सुथार समाज का जिला स्तरीय सम्मलेन आयोजित, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

सुथार समाज का जिला स्तरीय सम्मलेन आयोजित, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

Deepak Vyas | Publish: Sep, 03 2018 11:53:39 AM (IST) Jaisalmer, Rajasthan, India

- सुथार समाज के सम्मेलन
- समाज सुधार, विकास को लेकर हुई चर्चा

पोकरण. विश्वकर्मा सुथार समाज एकता मंच का जिला स्तरीय सम्मेलन फलसूण्ड रोड पर खींवज माता मंदिर के पास आयोजित किया गया, जिसमें जैसलमेर जिले सहित बाड़मेर, जोधपुर, जालोर जिलों से समाज के प्रतिनिधियों व बड़ी संख्या में समाज के लोगों ने भाग लिया। शिक्षा विभाग के सेवानिवृत संयुक्त निदेशक यागचंद नागल के मुख्य आतिथ्य, सम्मेलन के आयोजक व स्थानीय समाज विकास समिति के अध्यक्ष अमराराम कुलरिया की अध्यक्षता, भगवानाराम फौजी, विकास अधिकारी नारायण सुथार, प्रोफेसर हुकमाराम सुथार, वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डॉ.धर्मेन्द्र सुथार, अखिल भारतीय ब्राह्मण जांगिड़ महासभा के संरक्षक सिरेमल कुलरिया, अखिल भारतीय विश्वकर्मा समाज युवा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.ओमप्रकाश, हरीशचंद्र बाड़मेर, अधिवक्ता पुरखाराम के विशिष्ट आतिथ्य में आयोजित सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता समाजसेवी पूनमचंद जांगिड़ ने कहा कि समाज के चहुमुखी विकास के लिए सबसे पहले समाज को संगठित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि समाज को संगठित व शिक्षित तथा भावीपीढी को संस्कारित किए बिना समाज का विकास संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि समाज के लोगों के पास धन की कमी नहीं है, लेकिन उसका समाज के हित में सदुपयोग लेना व युवाओं को मार्गदर्शन करना तथा उन्हें उच्च शिक्षा, तकनीकी आदि के क्षेत्र में आगे बढाने की जरुरत है। उन्होंने समय के साथ सोच में बदलाव कर समाज को आगे बढ़ाने के लिए सभी को प्रयास करने का आग्रह किया। कार्यक्रम में श्रम एवं उद्योग के सचिव डॉ.समित शर्मा, आयकर विभाग के उपायुक्त दिनेश सारण, समाजसेवी भंवरलाल, पदमाराम, नरसिंहाराम कुलरिया ने भी अपने शुभकामना संदेश भिजवाए। जिनका पठन किया गया।

बालिकाओं को दिलाएं उच्च शिक्षा
इस अवसर पर मुख्य अतिथि नागल ने शिक्षा पर जोर देते हुए लडक़ों के साथ लड़कियों को भी उच्च शिक्षा दिलाने, जब तक बालक बालिकाएं बालिग व समझदार होकर अपने पांवों पर खड़े नहीं हो जाए, तब तक अभिभावकों को उनकी शैक्षणिक व अन्य गतिविधियों पर ध्यान रखने एवं उन्हें एक योग्य नागरिक बनाने की बात कही। अखिल भारतीय युवा प्रकोष्ठ के संयोजक मनोहर सुथार ने आपसी मनमुटाव भुलाकर समाज के लोगों को एक दूसरे की मदद करने, सामाजिक एकता व विकास के लिए काम करने आग्रह किया।

इन्होंने भी रखे विचार
पंचायत समिति सांकड़ा के विकास अधिकारी नारायण सुथार ने विभिन्न उपजातियों व धड़ों में बंटे समाज को संगठित करने की आवश्यकता बताई। ब्राह्मण जांगिड़ महासभा के राष्ट्रीय संरक्षक सिरेमल कुलरिया ने नशामुक्त समाज की आवश्यकता बताई। प्रो. हुकमाराम ने समाज को राजनीतिक रूप से मजबूत व संगठित करने, डॉ.ओमप्रकाश ने जगह-जगह समाज के जिला, संभाग व प्रदेश स्तरीय सम्मेलन आयोजित कर समाज को संगठित करने व उन सम्मेलनों में अपने बालक बालिकाओं व महिलाओं को भी लाने की बात कही, ताकि उन्हें समाज की रीति, नीति व संस्कृति की जानकारी दी जा सके। सम्मेलन में प्रधानाचार्य राणाराम कुलरिया, मदन जांगिड़, हरीशचंद्र बाड़मेर, भोमराज कुलरिया, शिक्षाविद् मगाराम बोड़ाना, चंपालाल भींयाड़ सहित वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किए। इससे पूर्व स्थानीय समाज के सचिव कस्तूराराम सुथार ने सभी का स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन मीठालाल जांगिड़ भीनमाल, तिलोकाराम बाड़मेर व मदनगोपाल ने किया। अध्यक्षता करते हुए अमराराम कुलरिया ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned