Khajrana Ganesh Mandir Indore खजराना गणेश मंदिर में दर्शन के लिए विशेष व्यवस्था, ऐसे मिलेगी एंट्री

भक्तों के दर्शन के लिए गणेश उत्सव में 2 साल बाद खुले खजराना मंदिर में खास तैयारी, 51 हजार मोदक का भोग

By: deepak deewan

Published: 11 Sep 2021, 09:11 AM IST

इंदौर. चतुर्थी पर गणेशजी की स्थापना के साथ ही हर ओर गणेश उत्सव की धूम मच चुकी है. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सबसे विख्यात गणेश मंदिर इंदौर (Indore) के खजराना गणेश मंदिर में खास तैयारियां की जा रहीं हैं. खजराना में भक्तों को गणेशजी के दर्शन 2 साल बाद हो रहे हैं. ऐसे में भक्तों में अधिक उत्साह नजर आ रहा है.

गणेश उत्सव के दौरान यहां रोज महाआरती होगी. गणेशजी को लड्डूओं का भोग लगाया जाएगा और भजन संध्या आयोजित की जाएगी. इस मौके पर पूर परिसर की विशेष तौर पर सजावट की जा रही है. भगवान गणेशजी के इस मंदिर के गर्भ गृह को प्राकृतिक फूलों से सजाया गया है. इसके साथ ही मंदिर के बाहरी हिस्से में भी आकर्षक सजावट की गई है.

नशे में मंदिर पहुंचा पूर्व मंत्री का भतीजा, पंडितों व सुरक्षा गार्ड के साथ बदसलूकी की, जमकर मचाया उत्पात

खजराना के मोदक बहुत प्रसिद्ध हैं. इस बार गणेशजी को 51 हजार मोदक का भोग लगाया जा रहा है. इसके लिए 1251 किलो की खाद्य सामग्री से मोदक बनाए गए हैं. 4 क्विंटल मैदा, 2 क्विंटल तिल, 1 क्विंटल मूंगफली दाना से तैयार किए ये मोदक करीब 15 दिनों तक खराब नहीं होंगे. मोदक बनाने में साढ़े 3 क्विंटल शुद्ध देशी घी के साथ 50 किलो ड्राई फ्रूट का इस्तेमाल भी किया गया है.

mandir.jpg

मंदिर में गणेश उत्सव की भव्य तैयारियां की गई हैं. इस मौके पर गणेशजी का भव्य श्रृंगार भी किया जाएगा. भगवान गणेश व उनकी पत्नी रिद्धि-सिध्दि को करोड़ों रुपए के जेवर पहनाए जाएंगे. बताया जा रहा है कि गणेश व रिद्धि-सिध्दि को इस बार करीब ढाई करोड़ के हीरे मोती तथा सोने के गहने पहनाए जाएंगे. इन गहनों की सुरक्षा के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं.

न तन पर कपड़े, न रहने का ठिकाना पर यही अघोरी बाबा उठाते हैं महाकाल सवारी का खर्च

गणेश उत्सव के मौके पर खजराना गणेश 2 साल बाद भक्तों को दर्शन देनेवाले हैं. इस कारण गणेशजी का आशीर्वाद लेने के लिए मंदिर में भक्तों की खासी भीड़ उमड़ने का अनुमान है. इसके लिए प्रबंधन ने बड़ी तैयारियां की हैं. मंदिर में भक्तों को प्रवेश के लिए कई नई व्यवस्थाएं की गई हैं. साथ ही कोविड गाइडलाइन के पालन की हिदायत दी गई है. बिना मास्क के मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

घने जंगल और गुफा में गूंजते मंत्रों के बीच होंगे दर्शन, महाकाल में अनूठा प्रयोग

इस बार श्री गणेश को 51 हजार शुद्ध देसी घी से बने मोदक का भोग लगाया जाएगा. मंदिर के मुख्य पुजारी पंडित अशोक भट्ट ने बताया कि इसके लिए पिछले तीन दिनों से मंदिर परिसर में ही तैयारी की जा रही है. पिछले साल कोरोना को देखते हुए सिर्फ 5 हजार लड्डुओं का भोग लगाया गया था. लेकिन, इस बार 51 हजार मोदक का भोग भगवान गणेश जी को अर्पित किया जाएगा.

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned