weather news : मुंबई से बदली हवाओं की दिशा, पश्चिमी मध्यप्रदेश को करना पड़ेगा बारिश का इंतजार

मालवा-निमाड़ को तेज बारिश का इंतजार...हवाओं की दिशा बदलने से भटका मानसून...20 जून तक मानसून के पहुंचने की संभावना..

By: Shailendra Sharma

Updated: 15 Jun 2021, 07:34 PM IST

इंदौर. मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में भले ही मानसून के आने से अच्छी बारिश हो रही है लेकिन अभी भी प्रदेश का पश्चिमी हिस्सा मानसून का इंतजार कर रहा है। यहां तेज बारिश के लिए अभी लोगों को और कुछ दिनों तक इंतजार करना पड़ सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक मुंबई से चला मानसून हवाओं की दिशा बदलने से भटक गया है और हरियाणा पहुंच गया है। वहीं छत्तीसगढ़ की तरफ से आने वाला मानसून भी रफ्तार कम होने की वजह से पश्चिमी मध्यप्रदेश तक नहीं पहुंच पाया है।

ये भी पढ़ें- 16, 17 और 18 जून को भारी बारिश के आसार, बन गया है ऊपरी हवा का चक्रवात

monsoon_2.jpg

मालवा-निमाड़ को बारिश का इंतजार
पूर्वी मध्यप्रदेश पर तो मानसून मेहरबान है लेकिन पश्चिमी मध्यप्रदेश यानि मालवा निमाड़ में अभी भी मानसून की बेरुखी बनी हुई है। जिसके कारण एक तरफ जहां सागर-भोपाल सहित पूर्वी मध्यप्रदेश में झमाझम बारिश हो रही है तो वहीं दूसरी तरफ मालवा-निमाड़ के इंदौर, देवास, उज्जैन आदि जिलों में अभी भी तेज बारिश का इंतजार है। उम्मीद थी कि 13 जून को मानसून निमाड़ के रास्ते इंदौर पहुंचेगा लेकिन रास्ता भटकने से अब तक मानसून यहां नहीं पहुंचा है। मौसम विज्ञानिकों का कहना है कि अरब सागर से मुंबई होते हुए मानसून के बड़वानी और बुरहानपुर के रास्ते इंदौर सहित पूरे मालवा में सक्रिय होने के आसार थे लेकिन तूफानों के कारण हवाओं में बार-बार बदलाव हो रहा है जिसके कारण मानसून मुंबई से अरावली की पहाड़ियों से गुजरात के दाहोद, राजस्थान-मध्यप्रदेश की बॉर्डर से होते हुए हरियाणा पहुंच गया है। अब यूपी की ओर रूख कर रहा है। इसी कारण इंदौर सहित मालवा-निमाड़ में बारिश नहीं हो रही है। वहीं दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ की तरफ से आने वाला मानसून जबलपुर, छिंदवाड़ा, बालाघाट, भोपाल, सागर तक फैल चुका है और उसकी रफ्तार भी धीमी पड़ गई है जिसके कारण वो भी मालवा तक नहीं पहुंच पा रहा है।

ये भी पढ़ें- 30 मिनिट में दो चेन स्नेचिंग, सुराग देने वालों को मिलेगा 20 हजार रुपए का इनाम

20 जून तक दस्तक दे सकता है मानसून
मौसम विभाग की मानें तो मालवा-निमाड़ में मानसून की एंट्री अरब सागर से आने वाली नमी से होती है। अभी गुजरात में भी तापमान अधिक है और वहां भी मानसून सक्रिय नहीं हुआ है जिसके कारण इंदौर सहित आसपास के जिलों को भी मानसून का इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि इस बात की संभावना भी मौसम विज्ञानिक जता रहे हैं कि 20 जून तक यहां मानसून दस्तक दे सकता है।

देखें वीडियो- सिस्टम से लाचार ग्रामीणों का दर्द बयां करती तस्वीर

weather update
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned