9 करोड़ लोगों ने नए टैरिफ नियमों को अपनाया : TRAI

9 करोड़ लोगों ने नए टैरिफ नियमों को अपनाया : TRAI

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Feb, 10 2019 02:48:52 PM (IST) इंडस्‍ट्री

देश में 17 करोड़ में से 9 करोड़ भी अधिक टीवी ने भारतीय दूरंसचार प्राधिकरण के नए टैरिफ नियमों को अपना लिया है। इस बात की जानकारी ट्रार्इ प्रमुख आर एस शर्मा ने दिया है।

नर्इ दिल्ली। देश में 17 करोड़ में से 9 करोड़ भी अधिक टीवी ने भारतीय दूरंसचार प्राधिकरण के नए टैरिफ नियमों को अपना लिया है। इस बात की जानकारी ट्रार्इ प्रमुख आर एस शर्मा ने दिया है। शर्मा ने कहा कि ट्रार्इ नए नियमों को लेकर लगातार नजर बनाए हुए है। उन्होंने आगे कहा, "हमारे पास मौजूद आंकड़ों के मुताबिक नए नियमों को लोग तेजी से अपना रहे हैं। हमें उम्मीद है कि बाकी लोग भी तेजी से इस नियम के तहत आएंगे।" ब्राॅडकास्टिंग आैर केबल सेवआें को हेड कर रहे शर्मा ने कहा कि इतने कम समय में 9 करोड़ लोगों द्वारा इस निए नियम को अपनाना अभूतपूर्व है।


लोगों को अवगत कराने के लिए बड़े स्तर पर विज्ञापन कैंपेन

शर्मा ने आगे जानकारी दी कि 17 करोड़ टीवी होम्स में 7 करोड़ डीटीएच व 10 करोड़ केबल टीवी होम्स हैं। चूंकि डीटीएच प्रीपेड माॅडल पर अाधारित है, एेसे में जिनका सब्सक्रिप्शन लंबी अवधि का है, वो अपना सब्सक्रिप्शन खत्म होने के बाद नए नियमों को पालन करेंगे। उन्होंने आगे कहा, "हमे आॅपरेटर्स को लगातार गाइड व मदद कर रहे हैं। कर्इ बातों को समझाने के लिए हम लगातार मीटिंग्स कर रहे हैं।" यह नियामक कस्टमर आउटरीच व अवेयरनेस प्रोग्राम को लेकर भी प्रयास में जुटा हुआ है। आगे भी सोशल मीडिया, प्रिंट, विज्ञापन आैर जिंग्लस के माध्यम से अवेयरनेस कैंपेन चलाएगा।


आपॅरेटर्स दे सकते हैं छूट

पिछले सप्ताह ही सेक्टर नियामक ने प्लेटफाॅर्म आॅपरेटर्स को एक से अधिक टीवी कनेक्शन्स वाले घरों के लिए स्पेशन स्कीम्स को लेकर रिवर्ट करने का आदेश दिया था। ट्रार्इ ने साफ कर दिया है कि सभी टीवी के लिए एक-एक सेट टाॅप बाॅक्स की जरूरत होगी। इससे लोगों को हर टीवी के लिए विभिन्न चैनल्स चुनने की आजादी रहेगी। नियमों के मुताबिक, अाॅपरेटर्स डिस्काउंट्स भी दे सकते हैं। साथ ही नेटवर्क कैपेसिटी के अाधार पर अधिकतम 130 रुपए का छूट दे सकते हैं। लेकिन इस तरह के छूट सभी को देनी होगी व पूरी तरह से पारदर्शितका ख्याल रखना होगा।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned