भारत में यात्रियों से सबसे अधिक दुर्व्यवहार करते हैं एयरलाइन स्टाफ, इन बातों की भी होती है सबसे अधिक परेशानी

भारत में यात्रियों से सबसे अधिक दुर्व्यवहार करते हैं एयरलाइन स्टाफ, इन बातों की भी होती है सबसे अधिक परेशानी

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Mar, 17 2019 07:28:43 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • हवाई यात्रा के दौरान विमान के स्टाफ करते हैं यात्रियों से दुर्व्यवहार।
  • सामान खोना भी यात्रियों की प्रमुख समस्या।
  • टिकटिंग व रिफंड से भी पेरशान रहते हैं हवाई यात्री।

नई दिल्ली। हवाई यात्रियों द्वारा उड़ान के दौरान उनको होने वाले परेशानियों के बारे में जानकारी सामने आई है। सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के मुताबिक, हवाई यात्रियों को सबसे अधिक परेशानी एयरलाइन स्टाफ के व्यवहार से होती है। वहीं, दूसरे नंबर हवाई यात्रियों को होने वाली परेशानी में उनका सामान खोना है। यात्रियों का सामान सेंट्रलाइज्ड पब्लिक ग्रीवांस रिड्रेस एंड मॉनिटरिंग सिस्टम (CPGRAM) के दौरान होती है।


इन शिकायातों की रही भरमार

सिविए एविएशन मंत्रालय के मुताबिक, यात्रियों से ढंग से व्यवहार न करने के कुल 3,524 मामले सामने आए हैं। वहीं सामान खोने को लेकर कुल 1,822 मामले सामने आए हैं। यात्रियों द्वारा हवाई सेवा को लेकर जो तीसरी सबसे बड़ी समस्या रही वो टिकटिंग/किराया/रिफंड को लेकर रही। इनके कुल 1,011 मामले सामने आए।


11 साल पहले किया गया था स्थापित

बता दें कि CPGRAM एक ऑनलाइन सिस्टम है जिसका मूल उद्देश्य यात्रियों की तरफ से की गई शिकायतों को सही समय पर सुलझाना है। यह मंत्रालय, डिपार्टमेंट या केंद्रीय बैंक की संस्थाओं की मदद से पूरा किया जाता है। इसे केंद्र सरकार ने 2007-08 में स्थापित किया था।


हालांकि, विमान कंपनियों के आधार पर मिलने वाले कुल शिकायतों को लेकर कोई डेटा CPGRAM के पास नहीं होता है। पिछले साल ही, सिविल एविएशन मंत्रालय ने पार्लियामेंटरी स्टैंडिंग कमेटी को जानकारी दिया था कि यात्रियों द्वारा की गई शिकायतों को व्यवस्थित सिस्टम के तहत निपटारा किया जाता है। हालांकि, बीते 21 दिसंबर को ही इस कमेटी ने कहा था कि मंत्रालय को इस व्यवस्था मेें अधिक हस्तक्षेप करने की आवश्यकता है। कमेटी ने कहा था की मंत्रालय को इस बात का भी ध्यान देना चाहिए कि क्या यात्रियों की समस्य को सही समय पर निपटाया जा रहा है या नहीं। साथ ही यदि कोई विमान कंपनी ऐसा नहीं करती तो इसके लिए उसे दंडित भी किया जाना चाहिए।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned