झालावाड़, खानभादवा में लगी सावन सी झड़ी

झालावाड़, खानभादवा में लगी सावन सी झड़ी

jagdish paraliya | Publish: Sep, 08 2018 05:28:41 PM (IST) Jhalawar, Rajasthan, India

नदी-नालों में उफान, कई मार्ग बंद, कई बांधों के गेट खुले

झालावाड़, खानपुर, बकानी में चार तो असनावर में करीब पांच इंच बरसात

झालावाड़. जिले में शुक्रवार आधी रात से शनिवार तक दोपहर तक बरसात की झड़ी लगी रही। में लगी इस झड़ी के आगे करीब सूखा निकला सावन भी पानी पानी हो गया। सुबह जब लोगों की आंख खुली तो बारिश की झड़ी देखकर दंग रह गए। जहां देखा वहीं पानी नजर आया। बारिश से जिले के सभी नदी नाले उफान पर है। इस दौरान जिले के कई स्थानों पर कच्चे घर गिर गए व नदी नालों में उफान आने से मुख्यालय से गंावों का सम्पर्क कट गया।

जिला मुख्यालय पर भी खंडिय़ा तालाब व नया तालाब छलक पड़े है। तालाब की पाल पर चलती पानी की चादर देखने के लिए शहरवासी बारिश में भी परिवार सहित आनंद लेने पहुंचने लगे है। जिले के विभिन्न स्थानो पर शुक्रवार सुबह आठ बजे से आज शनिवार सुबह आठ बजे तक इस प्रकार बारिश दर्ज की गई। बाढ़ नियंत्रण कक्ष के अनुसार झालावाड़ में ९०, झालरापाटन में 50, असनावर में 112, बकानी में ९१, पिड़ावा में 45, पचपहाड़ में 28 , गंगधार में 22, डग में 35, अकलेरा में 8 3, मनोहर थाना में 50, खानपुर में ९२ और सुनेल में 33 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। जिले के अन्य क्षेत्रो में रटलाई क्षेत्र में लगातार हो रही तेज बारिश के चलते उजाड़ नदी उफान पर रही । इसके चलते भीमसागर बांध में तेजी से पानी की आवक हुई। भीमसागर बांध का जलस्तर भरवा क्षमता के ऊपर पहुँच जाने पर भीमसागर में रात भर में 8 0 एमएम बरसात अभी तक दर्ज हो गई है। संसाधन विभाग से मिली जानकारी अनुसार गंभीरी व उजाड़ दोनो नदियां उफान पर होने से भीमसागर बांध के गेट खुल सकते है। तेज मूसलाधार बरसात का दौर जारी है।

-सोजपुर कस्बे में रात 10 बजे से बारिश का दौर जारी रहा वही सुबह 4 बजे से एक घंटे तक मूसलाधार बारिश से खेत खलिहान लबालब हो गए, नालो में उफान आ गया, खेतो में खड़ी फसले जलमग्न हो गयी सुबह 4 बजे से बिजली गुल है। सारोला स्टेट हाइवे सड़क मार्ग पर सीमलखेड़ी में मुख्य मार्ग पर पानी बह रहा है वहीं भामाशाह हेम कुवर खेल मैदान जलमग्न हो गया। समीपवर्ती गांव देदिया में उप सरपंच कृष्ण मुरारी नागर के कच्चे घर की दीवार गिर पड़ी। हालांकि घर में लहसुन की ही कट्टिया ही भरी हुई थी जिससे बड़ा हादसा होने से बच गया। लहसुन से भरी कट्टीया भीग गयी जिन्हें बाहर निकाला गया।

-पिड़ावा कस्बे सहित ग्रामीण क्षेत्रों में रात १० बजे से ही कभी रिमझिम तो कभी तेज बरसात का दौर जारी है ।

-रायपुर में शुक्रवार रात्रि दस बजे से बारिश का दौर जारी रहा। इस दौरान शनिवार सुबह बस स्टैंड सहित मुख्य बाजार में सन्नाटा छाया रहा। किसानों ने बताया कि अब तक की सबसे ज्यादा बारिश हेरायपुर में हुई। रायपुर में शुक्रवार रात्रि दस बजे से बार भी बारिश का दौर जारी रहा व् रुक रुक कर जोरदार बारिश होती रही जिससे नदी नालो में उफान आ गया। चवली बांध में अबतक 352.30 मीटर का लेवल हुआ बांध की भराव क्षमता 356 . 50 मीटर हे रायपुर में सुबह तक 54 मिमी बारिश मापी गई रायपुर के समीप का नाला आ जाने से रुघनाथपुरा का रास्ता बंद हो गया

-रटलाई क्षेत्र में देर रात से ही तेज बारिश का दौर जारी है जिसके चलते कस्बे के निकट बहने वाली उजाड़ नदी उफान पर है लगातार बारिश से सर्दी का एहसास होने लगा है लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। कस्बे के निकट बहने वाली उजाड़ नदी में रात भर की बारिश के चलते जलस्तर बढऩे लगा है जिसके चलते करीब आधा दर्जन गांव का रास्ता बंद हो गया है। खेरिया निवासी प्रेमचंद तवर ने बताया कि रात से ही झमाझम बारिश के चलते ग्राम पंचायत गरवाडा व खेरिया के आधा दर्जन गांव का रास्ता नदी के उफान पर होने से बंद हो गए हैं ,जिसमें मोतीपुरा,पिपलिया ***** बांस खेड़ी , शिवपुरा पंच पिपलिया, खोली, गरबाडा आदि गांव के रास्ते बंद हो गए। क्षेत्र में इस सीजन की पहली बारिश है जो इतनी तेज हुई है।

-रीछवा कालीसिंध बांध के 4 गेट 4 मीटर तक खोलकर की जा रही पानी की निकासी जारी है।

-खानपुर कस्बे सहित आस पास के क्षेत्र में रात भर हुई बारिश से कई कॉलोनियों में पानी घुसा। कई सरकारी भवन और कार्यलय पानी से घिरे। कोटा खानपुर मार्ग भी बंद। डूंडी और गाडरवाड़ा में खाल की पुलिया में 8 फ़ीट पानी का बहाव होने से खानपुर का सम्पर्क कटा। कालबेलिया बस्ती में पानी भरने से लोग सुरक्षित स्थानों पर जाने को मजबूर। खानपुर में भी रुपली नदी में उफान होने से निचली बस्तियों के मकानों में पानी घुसा।

अकलेरा। क्षेत्र में लगातार बारिश का दौर चल रहा है। कस्बे में रात से ही बारिश हो रही है। कभी हल्की कभी तेज बारिश हो रही है। सुबह भी कुछ देर रुक.रुककर बारिश का दौर चल रहा है। कस्बे में कई बस्तियां में ही करीब डेढ़ से 2 फीट पानी जमा हो गया। इसके कारण क्षेत्रवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय के पीछे स्थित नई बस्ती क्षेत्र में दरगाह के समीप वार्ड 19 के कुछ क्षेत्र में बारिश के दौरान रात से ही करीब डेढ़ फीट पानी भर गया है। लोगों ने बताया कि पानी की निकासी नहीं होने से क्षेत्र में पानी भरता है। अगर बड़ा नाला बन जाए तो पानी की निकासी हो सकती है। यह निचला क्षेत्र होने से एवं रोड ऊपर बने होने से भी यह समस्या बनी हुई है।

छापी के गेट खोले

अकलेरा के समीप छापी बांध में पानी की आवक तेज गति से हो रही है। कनिष्ठ अभियंता प्रमोद नागर ने बताया कि बाद में पानी की आवक होने पर चार गेट खोल कर पानी की निकासी की जा रही है। सुबह 6 बजे दो गेट खोल कर पानी की निकासी की। इसके बाद 7 बजे फिर से दो गेट और खोले गए। बांध के 4 गेटों से दो.दो मीटर पानी की निकासी की जा रही है।


परवन नदी उफान पर

झालावाड़ जिले के अकलेरा क्षेत्र को बारां जिले के हरनावदाशाहजी क्षेत्र को जोडऩे वाले परवन नदी के पुल पर करीब 8 फीट पानी है। इस पुल पर पानी आने के बाद लोग नावों का सहारा लेते हैं। पिछले साल भी यहां नाव डूबने से करीब आधा दर्जन लोगों की मौत हो गई थी।पुर, बकानी में चार तो असनावर में करीब पांच इंच बरसात

नदी-नालों में उफान, कई मार्ग बंद, कई बांधों के गेट खुले

झालावाड़. जिले में शुक्रवार आधी रात से शनिवार तक दोपहर तक बरसात की झड़ी लगी रही। ***** में लगी इस झड़ी के आगे करीब सूखा निकला सावन भी पानी पानी हो गया। सुबह जब लोगों की आंख खुली तो बारिश की झड़ी देखकर दंग रह गए। जहां देखा वहीं पानी नजर आया। बारिश से जिले के सभी नदी नाले उफान पर है। इस दौरान जिले के कई स्थानों पर कच्चे घर गिर गए व नदी नालों में उफान आने से मुख्यालय से गंावों का सम्पर्क कट गया।

जिला मुख्यालय पर भी खंडिय़ा तालाब व नया तालाब छलक पड़े है। तालाब की पाल पर चलती पानी की चादर देखने के लिए शहरवासी बारिश में भी परिवार सहित आनंद लेने पहुंचने लगे है। जिले के विभिन्न स्थानो पर शुक्रवार सुबह आठ बजे से आज शनिवार सुबह आठ बजे तक इस प्रकार बारिश दर्ज की गई। बाढ़ नियंत्रण कक्ष के अनुसार झालावाड़ में ९०, झालरापाटन में 50, असनावर में 112, बकानी में ९१, पिड़ावा में 45, पचपहाड़ में 28 , गंगधार में 22, डग में 35, अकलेरा में 8 3, मनोहर थाना में 50, खानपुर में ९२ और सुनेल में 33 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। जिले के अन्य क्षेत्रो में रटलाई क्षेत्र में लगातार हो रही तेज बारिश के चलते उजाड़ नदी उफान पर रही । इसके चलते भीमसागर बांध में तेजी से पानी की आवक हुई। भीमसागर बांध का जलस्तर भरवा क्षमता के ऊपर पहुँच जाने पर भीमसागर में रात भर में 8 0 एमएम बरसात अभी तक दर्ज हो गई है। संसाधन विभाग से मिली जानकारी अनुसार गंभीरी व उजाड़ दोनो नदियां उफान पर होने से भीमसागर बांध के गेट खुल सकते है। तेज मूसलाधार बरसात का दौर जारी है।

-सोजपुर कस्बे में रात 10 बजे से बारिश का दौर जारी रहा वही सुबह 4 बजे से एक घंटे तक मूसलाधार बारिश से खेत खलिहान लबालब हो गए, नालो में उफान आ गया, खेतो में खड़ी फसले जलमग्न हो गयी सुबह 4 बजे से बिजली गुल है। सारोला स्टेट हाइवे सड़क मार्ग पर सीमलखेड़ी में मुख्य मार्ग पर पानी बह रहा है वहीं भामाशाह हेम कुवर खेल मैदान जलमग्न हो गया। समीपवर्ती गांव देदिया में उप सरपंच कृष्ण मुरारी नागर के कच्चे घर की दीवार गिर पड़ी। हालांकि घर में लहसुन की ही कट्टिया ही भरी हुई थी जिससे बड़ा हादसा होने से बच गया। लहसुन से भरी कट्टीया भीग गयी जिन्हें बाहर निकाला गया।

-पिड़ावा कस्बे सहित ग्रामीण क्षेत्रों में रात १० बजे से ही कभी रिमझिम तो कभी तेज बरसात का दौर जारी है ।

-रायपुर में शुक्रवार रात्रि दस बजे से बारिश का दौर जारी रहा। इस दौरान शनिवार सुबह बस स्टैंड सहित मुख्य बाजार में सन्नाटा छाया रहा। किसानों ने बताया कि अब तक की सबसे ज्यादा बारिश हेरायपुर में हुई। रायपुर में शुक्रवार रात्रि दस बजे से बार भी बारिश का दौर जारी रहा व् रुक रुक कर जोरदार बारिश होती रही जिससे नदी नालो में उफान आ गया। चवली बांध में अबतक 352.30 मीटर का लेवल हुआ बांध की भराव क्षमता 356 . 50 मीटर हे रायपुर में सुबह तक 54 मिमी बारिश मापी गई रायपुर के समीप का नाला आ जाने से रुघनाथपुरा का रास्ता बंद हो गया

-रटलाई क्षेत्र में देर रात से ही तेज बारिश का दौर जारी है जिसके चलते कस्बे के निकट बहने वाली उजाड़ नदी उफान पर है लगातार बारिश से सर्दी का एहसास होने लगा है लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। कस्बे के निकट बहने वाली उजाड़ नदी में रात भर की बारिश के चलते जलस्तर बढऩे लगा है जिसके चलते करीब आधा दर्जन गांव का रास्ता बंद हो गया है। खेरिया निवासी प्रेमचंद तवर ने बताया कि रात से ही झमाझम बारिश के चलते ग्राम पंचायत गरवाडा व खेरिया के आधा दर्जन गांव का रास्ता नदी के उफान पर होने से बंद हो गए हैं ,जिसमें मोतीपुरा,पिपलिया ***** बांस खेड़ी , शिवपुरा पंच पिपलिया, खोली, गरबाडा आदि गांव के रास्ते बंद हो गए। क्षेत्र में इस सीजन की पहली बारिश है जो इतनी तेज हुई है।

-रीछवा कालीसिंध बांध के 4 गेट 4 मीटर तक खोलकर की जा रही पानी की निकासी जारी है।

-खानपुर कस्बे सहित आस पास के क्षेत्र में रात भर हुई बारिश से कई कॉलोनियों में पानी घुसा। कई सरकारी भवन और कार्यलय पानी से घिरे। कोटा खानपुर मार्ग भी बंद। डूंडी और गाडरवाड़ा में खाल की पुलिया में 8 फ़ीट पानी का बहाव होने से खानपुर का सम्पर्क कटा। कालबेलिया बस्ती में पानी भरने से लोग सुरक्षित स्थानों पर जाने को मजबूर। खानपुर में भी रुपली नदी में उफान होने से निचली बस्तियों के मकानों में पानी घुसा।

अकलेरा। क्षेत्र में लगातार बारिश का दौर चल रहा है। कस्बे में रात से ही बारिश हो रही है। कभी हल्की कभी तेज बारिश हो रही है। सुबह भी कुछ देर रुक.रुककर बारिश का दौर चल रहा है। कस्बे में कई बस्तियां में ही करीब डेढ़ से 2 फीट पानी जमा हो गया। इसके कारण क्षेत्रवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय के पीछे स्थित नई बस्ती क्षेत्र में दरगाह के समीप वार्ड 19 के कुछ क्षेत्र में बारिश के दौरान रात से ही करीब डेढ़ फीट पानी भर गया है। लोगों ने बताया कि पानी की निकासी नहीं होने से क्षेत्र में पानी भरता है। अगर बड़ा नाला बन जाए तो पानी की निकासी हो सकती है। यह निचला क्षेत्र होने से एवं रोड ऊपर बने होने से भी यह समस्या बनी हुई है।

छापी के गेट खोले

अकलेरा के समीप छापी बांध में पानी की आवक तेज गति से हो रही है। कनिष्ठ अभियंता प्रमोद नागर ने बताया कि बाद में पानी की आवक होने पर चार गेट खोल कर पानी की निकासी की जा रही है। सुबह 6 बजे दो गेट खोल कर पानी की निकासी की। इसके बाद 7 बजे फिर से दो गेट और खोले गए। बांध के 4 गेटों से दो.दो मीटर पानी की निकासी की जा रही है।


परवन नदी उफान पर

झालावाड़ जिले के अकलेरा क्षेत्र को बारां जिले के हरनावदाशाहजी क्षेत्र को जोडऩे वाले परवन नदी के पुल पर करीब 8 फीट पानी है। इस पुल पर पानी आने के बाद लोग नावों का सहारा लेते हैं। पिछले साल भी यहां नाव डूबने से करीब आधा दर्जन लोगों की मौत हो गई थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned