अफसर झोंक रहे ताकत, फील्ड में नहीं फॉल्ट निकालने वाले

अफसर झोंक रहे ताकत, फील्ड में नहीं फॉल्ट निकालने वाले
75 percent of technical staff employees are vacant in Jalore discom

Dharmendra Ramawat | Updated: 22 Jun 2018, 11:11:05 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

अधिकतर लिपिक व तकनीकी कार्मिकों के पद खाली

फैक्ट फाइल (30 अप्रेल 2018 तक)
कुल स्वीकृत पद-1579
कार्यरत-1033
जिले में रिक्त चल रहे पद- 546
कनि./वरि. लिपिकों के पदों की स्थिति-
स्वीकृत-186, रिक्त-168
तकनीकी कार्मिकों की स्थिति
स्वीकृत-1220, रिक्त-909
जालोर. जिले भर में बिजली व्यवस्था को सुचारु करने के लिए डिस्कॉम के आला अधिकारी भले ही ताकत झोंक रहे हैं, लेकिन यहां लम्बे समय से फील्ड में काम करने वाले तकनीकी कर्मचारियों के करीब 75 फीसदी पद रिक्त चल रहे हैं। जिसके कारण विद्युत तंत्र गड़बड़ाया हुआ है। ऐसा भी नहीं है कि अधिकारियों ने इस बारे में उच्चाधिकारियों और नेताओं को भी अवगत ना कराया हो, लेकिन अभी तक ये पद खाली चल रहे हैं। जिसके कारण डिस्कॉम के अधिकारी जैसे-तैसे कर व्यवस्था चला रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि प्रशासनिक अधिकारियों व जिला परिषद की बैठकों में हर बार जनप्रतिनिधि बिजली व्यवस्था सुदृढ़ करने की बात तो जरूर करते हंै, लेकिन कार्मिकों की कमी की समस्या पर कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है। जिसके कारण फॉल्ट सुधारने व अन्य कार्यों में दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। इधर, जनप्रतिनिधि भी जिले में तकनीकी कर्मचारियों व लिपिकों के रिक्त पद भरने के लिए हर बार महज आश्वासन ही देते नजर आते हैं, लेकिन कोईभी इसके लिए ठोस पैरवी नहीं करता है।
कार्मिकों का भी टोटा
जिले के विभिन्न सब डिविजन व डिस्कॉम कार्यालयों में कनिष्ट व वरिष्ठ लिपिकों के डेढ़ सौ से ज्यादा पद लम्बे समय से खाली हैं। लिपिकों के कुल 168 पद स्वीकृत हैं, जबकि इनमें से 168 पद अभी भी रिक्त चल रहे हैं। इसके अलावा तकनीकी कार्मिक लाइन इंस्पैक्टर, ईसीडब्ल्यू-।, एलएम-।, मीटर इंस्पैक्टर, एसएसए/एसबीए-।, वायरमैन, एलएम-।।, एसएसए/एसबीए-।।, मीटर रीडर-।/।।, ईसीडब्ल्यू-।।, वायरमैन-।।, सीसीए-।।।, हैल्पर-।, एसएसए/एसबीए-।।।, हैल्पर-।।, केबल ज्वाइंटर और टैक्नीकल हैल्पर (आईटीआई) के 1220 पद स्वीकृत हंै, लेकिन इनमें से आज भी करीब 909 पद रिक्त हैं।
अधिकारियों-कर्मचारियों के रिक्त पद
डिस्कॉम के जिले के कुल 22 सबडिविजन व कार्यालयों में एईएन का 1, जेईएन का 1, पीओ का 1, एकाउंटेंट के 3, ओएस के 3, यूडीसी के 51, एलडीसी के 117, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी व चौकीदार के 49, एफएम-।। के 2, एसएसओ-। के 4, लाइन इंस्पैक्टर के 2, ईसीडब्ल्यू-। के 8, एलएम-। के 15, मीटर इंस्पैक्टर के 2, एसएसए/एसबीए-। के 3, वायरमैन-। का 1, एलएम-।। के 10, एसएसए/एसबीए-।। के 4, मीटर रीडर-।/।। के 24, ईसीडब्ल्यू-।। के 6 , वायरमैन-।। का 1, सीसीए-।।। के 58, हैल्पर-। के 35, एसएसए/एसबीए-।।। के 26, हैल्पर-।। के 62, केबल ज्वाइंटर का 1 और टैक्नीकल हैल्पर (आईटीआई) के 55 पद रिक्त चल रहे हैं।
जिला मुख्यालय की स्थिति
एईएन (ओ एण्ड एम) कार्यालय में कनिष्ट लिपिक के 7 में से 6 , वरिष्ठलिपिक के 2 में से 1, एईएन (एच एण्ड एम) कार्यालय में कनिष्ट व वरिष्ठ लिपिक के दोनों और सर्किल ऑफिस जालोर में भी लिपिकों के करीब 7 पद रिक्त हैं। ऐसे में कामकाज प्रभावित हो रहा है।
बता चुके हैं...
जिले में लिपिक व तकनीकी कार्मिकों के रिक्त पदों के बारे में उच्चाधिकारियों व बैठकों में जनप्रतिनिधियों को कई बार अवगत करवाया है। कंट्रोल रूम व मोबाइल वाहन के जरिए बिजली समस्याओं का निस्तारण किया जा रहा है, लेकिन रिक्त पद भरे जाते हैं तो बिजली तंत्र और मजबूत होगा।
- पीसी टांक, अधीक्षण अभियंता, डिस्कॉम, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned