फेस्टिव सीजन शुरू होने से पहले बढ़ी व्हीकल की डिमांड, सितंबर में इतनी हो गई गाडिय़ों की बिक्री

  • सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री में 26 फीसदी का इजाफा देखने को मिला
  • दुपहिया वाहनों की बिक्री में भी करीब 12 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली

By: Saurabh Sharma

Updated: 16 Oct 2020, 12:25 PM IST

नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के बीच लॉकडाउन खुलने और निजी परिवहन की मांग बढऩे से सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री में 26 फीसदी का इजाफा देखने को मिला हैै। दुपहिया वाहनों की बिक्री में भी करीब 12 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है। ताज्जुब की बात तो ये है कि सबसे बिक्री और डिमांड गांवों की ओर से देखने को मिल रही है। आपको बता दें कि ऑटो सेक्टर काफी समय से मंदी के दौर से गुजर रहा था। उसके बाद कोरोना वायरस लॉकडाउन ने इस सेक्टर की और कमर तोड़ दी। अब बीते दो महीने से ऑटो सेक्टर के आंकड़ें बेहतर आरने शुरू हो गए हैं।

यह भी पढ़ेंः- भारत का चीन को एक और झटका, एयर कंडीशनर के इंपोर्ट पर पाबंदी

पैसेंजर व्हीकल के आंकड़ों में इजाफा

passenger-vehicle.jpg

वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम के अध्यक्ष और मारुति सुजुकी इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी केनिची आयुकावा ने संगठन के महानिदेशक राजेश मेनन के साथ बिक्री के आंकड़े जारी किए। सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री 26.45 फीसदी बढ़कर 2,72,027 इकाई पर पहुंच गई। पिछले साल सितंबर में 2,15,124 यात्री वाहन बिके थे। यात्री वाहनों में कारें, उपयोगी वाहन और वैन हैं। कारों की बिक्री 28.92 फीसदी बढ़कर 1,63,981 पर, उपयोगी वाहनों की बिक्री 24.50 फीसदी बढ़कर 96,633 पर और वैनों की बिक्री 10.64 फीसदी बढ़कर 11,413 फीसदी पर पहुंच गई।

यह भी पढ़ेंः- मात्र 30 मिनट में इस कंपनी ने गंवाए 12500 करोड़ रुपए, क्या रही वजह

दुपहिया वाहनों की बिक्री में तेजी

bike_sale.jpg

दुपहिया वाहनों की बिक्री 11.64 फीसदी बढ़कर 18,49,546 इकाई हो गई। इसमें मोटरसाइकिलों की बिक्री में 17.30 फीसदी की वृद्धि हुई और सितंबर 2019 के 10,43,621 मोटरसाइकिलों की तुलना में इस साल सितंबर में 12,24,117 यात्री वाहना बिके। स्कूटरों की बिक्री में 0.08 फीसदी की मामूली वृद्धि हुई और इसका आंकड़ा 5,56,205 पर रहा। आयुकावा ने कहा कि अभी ग्रामीण इलाकों से अधिक मांग आ रही है, लेकिन त्योहारी मौसम में शहरी मांग के भी जोर पकडऩे की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि बीएस-6 उत्सर्जन मानक लागू करने का पूरा फायदा तभी मिलेगा जब पुराने वाहनों को सड़क से हटाने के लिए सरकार आकर्षक स्क्रैपेज नीति लेकर आएगी।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned