के रूप में आधिकारिक स्वीकृति मिली है। कहा जाता है कि मछली पकड़ने के दौरान कॉफी पीने के लिए एक मछुआरे ने यह तरीका अपनाया था। ऐसे पीने से कॉफी ठंडी नहीं होती थी। साथ ही यह कीड़ों और कीड़ों से भी ढका हुआ था। इसे पीते समय आपको इस बात का खास ख्याल रखना होगा कि गिलास से उतनी ही कॉफी निकलेए जितनी स्ट्रॉ से पिया जा सके। यहां के लोगों को बिना गिलास उठाए कॉफी निकालने की प्रथा है।

यह भी पढ़ें

43 सालों में 53 बार शख्स ने की शादी, विदेशी औरतों को भी बना चुका है पत्नी! बेहद विचित्र है कारण



सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'गद्दार' विवाद के बाद पहली बार गहलोत और पायलट का हुआ आमना-सामना, देखें वीडियोगौतम अडानी ग्रुप को मिला धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट, 5 हजार करोड़ की लगाई थी बोलीगुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार आज खत्म, 1 दिसम्बर को होगी वोटिंगउड़नपरी की एक और बड़ी उड़ानः भारतीय ओलंपिक संघ की पहली महिला अध्यक्ष बनीं पीटी उषासीएम की बहन व YSRTP प्रमुख वाईएस शर्मिला पुलिस हिरासत में, क्रेन से खींची कारगुजरात चुनाव में भाजपा के सबसे अधिक उम्मीदवार हैं करोड़पति, दूसरे पर कांग्रेसआरबीआई एक दिसंबर को लॉन्च करेगा रिटेल डिजिटल रुपयाGujarat Election 2022 : अहमदाबाद जिले में 2044 दिव्यांग एवं बुजुर्गों ने किया मतदान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.