नेहड़ के बाद अब सांचौर में मिले दो स्वााइन फ्लू के दो रोगी

नेहड़ के बाद अब सांचौर में मिले दो स्वााइन फ्लू के दो रोगी
swine flu in Sanchore Jalore

Dharmendra Ramawat | Updated: 06 Jan 2019, 11:32:52 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

छह टीमों का गठन कर शुरू करवाया शहर के सभी वार्डों का सर्वे

सांचौर. शहर में पिछले एक सप्ताह में स्वाइन फ्लू के दो मरीज मिलने से चिकित्सा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। हालांकि विभाग ने स्वाइन फ्लू के मरीज सामने आने के बाद छह मेडिकल टीमों का गठन किया है, जो शहर के सभी २५ वार्डों में घर-घर जाकर सर्वे करने के साथ ही टेबलेट वितरित कर रही है। शहर स्थित इंद्रा कॉलोनी निवासी करनाराम चौधरी चौधरी (55) ने गत 22 दिसंबर को बुखार आने पर शहर के एक निजी अस्पताल में उपचार करवाया था, लेकिन हालत में सुधार नहीं होने पर उसे जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल रेफर किया गया। जहां जांच के दौरान उसे स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई। वहीं रमेश कॉलोनी निवासी आर्यन पुत्र ओमप्रकाश को भी बुखार आने पर उसे गत 29 दिसम्बर को शहर के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, लेकिन स्थिति नहीं सुधरने पर उसे अहमदाबाद रेफर किया गया। जहां जांच में उसे भी स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई। चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को इसकी जानकारी मिलने के बाद विभागीय टीम हरकत में आई और शनिवार को छह टीमों का गठन किया गया। बीसीएमओ डॉ. भैराराम जाणी के निर्देश पर चिकित्सा प्रभारी डॉ. वीडी जोशी के नेतृत्व में टीम ने शहर के प्रभावित वार्डों के 50 से 100 घरों में सर्वे कर दवा वितरित की।
मामले पहले भी आते रहे, विभाग नहीं रहा गंभीर
क्षेत्र में स्वाइन फ्लू को लेकर पूर्व में भी कई मामले चिकित्सा विभाग के पास आत रहे हैं, लेकिन विभागीय अधिकारियों ने इसे गंभीरता से लेने के बजाय टाल दिया। हालांकि स्वाइन फ्लू के रोगियों के लिए स्थानीय सरकारी चिकित्सालय में जांच की सुविधा नहीं होने से वे निजी चिकित्सालयों में जांच करवाते हैं। वहीं स्थिति गंभीर होने पर उन्हें गुजरात या अन्यत्र रेफर किया जाता है। इन मामलों की जानकारी भी चिकित्सा विभाग को रहती है, फिर भी विभाग गंभीरता बरतने के बजाय महज औपचारिकता पूरी कर रहा है।
मच्छरों की भरमार, छिड़काव तक नहीं
क्षेत्र में स्वाइन फ्लू, मलेरिया व डेंगू सहित अन्य मौसमी बीमारियों को लेकर अगर नजर दौड़ाई जाए तो चिकित्सा विभाग व नगरपालिका प्रशासन ने शहर में मच्छरों को नष्ट करने के लिए एक बार भी छिड़काव नहीं करवाया है। शहर की अधिकांश आबादी मच्छरों के प्रकोप से परेशान है। कई इलाकों में बबूल की कटाई तक नहीं की गई है। वहीं नालियों में बहने वाले पानी की निकासी नहीं होने से मच्छरों का प्रकोप है। जिसकी जानकारी नगरपालिका प्रशासन व चिकित्सा विभाग को होने के बावजूद कोई ठोस कार्यवाही नहीं हो रही है।
इनका कहना...
शहर में स्वाइन फ्लू के 2 मरीज मिले हैं, जिसकी विभाग ने पुष्टि की है। प्रभावित क्षेत्र में मेडिकल टीमों को भेज दिया गया है। वहीं प्रभावित इलाके में टेबलेट वितरित की जा रही है।
- डॉ. वीडी जोशी, चिकित्सा प्रभारी, सांचौर सीएचसी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned