scriptCoronavirus covid-19-infected-cells images out in human body | Coronavirus: कोरोना संक्रमित की पहली बार सामने आई ऐसी तस्वीरें, इसलिए जरूरी है मास्क पहनना | Patrika News

Coronavirus: कोरोना संक्रमित की पहली बार सामने आई ऐसी तस्वीरें, इसलिए जरूरी है मास्क पहनना

-Coronavirus: दुनिया में कोरोना ( Covid-19 Virus ) का खतरा बढ़ता जा रहा है।
-अब तक 2 करोड़ 92 लाख से ज्यादा लोग इस लाइलाज बीमारी से संक्रमित हो चुके हैं।
-विभिन्न देशों में कोरोना की वैक्सीन ( Covid-19 Vaccine ) की खोज जारी है, तमाम वैज्ञानिक और डॉक्टर्स लगातार कोरोना पर रिसर्च कर रहे हैं।
-इसी बीच अब दुनिया में पहली बार कोरोना संक्रमित कोशिकाओं की तस्वीरें सामने आई हैं।

नई दिल्ली

Published: September 14, 2020 03:38:16 pm

नई दिल्ली।
Coronavirus: दुनिया में कोरोना ( COVID-19 virus ) का खतरा बढ़ता जा रहा है। अब तक 2 करोड़ 92 लाख से ज्यादा लोग इस लाइलाज बीमारी से संक्रमित हो चुके हैं। जबकि, 9 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। विभिन्न देशों में कोरोना की वैक्सीन ( Covid-19 Vaccine ) की खोज जारी है, तमाम वैज्ञानिक और डॉक्टर्स लगातार कोरोना पर रिसर्च कर रहे हैं। इसी बीच अब दुनिया में पहली बार कोरोना संक्रमित कोशिकाओं की तस्वीरें सामने आई हैं। इन तस्वीरों के जरिए विशेषज्ञों ने कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए मास्क को भी जरूरी बताया है। न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसीन ( Coronavirus Infected Cells Images ) में इन तस्वीरों को रंगीन प्रकाशित किया गया है।

Coronavirus covid-19-infected-cells images out in human body
Coronavirus: कोरोना पॉजिटिव इंसान की पहली बार सामने आई ऐसी तस्वीरें, इसलिए जरूरी है मास्क पहनना

अब कोरोना ने प्लेट्लेट्स पर बोला हमला! डेंगू की तरह शरीर में कम हो रही इनकी संख्या

covid-19_virus_01.jpg

पहली बार सामने आई तस्वीरें
वैज्ञानिकों ने प्रयोगशाला में विकसित श्वसन तंत्र की कोशिकाओं को संक्रमित करने के बाद कोशिकाओं की तस्वीरें ली गई, जो कि फेफड़ों के अंदर प्रति कोशिका उत्पन्न होने वाले वायरस कणों की संख्या का वर्णन करते हैं। वैज्ञानिकों ने कहा कि जब कोरोना वायरस के संक्रमित शक्ल को छोड़ा गया तो तस्वीर पूरी तरह साफ हो जाती है।

इसके लिए इंसान के लंग की कोशिकाओं में कोरोना वायरस को छोड़ा गया, उसके बाद उन्होंने 96 घंटे तक कोशिकाओं का अध्ययन किया। इसके लिए उन्होंने उच्च क्षमता वाली स्कैनिंग इलेक्ट्रोन माइक्रोस्कोप तकनीक की मदद ली। इस तस्वीर में कोविड-19 के घनत्व और ढांचे का पता चलता है। तस्वीर बताती है कि मानव श्वसन तंत्र के अंदर प्रति कोशिका वाइरन की तादाद कैसे पैदा होती है और छोड़ी जाती है।

China में इंसान ने बनाया Coronavirus? चीनी वैज्ञानिक ने किया खुलासा, कहा- मेरे पास ठोस सबूत

covid-19_virus_02.jpg

यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलिना ( UNC ) चिल्ड्रन्स रिसर्च इंस्टीट्यूट के कैमिल एहरे सहित शोधकर्ताओं ने इन तस्वीरों को यह बताने के लिए लिया है कि श्वसन तंत्र का SARS-CoV-2 संक्रमण बहुत ही ग्राफिक और आसानी से समझी जाने वाली छवियों में कैसे हो सकता है। बता दें कि वायरल लोड तय करता है कि दूसरों तक वायरस ट्रांसमिशन की फ्रीकवेंसी कितनी है।

शोधकर्ताओं ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस की तस्वीर मास्क के इस्तेमाल की अहमियत को उजागर करती है। जिससे कोविड-19 के फैलाव को रोका जा सके। तस्वीर में मानव श्वसन की सतह पर कोविड-19 के अंशों की बड़ी संख्या नजर आती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.