scriptजयपुर को ‘पिंक सिटी’, जोधपुर को ‘Blue City’ क्यों कहते हैं? इन अन्य शहरों को भी जानिए.. जिन्हें रंगों के नाम से जाना जाता है | why Jaipur is called Pink City, also Know About the culture and history of Udaipur, Jodhpur and Jaisalmer | Patrika News
जयपुर

जयपुर को ‘पिंक सिटी’, जोधपुर को ‘Blue City’ क्यों कहते हैं? इन अन्य शहरों को भी जानिए.. जिन्हें रंगों के नाम से जाना जाता है

राजस्थान के हर शहर के पीछे एक रोमांचक कहानी छुपी है, जो उसके रंग व उनकी खासियत समेटे हुई है। आज हम आपको उन शहरों के पीछे छिपी रोमांचक कहानी और उनके सांस्कृतिक महत्व के बारे में बताने जा रहे हैं।

जयपुरJun 29, 2024 / 07:25 pm

Suman Saurabh

why Jaipur is called Pink City, also Know About the culture and history of Udaipur, Jodhpur and Jaisalmer

राजस्थान के हर शहर के पीछे एक रोमांचक कहानी छुपी है, जो उसके रंग व उनकी खासियत समेटे हुई है। आज हम आपको राजस्थान के उन रंगीन शहरों के पीछे छिपी रोमांचक कहानी और उनके सांस्कृतिक महत्व के बारे में बताने जा रहे हैं।

जयपुर

जयपुर को ‘गुलाबी शहर’ कहा जाता है, क्योंकि यहां के अधिकतर मकान गुलाबी रंग के शेड में पेंट किए गए हैं। इस परंपरा की शुरुआत 1876 में हुई थी, जब शहर को पुरस्कृत करने के लिए गुलाबी रंग में रंगा गया था, जिसका मकसद था प्रिंस ऑफ वेल्स का स्वागत करना। भारतीय संस्कृति में गुलाबी रंग को आतिथ्य का संकेत माना जाता है। महाराजा सवाई राम सिंह द्वितीय ने यह निर्णय लिया था कि शहर को पिंक रंग में रंगा जाए, ताकि अंग्रेजी सम्राट का स्वागत कर सकें। इसके लिए गुलाबी रंग का चयन किया गया था, क्योंकि यह भारतीय संस्कृति में मेहमाननवाजी का प्रतीक माना जाता है। जयपुर शहर न केवल भारत में बल्कि विश्व भर में पर्यटकों के बीच भी बहुत प्रसिद्ध है। यहां की वास्तुकला, जीवंत बाजार और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत दुनियाभर के लोगों को आकर्षित करती है।

Jaipur:Know About the culture and history

जोधपुर

सूर्य नगरी के नाम से विख्यात जोधपुर राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। यह विश्व में अपनी रंगीनता के लिए प्रसिद्ध है। इसे ‘नीले शहर’ का नाम उसकी आधुनिक और पारंपरिक वास्तुकला के लिए दिया गया है। यहां के भवन नीले रंग से रंगे हुए हैं। नीले रंग को शांति और शुभकामनाओं का प्रतीक माना जाता है। जोधपुर को ‘सनसिटी’ के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि यहां की स्थानीय जलवायु बहुत सुंदर होती है। यहां के प्रसिद्ध किले, महल और हवेलियां इसे एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक स्थल बनाते हैं और पर्यटक यहां की सुंदरता और संस्कृति का आनंद लेते हैं।

Jodhpur: Know About the culture and history
यह भी पढ़ें

राजस्थान में है दुनिया की सबसे बड़ी तोप, जो इतिहास में चली सिर्फ एक बार… वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

उदयपुर

उदयपुर को ‘सफेद शहर’ इसलिए कहा जाता है, क्योंकि यहां के अधिकांश महल और इमारतें मार्बल से बनी हुई हैं। यहां महलों के निर्माण में मार्बल व्यापक रूप से इस्तेमाल होता था क्योंकि यह उदयपुर के पास ही उपलब्ध था और इसकी प्राकृतिक सुंदरता लोगों को आकर्षित करती थी। यहां के महल और इमारतें केवल मार्बल के सफेद रंग के साथ ही बनाई गई थी। उदयपुर का प्रमुख आकर्षण है शहर पैलेस, जो कि शहर के बीच में स्थित है। यह पैलेस राजपूत राजाओं के इतिहास का प्रतीक है। यहां के महलों की बनावट और सजावट उनकी विशेषता हैं। उदयपुर शहर अपनी भव्य झीलों के लिए भी प्रसिद्ध है। पिछले कुछ वर्षों में यह एक प्रमुख पर्यटन स्थल बन गया है।

Udaipur: Know About the culture and history

जैसलमेर

जैसलमेर को “गोल्डन सिटी” इसलिए कहा जाता है, क्योंकि यहां की रेतीली मिट्टी और पत्थरों का पीला रंग इसे एक अद्वितीय और चमकीले शहर का रूप देते हैं। शहर की सभी इमारतें व किले पीले रंग के पत्थर से बने हैं, जो इस शहर को खास बनाते हैं। यह रंग शहर के हर कोने में उपस्थित होने से जैसलमेर अपनी अनूठी सौंदर्यता के लिए प्रसिद्ध है। जैसलमेर का गोल्डन सिटी नाम उसके प्राचीन और समृद्ध ऐतिहासिक विरासत को दर्शाता है, जो विश्वभर में प्रसिद्ध है। यहां की खासियत और प्राकृतिक सौंदर्य ने उसे एक अद्वितीय पर्यटन स्थल बनाया है।

Jaisalmer: Know About the culture and history

Hindi News/ Jaipur / जयपुर को ‘पिंक सिटी’, जोधपुर को ‘Blue City’ क्यों कहते हैं? इन अन्य शहरों को भी जानिए.. जिन्हें रंगों के नाम से जाना जाता है

ट्रेंडिंग वीडियो