जयपुर में मानव तस्करी विरोधी यूनिट की कार्रवाई, 15 बच्चे कराए मुक्त, दो गिरफ्तार

( jaipur crime news ) भट्टाबस्ती थाना इलाके के एक मकान में चल रहे चूड़ी बनाने के कारखाने से बुधवार को 15 बच्चों को ( child labor in Jaipur) मुक्त कराया गया है। पुलिस ( jaipur police ) ने बताया कि एनजीओ और दूसरे लोगों के जरिए सूचना मिल रही थी कि कुछ लोग झारखंड और बिहार से छोटे बच्चों को लाकर उनसे चूड़ी के कारखाने में मजदूरी करवा रहे हैं।

abdul bari

November, 0701:25 AM

जयपुर

भट्टाबस्ती थाना इलाके के एक मकान में चल रहे चूड़ी बनाने के कारखाने से बुधवार को 15 बच्चों को ( Child Labor in Jaipur) मुक्त कराया गया है। दो एनजीओ और पुलिस के मानव तस्करी विरोधी यूनिट ( Anti Human Trafficking Unit ) ने पुलिस के सहयोग से इस कार्रवाई को अंजाम देते हुए कारखाना संचालकों को गिरफ्तार किया गया है। मुक्त कराए गए बच्चे झारखंड और बिहार के हैं।

यह है पूरा मामला ( Jaipur crime news )

पुलिस ( jaipur police ) ने बताया कि एनजीओ और दूसरे लोगों के जरिए सूचना मिल रही थी कि कुछ लोग झारखंड और बिहार से छोटे बच्चों को लाकर उनसे चूड़ी के कारखाने में मजदूरी करवा रहे हैं। इस पर प्रयास संस्था की भूपेंद्र कौर, बचपन बचाओ संस्था की पार्वती और ओमप्रकाश, मानव विरोधी तस्करी यूनिट की अनिता के संयुक्त प्रयास और भट्टाबस्ती पुलिस के सहयोग से कारखाने पर दबिश दी गई तो यहां पर 7 से 13 साल के बच्चे मजदूरी करते मिले। इसके बाद पुलिस ने कारखाना संचालक मोहम्मद खुर्शीद और मोहम्मद आजाद को गिरफ्तार कर लिया गया। बच्चों को सीडब्ल्यूसी के सामने पेश कर एनजीओ की देखरेख में रखा जाएगा।


कई बच्चों को मजदूरी का पता ही नहीं

प्रयास की भूपेंद्र कौर ने बताया कि कई बच्चे तो इतने छोटे हैं कि उनको यह भी नहीं पता कि वे कर क्या रहे हैं। बच्चे कई दिनों से नहाए हुए भी नहीं थे। उनको सुबह जल्दी ही कारखाने में बिठा दिया जाता था और देर रात तक चूड़ी बनाने का काम चलता था। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह खबरें भी पढ़ें...

घर नहीं लौटा किसान तो परिजनों ने शुरू की तलाश, रेलवे लाईन पर कटा हुआ मिला शव


बाइक पर सवार थे पांच लोग, बेकाबू होकर पेड़ से टकराई, चाचा-भतीजे की मौत, तीन घायल


दोस्त की बहन को बनाया दरिंदे ने शिकार, होटल में ले जाकर किया बलात्कार

Show More
abdul bari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned