बागरा में ही होगी सुनवाई, भागली तक नहीं काटना पड़ेगा चक्कर

बागरा में ही होगी सुनवाई, भागली तक नहीं काटना पड़ेगा चक्कर
बागरा में ही होगी सुनवाई, भागली तक नहीं काटना पड़ेगा चक्कर

Dharmendra Ramawat | Updated: 29 Aug 2018, 11:03:59 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

अब फिर से बागरा में ही रहेगा नया नारणावास 33केवी विद्युत ग्रिड का जेईएन कार्यालय

नारणावास (जालोर). नया नारणावास 33केवी विद्युत ग्रिड का कनिष्ठ अभियंता कार्यालय अब वापस बागरा में ही रहेगा। करीब दो वर्ष पूर्व नारणावास को सहायक अभियंता कार्यालय भागली सिंधलान से जोड़ दिया था, जिससे ग्रामीण भारी परेशानी उठा रहे थे। सोमवार से नया नारणावास ग्रिड का जेइएन कार्यालय बागरा करने के आदेश जारी किए गए। इससे किसानों में खुशी है। ग्रामीणों ने बताया कि जेइएन कार्यालय वापस बागरा करवाने को लेकर गत 17 सितंबर, 2017 को बाकरा गांव में आए ऊर्जा राज्यमंत्री पुष्पेन्द्र सिंह राणावत को ग्रामीणों ने रूपसिंह राठौड़ के नेतृत्व में ज्ञापन दिया था।समस्या सेअवगत करवाया कि नया नारणावास स्थित 33 केवी जीएसएस का जेइएन कार्यालय भागली सिंधलान है। जबकि एइएन कार्यालय बागरा है। ऐसे में किसानों एवं ग्रामीणों को छोटे से काम के लिए भी भागली सिंधलान और बागरा के बीच चक्कर काटने पड़ते हंै। बागरा आने जाने के लिए वाहनों की सुविधा है, जबकि भागली सिंधलान के लिए गांव से आवागमन का कोई सीधा साधन नहीं है। रेलवे क्रॉसिंग जागनाथ रोड आते हुए महज दो सौ मीटर दूरी तय करते ही टोल चुकाना पड़ता है। किसान इससे काफी परेशानी भुगत रहे हंै। ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए ऊर्जा राज्यमंत्री नेज्ञापन पर ही अधीक्षण अभियंता के नाम टिप्पणी लिखते हुए कार्रवाई के निर्देश दिए थे, लेकिन डिस्कॉम अधिकारी राज्यमंत्री की टिप्पणी को भी दरकिनार कर गए।लम्बे समय बाद भी इस तरह के आदेश बागरा सहायक अभियंता के पास नहीं आए। इससे किसानों में रोष व्याप्त रहा।समस्या को लेकर सोमवार को एक्सइएन को अवगत करवाया तो उन्होंने हाथों हाथ नया नारणावास जीएसएस का जेइएन कार्यालय बागरा करने के आदेश दिए।
इनका कहना...
नया नारणावास 33 केवी ग्रिड का कनिष्ठ अभियंता कार्यालय भागली सिंधलान से बागरा करने का आदेश मिल गया है। आज ही नया नारणावास 33 ग्रिड जेईएन कार्यालय बागरा से जोड़ दिया है।
- नारायण लाल सुथार, सहायक अभियंता, बागरा
नया नारणावासव नारणावास के ग्रामीण मिले थे तथा कनिष्ठ अभियंता कार्यालय भागली सिंधलान से हटा कर बागरा करने का आग्रह किया। ग्रामीणों की मांग के अनुसार जेइएन कार्यालय बागरा से जोडऩे के आदेश जारी किए हैं।
- हेमन्त संकलेचा, एक्सइएन, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned