राजस्थान के 14 जिलों के लिए चेतावनी जारी, तेज बारिश के साथ आ सकता है अंधड़

राजस्थान के 14 जिलों के लिए चेतावनी जारी, तेज बारिश के साथ आ सकता है अंधड़

abdul bari | Publish: Aug, 03 2019 01:59:14 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

( Heavy Rain in Rajasthan ) मानसून ( monsoon 2019 ) का दूसरा चक्र ज्यादा सक्रिय हो गया है। जिससे अगले 24 घंटे के दौरान अच्छी बारिश के संकेत नजर आने लगे हैं। इधर मौसम विभाग भी लगातार चेतावनी जारी कर प्रदेश के 14 जिलों के लिए भारी बारिश आने की आंशका जता रहा है। चेतावनी ( Heavy rain warning in rajasthan ) के अनुसार प्रदेश में आगामी पांच दिन के दौरान कई जगह तेज बारिश के साथ अंधड़ भी आ सकता है।

जयपुर

प्रदेश में स्थानीय स्तर बने कम दवाब के क्षेत्र के कारण मानसून ( monsoon 2019 ) का दूसरा चक्र ज्यादा सक्रिय हो गया है। जिससे अगले 24 घंटे के दौरान अच्छी बारिश के संकेत नजर आने लगे हैं। इधर मौसम विभाग भी लगातार चेतावनी जारी कर प्रदेश के 14 जिलों के लिए भारी बारिश आने की आंशका जता रहा है। चेतावनी ( Heavy rain warning in rajasthan ) के अनुसार प्रदेश में आगामी पांच दिन के दौरान कई जगह तेज बारिश के साथ अंधड़ भी आ सकता है।


मौसम विभाग की चेतावनी ( heavy rain alert in Rajasthan ) में अजमेर, बूंदी, टोंक, झालावाड़, कोटा, बारां, भीलवाड़ा, चित्तौडगढ़, राजसमंद, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, जोधपुर, पाली जिला शामिल है। शनिवार ओर रविवार को अगस्त सीकर, झुंझुनूं, चूरू सहित कई जिलों में बादलों की गर्जना के बीच तेज बारिश हो सकती है। इस दौरान अधिकतम तापमान 30 से 35 डिग्री के बीच रहने का अनुमान है।


तीन घंटे झमाझम बरसात, चारों तरफ पानी ही पानी

अलवर में ( rain in alwar ) कई दिनों के इंतजार के बाद शुक्रवार को अलवर जिले में राहत की बूंदे बरसीं। दोपहर 2 बजे शुरु हुई बरसात शाम 5 बजे तक चली जिससे अलवर शहर में चारों तरफ पानी ही पानी हो गया। सिलीसेढ़ में बादल खुलकर बरसे, जिससे वहा बारिश का आंकड़ा 70 मिमी तक पहुंच गया। वहीं अलवर शहर में 40 मिमी बरसात हुई, जिससे मौसम सुहावना हो गया और तेज गर्मी से लोगों को राहत मिली। बरसात से बारा वीयर में एक फीट की आवक हुई। इस बरसात से सिलीसेढ़ व जयसमंद में भी पानी की आवक हुई।

शुक्रवार सुबह आसमान में बादल छाए हुए थे और हवा नहीं चल रही थी। इससे दिन में बरसात होने की उम्मीद बढ़ गई। दोपहर तक धूप में तेजी रही। दोपहर २ बजे बरसात शुरु हुई जो शाम 5 बजे तक चली।

 

यहां इतनी हुई बरसात-

अलवर शहर में 40 मिमी, सिलीसेढ़ में 70 मिमी, रामगढ़ में 30, थानागाजी में 18, तिजारा में 30, मालाखेड़ा में 34, टपूकड़ा में 10, जयसमंद में 7 तथा सोड़ावास में 30 मिमी बरसात हुई।

 

 

सीकर में उमस, चूरू व झुंझुनूं में बारिश

शेखावाटी अंचल में बने कम दवाब के क्षेत्र के कारण शुक्रवार को दोपहर बाद बारिश हुई। अंचल के चूरू व झुंझुनूं जिले में शाम करीब पांच बजे बारिश शुरु हुई। कई स्थानों पर मध्यम दर्जे की बारिश हुई। सीकर जिले में सुबह से आंशिक बादल छाए रहे। कई स्थानों पर रिमझिम बारिश का दौर चला। हवाओं का दौर थमा रहा। इधर मौसम विभाग का कहना है कि स्थानीय क्षेत्र में बने कम दवाब के क्षेत्र के कारण आगामी पांच दिन तक प्रदेश में कई स्थानों पर बारिश होगी। सावण माह में अच्छी बरसात होने से फसलों का बेहतर उत्पादन मिलेगा। चूरू में अधिकतम तापमान 37 डिग्री और न्यूनतम तापमान 26.8 डिग्री रहा। फतेहपुर में अधिकतम तापमान 34.8 डिग्री और न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री दर्ज किया गया।

 

खोले आनासागर झील के चैनल गेट

अजमेर शहर में गुरुवार को हुई ताबड़तोड़ 4 इंच बरसात से आनासागर झील में जलस्तर बढऩे पर सिंचाई विभाग ने शुक्रवार को एस्केप चैनल के गेट खोल दिए। चैनल गेट से पानी उफन पड़ा। जिला प्रशासन आनासागर का गेज 13 फीट तक बनाए रखेगा। इसके अतिरिक्त पानी को चैनल गेट के जरिए छोडऩा जारी रखेगा। आनासागर की भराव क्षमता 13 फीट है, जबकि इसका जलस्तर बढ़कर 14 फीट 11 इंच हो गया। चारों चैनल गेट से पानी तेज रफ्तार से छलकना शुरू हो गया था।

 


भीलवाड़ा में खिली धूप, ढह गए तीन कच्चे मकान

भीलवाड़ा. तीन की झमाझम बारिश के बाद भीलवाड़ा शहर समेत जिले के कई हिस्सों में शुक्रवार को मौसम सूखा रहा। वही बारिश से गुरुवार रात को जिले में तीन कच्चे मकान ढह गए।

भीलवाड़ा शहर में मंगलवार के बाद शुक्रवार को चटक धूप खिली और दोपहर में उमस ने आम जन को परेशान किया। वही जिले के अधिकांश हिस्सों में भी मौसम खुला रहा। खेतों पर चहल पहल रही और किसानों का जोर खाद डालने के साथ मेडबंदी पर रहा। जिले में कुछेक स्थानों पर जरूर बूंदाबांदी हुई है। जिला बाढ़ नियंत्रण कक्ष के अनुसार शुक्रवार शाम पांच बजे समाप्त बारह घंटे में जिले में बरसात माप केन्द्रों पर भी कही भी बारिश दर्ज नहीं हुई। दूसरी तरफ तीन दिन की लगातार बारिश से कुछेक गांवों में नुकसान हुआ है। आकोला के निकटवर्ती श्रीपुरा गांव में बारिश से बीती रात नंदलाल बलाई का कच्चा मकान ढह गया। वही शाहपुरा के ढीकोला गांव में गुरुवार देर रात सोहन लाल व देवीलाल के दो कच्चे मकान ढह गए।

 


भदेसर में डेढ़ इंच बारिश

चित्तौडग़ढ़ जिले में ( Rain in Chittorgarh ) शुक्रवार को भदेसर व चित्तौडग़ढ़ क्षेत्र में मेघ मेहरबान हुए। भदेसर में सुबह 8 से शाम 5 बजे के बीच 38 मिलीमीटर बारिश हुई। इस अवधि में चित्तौडग़ढ़ में छह व निम्बाहेड़ा में 2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। बुधवार शाम 5 बजे से गुरुवार सुबह 8 बजे के बीच बड़ीसादड़ी में 37, भूपालसागर में 15, डूंगला में 5 एवं चित्तौडग़ढ़ में एक मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। चित्तौडग़ढ़ शहर के कलक्ट्रेट, निम्बाहेड़ा रोड, उदयपुर रोड सहित कई प्रमुख क्षेत्रों में दोपहर करीब एक बजे से चित्तौडग़ढ़ शहर में शुक्रवार दोपहर आधे घंटे से अधिक समय तक मूसलाधार बारिश से कई जगह निकासी व्यवस्था की पोल खुलने के साथ जल भराव की स्थिति बन गई।

 

 


बारां, बूंदी व इटावा में झमाझम

हाड़ौती में शुक्रवार को कई इलाकों में झमाझम बारिश हुई। कोटा में मौसम खुला रहा। तेज धूप रही। उमस से लोग परेशान रहे। बीते 24 घंटे में 4.8 एमएम बारिश दर्ज की गई। अधिकतम तापमान 31.6 व न्यूनतम तापमान 26.7 डिग्री सेल्सियस रहा। जिले के इटावा में सवा चार बजे से सवा पांच बजे तक तेज बारिश हुई। सल्तानपुर, इटावा व सांगोद क्षेत्र में बादल छाए, लेकिन बरसे नहीं। रावतभाटा में दोपहर में कुछ समय बूंदाबांदी हुई।

बूंदी जिले में ( Heavy Rain in bundi ) बादल मेहरबान रहे। शहर में दोपहर साढ़े बारह बजे अचानक बादल घिर आए और आधा घंटे तेज बरसात हुई, जिससे सड़कों पर पानी जमा हो गया। इन्द्रगढ़ में आधे घंटे बारिश होने से मौसम खुशनुमा हो गया। शाम पांच बजे तक बूंदी में ३९, इन्द्रगढ में 20, तालेड़ा में 2, केशवायपाटन में 7, इन्द्रगढ़ में 16 बारिश दर्ज की गई।

 

 

तलाई की पाल टूटी

झालावाड़ जिले ( rain in jhalawar ) में सुबह से मौसम सुहाना बना हुआ है, कहीं हल्की बारिश तो कहीं तेज बारिश हुई, लेकिन उमस बरकरार है। शाम 5 बजे तक मनोहरथाना में 30, खानपुर में 3, अकलेरा में 12 एमएम बारिश दर्ज की गई। जिले का अधिकतम तापमान 27 व न्यूनतम 25 डिग्री रहा। पलको नदी में उफान, तलाई की पाल टूटी

 

बारां जिले में शाहाबाद क्षेत्र के देवरी, कस्बाथाना, समरानिया, देवरी, जलवाड़ा इलाके में तड़के कभी हल्की तो कभी तेज बारिश होती रही। बारिश से पलको नदी में उफान आ गया। अटरू इलाके के कवाई के पास मसई गुजरान गांव में एक तलाई की पाल टूट गई। अधिकतम तापमान ३० डिग्री व न्यूनतम तापमान २५ डिग्री रहा।

 

 

चूरू: आधे घंटे में 14.4 एमएम बारिश

चूरू. सावन माह में इन्द्रदेव ने भी बारिश ( rain in churu ) से भगवान शिव का अभिषेक किया। चूरू जिले में आधे घंटे में 14.4 एमएम बारिश रेकार्ड की गई। सुबह से हवा नहीं चलने से लोग उमस से परेशान थे और खेतों में फसल बिजाई के लिए किसान बारिश का इंतजार कर रहे थे। शाम साढ़े चार बजे बूंदाबांदी शुरू हुई। कुछ मिनटों में तेज बारिश का रूप ले लिया। आधे घंटे तक झमाझम बारिश हुई। इससे सड़कों पर दो से तीन फीट तक पानी भर गया। पंखा सर्किल, सुभाष चौक, वन विहार कालोनी, प्रतिभा नगर, रेलवे स्टेशन इलाके में पानी भर गया। मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम तापमान 37 और न्यूतनतम 36.8 डिग्री सेल्सियस रेकार्ड किया गया है।

 

 

यह खबरें भी पढ़ें...

डिग्गी में डूबने से दो चचेरे भाईयो की मौत, परिवार की महिलाऐं कपड़े धोने पहुंची तो मचा कोहराम

 

नवजात को थैले में रखकर छोड़ा, बूंदाबादी भी हुई, काफी देर रहा इसी हालत में ... अब अस्पताल में भर्ती

 

प्रेमी पर हमला कर प्रेमिका से बलात्कार का आरोपी आया पत्नी से मिलने, इसी दौरान पुलिस ने दबोचा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned