scriptgatipalli shivpal becomes indias first dwarf to get driving licensen | ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने वाला देश का पहला बौना व्यक्ति, लिम्का बुक में नाम दर्ज | Patrika News

ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने वाला देश का पहला बौना व्यक्ति, लिम्का बुक में नाम दर्ज

हैदराबाद का एक 42 वर्षीय व्यक्ति ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने वाला भारत का सबसे छोटा व्यक्ति बन गया है। करीब तीन फीट के गट्टीपल्ली शिवपाल (Gatipalli Shivpal) ने तेलंगाना के करीमनगर जिले से लाइसेंस हासिल करने के लिए तमाम मुश्किलों को पार कर लिया है।

नई दिल्ली

Published: December 06, 2021 02:55:58 pm

नई दिल्ली। हैदराबाद का एक 42 वर्षीय व्यक्ति ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने वाला भारत का सबसे छोटा व्यक्ति बन गया है। करीब तीन फीट के गट्टीपल्ली शिवपाल (Gatipalli Shivpal) ने तेलंगाना के करीमनगर जिले से लाइसेंस हासिल करने के लिए तमाम मुश्किलों को पार कर लिया है। शिवपाल को भारत में ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने वाले सबसे कम उम्र के व्यक्ति बनने की उपलब्धि के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स (The Limca Book of Records) में नामांकित किया गया है। शिवपाल ने कहा कि मेरी ऊंचाई के कारण लोग मुझे चिढ़ाते थे और आज मैं द लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और कई अन्य लोगों के लिए नामांकित हूं। कई छोटे लोग मुझसे ड्राइविंग प्रशिक्षण के लिए संपर्क कर रहे हैं।

Gatipalli Shivpal
Gatipalli Shivpal


वीडियो को देखकर किया कार में बदलाव
शिवपाल ने ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने के अपने सफर को साझा किया। उन्होंने कहा कि अमेरिका के एक व्यक्ति द्वारा इंटरनेट पर अपलोड किए गए एक वीडियो ने उन्हें एक कार में आवश्यक संशोधनों को समझने में मदद की। इससे वह अपने कद के व्यक्ति के लिए इसे चलाने योग्य बना सके। इसके बाद शिवपाल ने अपनी कार में कुछ बदलाव किए हैं। उन्होंने गाड़ी की सीट और अन्य उपकरणों को अपनी ऊंचाई तक बदलाव किया। इसके बाद शिवपाल ने गाड़ी चलाना सीखने के लिए अपने एक दोस्त की मदद ली।

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए किया काफी संघर्ष
शिवपाल को ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। परिवहन विभाग के पास ऊंचाई के लिए कुछ दिशानिर्देश थे जिसके कारण वे लाइसेंस प्राप्त करने में विफल रहे। अधिकारियों से अपील करने के बाद शिवपाल ने तीन महीने के लिए एक लर्नर लाइसेंस प्राप्त किया और फिर एक स्थायी लाइसेंस प्राप्त किया जिसमें उनके पास एक अधिकारी बैठे थे।

यह भी पढ़ें

Aadhaar Card : UIDAI ने जनता की दी बड़ी राहत, अब कहीं पर भी डाउनलोड करें आधार कार्ड

लोग करते थे भद्दे कमेंट
शिवपाल ने आगे बताया कि आने-जाने के लिए जब भी वे कैब बुक करता थे, तो वे सवारी रद्द कर देते थे। जब मैं अपनी पत्नी के साथ बाहर जाता था, तो लोग भद्दे कमेंट्स करते थे। तभी मैंने एक कार खरीदने और उस पर सवारी करने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि हर किसी में कुछ न कुछ दोष होता है, लेकिन अपनी छिपी प्रतिभा को ढूंढना और उसे हासिल करना ही मायने रखता है।

यह भी पढ़ें

Aadhaar Card: आधार में एड्रेस अपडेट करना हुआ कठिन, UIDAI ने नियमों में किया ये बदलाव

विकलांग लोगों के लिए खोलेेंगे ड्राइविंग स्कूल
शिवपाल अब अगले साल विकलांग लोगों के लिए एक ड्राइविंग स्कूल शुरू करने की योजना बना रहा है। शिवपाल फिलहाल एक प्राइवेट कंपनी के साथ काम कर रहे हैं। बिना लाइसेंस के शिवपाल अपना वाहन नहीं खरीद सकते थे। उन्हें घूमने के लिए सार्वजनिक परिवहन पर निर्भर रहना पड़ा। वह अपने परिवार में भाई-बहनों में इकलौते बौने व्यक्ति हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पार23 को एमपीपीएससी की परीक्षा, पसोपेश में कोरोना संक्रमित अभ्यर्थीUP Election 2022 : SP-RLD गठबंधन को लगा तगड़ा झटका, अवतार सिंह भड़ाना नहीं लड़ेंगे चुनावजिला निष्पादक समीक्षा समिति की बैठक आयोजित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.