script तेज हवा व ओस ने उड़ाई किसानों की नींद, फसल कटाई के कार्य में आई कमी | Reduction in paddy harvesting work, farmers worried Janjgir Champa | Patrika News

तेज हवा व ओस ने उड़ाई किसानों की नींद, फसल कटाई के कार्य में आई कमी

locationजांजगीर चंपाPublished: Nov 18, 2023 04:33:43 pm

Submitted by:

Khyati Parihar

Janjgir Champa News : फसल कटाई का काम जोर नहीं पकड़ने से फसल अब तक किसानों के घराें में नहीं पहुंच पाई है।

Reduction in paddy harvesting work, farmers worried Janjgir Champa
तेज हवा व ओस ने उड़ाई किसानों की नींद, फसल कटाई के कार्य में आई कमी
नवागढ़। Chhattisgarh News: समर्थन मूल्य पर धान खरीदी को अब पखवाड़ेभर का समय हो चुका है। ऐसे में अब किसान भी जल्दी से जल्दी सालभर की मेहनत को भुनाना चाह रहे हैं लेकिन वर्तमान में किसानों को दोहरी परेशानी से जूझना पड़ रहा है। क्योंकि कई जगहों पर तेज हवाओं और ओस के चलते तैयार फसल खेतों में गिर गई है।
जिससे हार्वेस्टर मशीन से कटाई नहीं हो पा रही है तो दूसरी ओर मजदूर भी नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में किसानों को चिंता बढ़ गई है। क्योंकि खेतों में फसल गिर जाने के बाद हार्वेस्टर से कटाई नहीं हो पाती। जिससे हाथों से ही कटाई होगी लेकिन अधिकांश जगहों पर ऐसी समस्या है जिसके चलते एक साथ मजदूरों की मांग भी बढ़ गई है और किसानों को मजदूर नहीं मिल पा रहे हैं। यही वजह है कि फसल कटाई का काम अभी भी जोर नहीं पकड़ पाया है।
यह भी पढ़ें

CG Tourism : आइये कभी बस्तर... 20 खास प्रजातियों से बना तितली जोन, खूबसूरती ऐसी कि एकटक देखता रह जाए इंसान

खरीदी केंद्राें में पसरा है सन्नाटा

फसल कटाई का काम जोर नहीं पकड़ने से फसल अब तक किसानों के घराें में नहीं पहुंच पाई है। वहीं फसल कटाई हो चुकी है तो नमी ज्यादा है इससे किसान धान को सूखा रहे हैं ताकि नमी हो जाए। 17 प्रतिशत से अधिक नमी होने पर खरीदी नहीं की जा रही। ऐसे में 17 दिन बाद भी खरीदी केंद्रों में आवक नहीं के बराबर है।
इसीलिए नहीं नजर आ रहे हार्वेस्टर.....

अमूमन दिवाली के बाद जिले में धान कटाई का काम जोर पकड़ लेता है। जिलेभर में जगह-जगह हार्वेस्टर दिखाई देने लगते हैं। पंजाब-हरियाणा तक से हार्वेस्टर यहां पहुंच जाते हैं। लेकिन इस बार अभी तक इक्का-दुक्का ही हार्वेस्टर क्षेत्र में नजर आ रहे हैं।
इस बार फसल भी देरी से तैयार हो रही है। ऐसे में ज्यादातर जगहों पर किसान अभी हाथों से ही कटाई कर रहे हैं। क्षेत्र के किसान चैतराम मनहर, मंगल सिंह ने बताया कि कटाई के लिए मजदूर ढूंढना मुश्किल हो रहा है। आधी फसल भी खेतों में गिरी है और जमीनी भी गीली है। हार्वेस्टर से कटाई नहीं हो पाएगी। कटाई का काम नहीं करा पा रहे हैं। किसान महेशराम, किरीत कश्यप ने बताया कि फसल तैयार है लेकिन कटाई के लिए हार्वेस्टर अभी खेतों में नहीं घुस पा रहे हैं। मजदूरों से ही कटाई करा रहे हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो