शराब माफिया पर शिकंजा : तालाब के पानी को सड़ाकर बनाते थे नकली शराब, इस तरह रखते थे छिपाकर

32 ड्रम नकली शराब की गई नष्ट।

By: Faiz

Published: 10 Dec 2020, 09:11 PM IST

जबलपुर/ मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले के पनागर स्थित घने जंगल में गुरुवार को आबकारी विभाग और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में नकली कच्ची शराब की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। टीम द्वारा जंगल में दो स्थानों पर दबिश डालने के बाद 32 ड्रम महुआ लहन पकड़कर उसे नष्ट किया। बता दें कि, आरोपी बड़े ही शातिराना ढंग से जंगल में नकली शराब का कारोबार कर रहे थे। वो जंगल के बीच बने तालाब के पानी महुआ सड़ाते थे। वहीं, तैयार नकली शराब को ड्रमों में भरकर घनी झाड़ियों के बीच छुपा दिया करते थे। आबकारी टीम का दावा है कि, कार्रवाई में 2.70 लाख रुपए की कीमत की कच्ची शराब नष्ट की गई है।

 

पढ़ें ये खास खबर- 9वीं से 12वीं तक की क्लासेज खुलने पर दो-तीन दिन में फैसला, लोक शिक्षण आयुक्त ने कहा- नए आदेश जारी होंगे


जंगल में बन रही थी शराब

news

जिले में अवैध रूप से बनने वाली कच्ची शराब का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। प्रशासन की सख्ती के बावजूद शराब माफिया बैखोफ होकर कारोबार में लिप्त हैं। आबकारी विभाग ने को गुरुवार को सूचना मिली कि, पनागर के ककरहाई क्षेत्र वाले जंगल में नकली शराब बनाने का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। टीम ने पुलिस के साथ मिलकर इलके में दबिश दी। कंट्रोल रूम प्रभारी जीएल मरावी की अगुवाई में टीम जंगल पहुंची, तो वहां दो स्थानों पर झाड़ियों में छिपाए गए 32 ड्रम मिले। सभी ड्रम में महुआ सड़ाया जा रहा था। इसी से कच्ची शराब तैयार की जाती है।

 

पढ़ें ये खास खबर- शाम को ले जानी थी बेटे की बारात, सुबह रेलवे ट्रैक पर मिला पिता का शव

 

भाग निकले आरोपी

जंगल में कच्ची शराब बनाने वाले आरोपी पुलिस की दबिश पड़ते ही घने जंगल के रास्ते भाग निकले। टीम ने मौके से तीन हाथ भट्‌ठी, 140 लीटर तैयार कच्ची शराब जब्त की। वहीं, 32 ड्रम महुआ नऩ्ट किया है। विभाग द्वारा 12 लोगों के खिलाफ मामले दर्ज भी किये हैं। बता दें कि, टीम ट्वारा जब्त की गई कच्ची शराब की कीमत 14 हजार रुपए बताई जा रही है।

 

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की गाड़ी पर पथराव - video

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned