राजस्थान में यहां खाई में पलटी निजी बस, डेढ़ दर्जन लोग घायल

राजस्थान में यहां खाई में पलटी निजी बस, डेढ़ दर्जन लोग घायल

Jagdish Paraliya | Publish: Sep, 07 2018 12:52:37 PM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 03:30:05 PM (IST) Jhalawar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

झालावाड़। डग झालावाड़ में निजी बस के पलटने से डेढ़ दर्जन लोग घायल हो गए। डग डोडी मार्ग के डोडी गांव के निकट बस खाई में पलट गई। अब तक मिली जानकारी के अनुसार बस जीरापुर से डग की ओर आ रही थी। घायलों को उपचार के लिए डग सामुदायिक चिकित्सालय लाया गया है। यहां चिकित्सालय में घायलों के आते ही चीख पुकार मच गई।


व्यापारी को बंधक बनाया, पांच लाख रुपए मांगे
झालावाड़ शहर में एक व्यापारी को बंधक बनाकर पांच लाख रुपए की फिरौती मांगने का मामला सामने आया है। व्यापारी को एक लड़की ने फोन कर बुलाया था।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आशाराम चौधरी ने बताया कि बुधवार को बकानी के निकट बढ़ाय निवासी व्यापारी घनश्याम मेड़तवाल (52) को एक लड़की ने फोन कर बुलाया,। लड़की व्यापारी को बस स्टैंड पर मिली वहां से कहा कि मेरी सहेली रहती है, वहां चलेंगे। ऐसे में लड़की व्यापारी को मामा भांजा चौराहा होते हुए आकाशवाणी वाले रोड पर ले गई। यहां दोनों बातें करने लगे। इस दौरान दो मोटर साइकिल पर चार युवक आए। आते ही उन्होंने लड़की से मारपीट की। इनमें से एक युवक ने व्यापारी से कहा कि यह मेरी पत्नी है और तुम दोनों में अवैध संबंध है।इसके बाद लड़की को वहां से भगा दिया और व्यापारी को बंधक बना लिया और पांच लाख रुपए की मांग की। इस दौरान व्यापारी की पत्नी व पुत्र को फोन कर अवैध संबंधों के बारे में बताया। युवकों ने अवैध संबंधों के फोटो होने की धमकी भी दी और पांच लाख रुपए लेकर आकाशवाणी वाले रोड पर आने को कहा। थोड़ी देर बाद पुन: फोन कर मामा भांजा चौराहे पर बुलाया। चौराहे पर दो युवक आ भी गए थे लेकिन पुलिस कार्रवाई की भनक लग गई। ऐसे में फिर व्यापारी की पत्नी को फोन किया और कहा कि हम तो दरा से आगे निकल गए। इसके बाद पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए मोबाइल नंबर टे्रस किया तो लोकेशन मामा भांजा व गांवड़ी के तालाब के आस-पास की आ रही थी। इसके बाद सादावर्दी में पुलिस की टीम रवाना की गई।

रुपए लेकर आ गए थे रिश्तेदार
युवकों के बताएं अनुसार व्यापारी के रिश्तेदार मूलचन्द गुप्ता, राजेश गुप्ता रुपए लेकर पुलिस के साथ मांमा भांजा चौराहे पर खड़े रहे, लेकिन पुलिस का मकसद उन लड़कों को पकडऩे से पहले व्यापारी को सुरक्षित बचाना था। इसी दौरान दो लड़के मामा भांजा पर आए भी लेकिन पुलिस कार्रवाई की भनक लगने से बिना कुछ बताए व्यापारी को आकाशवाणी रोड पर ही छोड़ भागे। इसी दौरान पुलिस ने दो लड़कों को देख भी लिया था, लेकिन व्यापारी को कुछ कर न दे इस वजह से उन्हें नहीं पकड़ा। अब लड़की व चारों लड़कों की तलाश में पुलिस लगी हुई है। इस मामले में इस तरह का पूरा गिरोह हो सकता है। इस कार्रवाई में पुलिस उपधीक्षक जीवनङ्क्षसह राणावत, सीआई हेमन्त गौतम, सदर एसएचओ संजय मीणा, कांस्टेबल मदन गुर्जर, अनिल, भीमसिंह, राजेश वैष्णव, राजू, रामरतन आदि कार्रवाई करने वाली टीम में शामिल थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned