scriptPolitical Drama In Rajasthan : MLA said - 46 percent Don't want To change CM | राजस्थान में सियासी ड्रामा: विधायक बोले- कोई दबाव नहीं 46% नहीं बदलना चाहते CM | Patrika News

राजस्थान में सियासी ड्रामा: विधायक बोले- कोई दबाव नहीं 46% नहीं बदलना चाहते CM

locationजयपुरPublished: Sep 27, 2022 11:13:01 am

Submitted by:

santosh Trivedi

राजस्थान पत्रिका ने हर संभाग में विधायकों से संपर्क कर उनके मन की बात जानने का प्रयास किया। हालांकि ऐसे विधायकों की संख्या भी कम नहीं है, जो या तो गोलमोल जवाब दे रहे हैं या जवाब देने से बच रहे हैं अथवा पकड़ से दूर रहे।

rajasathan politics

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
जयपुर. कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद को लेकर दो दिन से जारी सियासी ड्रामे पर पार्टी अपने विधायकों से संपर्क नहीं कर पा रही है। इस दूरी के वातावरण में राजस्थान पत्रिका ने हर संभाग में विधायकों से संपर्क कर उनके मन की बात जानने का प्रयास किया। हालांकि ऐसे विधायकों की संख्या भी कम नहीं है, जो या तो गोलमोल जवाब दे रहे हैं या जवाब देने से बच रहे हैं अथवा पकड़ से दूर रहे।

आइए जानें किस संभाग के विधायकों के मन में क्या चल रहा है....
निष्कर्ष यह है

- 56 प्रतिशत विधायक बोले, सीएमआर बुलाया....पहुंच गए धारीवाल के घर
- सभी संभागों से एक ही आवाज, किसी ने नहीं लगाई बोलने पर पाबंदी
- 54 प्रतिशत विधायकों ने कहा, स्वेच्छा से इस्तीफा दिया। एक चौथाई विधायकों ने इस्तीफा दिया ही नहीं
- 46 प्रतिशत विधायक चाहते हैं नहीं बदले सीएम। 22 प्रतिशत ने निर्णय आलाकमान पर छोड़ा।

कोटा- धारीवाल स्वयं खुलकर गहलोत के पक्ष में, बाकी एमएलए मौन। कुछ के फोन ही बंद।विधायक दल की बैठक के लिए कहां बुलाए जयपुर- 21 विधायकों में से 14 को सीएमआर, एक को शांति धारीवाल के घर आने की सूचना। 4 बात करने से बचे, दो का गोलमोल जवाब।

यह भी पढ़ें

Rajasthan politics crisis विधायक अमीन खां का वीडियो वायरल, जो पैसों के लिए बिक जाते हैं, उनके नेतृत्व में राजस्थान में सरकार नहीं चलेगी

अजमेर-चार विधायक बोले, सीएमआर बुलाए और स्वेच्छा से धारीवाल के घर गए

उदयपुर-4 में से 2 को सीएमआर बुलाया, लेकिन धारीवाल के घर गए।

जोधपुर-चार में से तीन को धारीवाल के घर बुलाया, एक बैठक में पहुंचे ही नहीं।

भरतपुर-7 में से 3 सीएमआर बुलाए, दो को धारीवाल के घर बुलाया। सवाईमाधोपुर विधायक बात करने से बच रहे।

बीकानेर-4 में से 2 को पहले सीएमआर व फिर धारीवाल के घर बुलाया, दो बोले ही नहीं।

यह भी पढ़ें

राजस्थान सियासी ड्रामा: पोलो ग्राउंड पहुंची 'जादूगर' की टीम, फाइनल मैच पर नजर, देखें वीडियो

क्या पर्यवेक्षकों के सामने स्वतंत्र राय व्यक्त करने से रोका
जयपुर- 22 में से 15 ने कहा, स्वतंत्र राय रखने से नहीं रोका, चार से बात नहीं हो पाई और तीन पहुंचे ही नहीं। अजमेर- विधायकों को बोलने से नहीं रोका गया।

उदयपुर- सभी चार बोले, स्वतंत्र राय से नहीं रोका।

जोधपुर- चार बोले, नहीं रोका स्वतंत्र राय रखने से

भरतपुर-पांच विधायक बोले, स्वतंत्र राय रखने से नहीं रोका। सवाई माधोपुर के विधायक बोलने से बचते रहे,

बीकानेर-2 विधायक बोले, स्वतंत्र राय रखने पर किसी ने पाबंदी नहीं लगाई।

इस्तीफे दवाब में दिया?

जयपुर-22 में से 11 विधायकों ने स्वेच्छा से दिया इस्तीफा, जबकि 5 ने इस्तीफा दिया ही नहीं। दो विधायक गोलमोल बोले।

अजमेर-तीन में दो विधायकों ने स्वेच्छा से इस्तीफा दिया, जबकि एक ने इस्तीफा दिया ही नहीं।

उदयपुर- 5 में से चार विधायकों ने स्वेच्छा से इस्तीफा दिया, जबकि एक ने इस्तीफा दिया ही नहीं।

जोधपुर- 4 में से तीन विधायकों ने स्वेच्छा से इस्तीफा दिया, जबकि एक ने इस्तीफा दिया ही नहीं।

भरतपुर- 6 में से दो विधायकों ने स्वेच्छा से इस्तीफा दिया, जबकि दो ने इस्तीफा दिया ही नहीं।

बीकानेर- 4में से एक विधायक ने स्वेच्छा से इस्तीफा दिया, जबकि एक ने इस्तीफा दिया ही नहीं।

क्या मुख्यमंत्री बदले?

जयपुर-22 में से 7 विधायक सीएम नहीं बदलना चाहते, जबकि तीन विधायक सीएम बदलने के पक्ष में हैं। दो विधायकों ने निर्णय आलाकमान पर छोड़ा और दो बोले, गहलोत के अध्यक्ष बनने पर ही बदले सीएम। दो विधायक गोलमोल बोले, जबकि चार से कोई जवाब ही नहीं मिला।

अजमेर-तीन में दो विधायकों ने आलाकमान निर्णय करे, जबकि एक नहीं बदलने के पक्ष में।

उदयपुर- 4 में से तीन विधायक सीएम नहीं बदलने के पक्ष में, जबकि एक ने कुछ जवाब नहीं दिया।

जोधपुर- 4 में से तीन विधायक सीएम नहीं बदलने के पक्ष में, जबकि एक ने निर्णय आलाकमान पर छोड़ा। भरतपुर- 4 विधायक सीएम नहीं बदलने के पक्ष में, जबकि चार विधायकों ने निर्णय आलाकमान पर छोड़ा। चार जवाब देने से बचते रहे, जबकि विधायक ने कहा एक व्यक्ति एक पद का सिद्धान्त लागू हो।

बीकानेर- 4 में से एक विधायक सीएम नहीं बदलने के पक्ष में, जबकि एक ने निर्णय आलाकमान पर छोड़ा। दो जवाब देने से बचते रहे।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

मालामाल होगा महाराष्ट्र! चंद्रपुर और सिंधुदुर्ग में मिली सोने की खानसांसद बदरुद्दीन अजमल ने हिंदुओं पर दिया विवादित बयान, कहा- 40 साल तक रखते हैं 2-3 गैरकानूनी बीवियां'मामा किसी को नहीं छोड़ेगा', सीएम शिवराज सिंह ने मंच से 4 अफसरों को किया सस्पेंड, देखें वीडियोBJP की राष्ट्रीय कार्यसमिति में कैप्टन अमरिंदर और सुनील जाखड़ की एंट्री, जयवीर शेरगिल बने प्रवक्तादिल्ली एमसीडी चुनाव पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, रिट खारिजMCD चुनाव प्रचार के आखिरी दिन केजरीवाल का मास्टरस्ट्रोक, चंदा मांगकर योग शिक्षकों को दिया वेतनसमुद्री सीमाओं को सुरक्षित रखने में अहम भूमिका निभा रहे शिपयार्ड : राजनाथ सिंहमहाराष्ट्र में सिंगल यूज प्लास्टिक से सख्त बैन हटा, इन चीजों के उपयोग की अनुमति मिली
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.