पिता के निधन के बावजूद भी निभाया अपना फर्ज, बिना छुट्टी लिए जनता की सेवा में लगे रहे कटक के डीएम

  • कटक ( Cuttack ) के जिलाधिकारी भबानी शंकर चैनी ( Bhabani Shankar Chayani ) पिता का निधन होने के बावजूद अवकाश लिये बिना लॉकडाउन में भी अपनी ड्यूटी पर तैनात रहे।

By: Piyush Jayjan

Published: 09 Apr 2020, 09:34 AM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने पिछले कुछ दिनों में भारत में तेजी से अपने पांव पसारे है। इसकी का नतीजा है कि अभी तक भारत में कोरोना के 5000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके है। लेकिन इस मुश्किल की घड़ी में भी कई लोग हमारे समाज के लिए मिसाल बन रहे हैं।

दरअसल कटक ( Cuttack ) के जिलाधिकारी भबानी शंकर चैनी ( Bhabani Shankar Chayani ) अपने पिता ( Father ) का निधन होने के बावजूद छुट्टी लिये बिना कोविड-19 ( COVID-19 ) के खिलाफ लड़ाई में सहयोग कर लोगों को प्रेरित कर रहे हैं।

सांस लेने और बोलने से भी फैल सकता है कोरोना का संक्रमण, जानें कैसे

कटक के जिलाधिकारी के पिता और पूर्व अधिकारी दामोदर चैनी का मंगलवार को निधन हो गया जबकि उनका बेटा शहर में कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए अपनी ड्यूटी पर तैनात था। राज्य सरकार के प्रवक्ता सुब्रतो बागची ने भी कटक के जिलाधिकारी की सराहना की।

सुब्रतो बागची ने कहा कि इस मुश्किल वक़्त में चैनी ने पारिवारिक शोक के बावजूद जनता की सेवा को तरजीह दी। चैनी के शब्दों को बयां करते हुए बागची ने कहा, 'मेरे पिता अक्सर कहा करते थे कि अधूरा काम कोई काम नहीं होता और उनकी हिम्मत देने वाली बातों ने ही शोक के समय में भी अपना काम पूरा करने में जुटे रहने की ताकत दी।

सिर्फ 93 रुपए में बेचा जा रहा था ये आलीशन घर, जाने इसके पीछे की कहानी

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ( Naveen Patnaik ) ने भी कटक के जिलाधिकारी के पिता के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया, उन्होंने ट्वीट करके ऐसे पारिवारिक शोक के समय में भी बिना अवकाश लिए अपना फर्ज निभाने को लेकर जिलाधिकारी की प्रशंसा की।

coronavirus COVID-19
Piyush Jayjan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned